/ / वासना की प्यासी नादिया भाभी
Bhabhi Sex Story Desi Sex Story Family Sex Story Hindi Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

वासना की प्यासी नादिया भाभी

दरवाज़ा खुलते ही मैं भाभी को देखता रह गया। भाभी में शॉर्ट्स और टॉप पहना था। टॉप पारदर्शी थी रेड कलर का जिसमें से भाभी को चूचे साफ़ दिख रहे थे क्यूँ की उन्होंने ब्रा नहीं पहनी थी। दिल कर रहा था अभी पकड़ के चोद दु पर ऐसा करना ठीक ना होता सेक्स का मज़ा जो आराम से करने में है वो ज़बरदस्ती में नहीं।

हेलो दोस्तों सबसे पहले मैं आओं परिचय दे दु मेरा नाम है समीर, बहराइच शहर का रहने वाला हूँ ५.११ फ़ीट लम्बा  बाल काफ़ी लम्बे अपने दोस्तों में सबसे स्मार्ट माना जाना सेक्स मेरी कमज़ोरी है किसी भी लड़की को देखता हूँ तो अपने पर कंट्रोल नहीं कर पाता और मौक़ा मिलते ही मूठ मार देता हूँ। 

अब आता हूँ Bhabhi Sex Kahani पर मैं अपने दोस्त की शादी में ना जा सका किसी काम के सिलसिले में और उसी के बाद मे अपने काम में ऐसा फँसा  की क़रीब ५ साल तक दोस्तों यारी सब भूल गया।  और जब मैं काम से फ़्री हुआ तो १ दिन मोनिश से यही मार्केट में मुलाक़ात हुई उसके साथ उसकी बीवी भी थी।

हम दोनो दोस्त अपनी बातो में मस्त हो गया इतने में मेरी नज़र मोनिश की बीवी पर पड़ी क्या मस्त माल थी ३६ के चूचे और गाँड ३८ के क़रीब  मैंने सलाम की और सारी बोलते हुए बोला भाभी मैंने आप पर ध्यान ना दिया और हम दोस्त पूरी यादों में मस्त हो गया माफ़ी चाहता हूँ।

रज्जो ने जवाब दिया आपने मुझपे ध्यान ना दिया कोई बात नहीं पर आप शादी में भी नहीं आए मोनिश हमेशा आपकी बातें करते रहते थे मैं भी आपसे मिलने को परेशान थी हाथ को दाबते हुआ बोली माई समझ गया चालू माल है !!!!!

मैंने बात को टालते हुए कहा भाभी यहीं बाटे होंगी या कभी घर भी बुलाएँगी हस्ते हुआ!! 

ख़ैर यहाँ पर हमारी बात ख़त्म हुआ और भाभी ने कहा – आपका घर है जब चाहे आ जाए मोनिश तो रात को २ के बाद ही आते है आपनी जब मर्ज़ी आ जाइए 

माई इशारा समझ गया और मैं वहाँ से निकलते हुआ बोला भाभी मिलते है जल्दी ही आपसे, 

और मैं वहाँ से निकल गया !!!!

इस बात को अब दो दिन हो गया मैं घर पर आराम कर रहा था १ मैसज आया व्हटसप पर अनजान नम्बर से क्या कर रहे हो मेरिजान अक्सर दोस्त मैसज से मुझे परेशान करते रहते मैंने ध्यान ना दिया और सो गया। 

सुबह जब उठा तो देखा काफ़ी मैसज और मिस्ड कॉल थी नए नम्बर से मैंने कॉल की तो उधर से १ सुरीली आवाज़ आइ हेल्लो मिस्टर समीर गुड मोर्निंग कैसी कटी आपकी रात! 

मैंने भी ना कुछ सोचा समझा सीधा बोल दिया भाभी के साथ सपने में गुटर्गु करता रह और  तभी ज़ोर ज़ोर की हंसी के साढ़, 

भाभी ने कहा – मैं नादिया भाभी बोल रही हूँ 

मैंने कहा – जी मुझे पता है truecaller पर अपना नाम लिखा हुआ है आप बताए कैसे याद किया 

तो बोली – रात को काफ़ी काल किया आपने फ़ोन नहीं उठाया नाराज़ है क्या

मैंने कहाँ – आपसे नाराज़ होकर जाऊँगा कहाँ आपण तो आपके ही पास है 

हस्ते हुए कहने लागी – काफ़ी experiance है आपको बात करने का लगता है काफ़ी गर्लफ़्रेंड है 

मैं बोला – गर्ल्फ़्रेंड तो नहीं भाभियाँ है काफ़ी!!

नादिया बात को क़ाट्टे हुए क्या आप मेरे घर आ सकते तो अभी 

मैंने कहा – कोई ज़रूरी काम है क्या तो अभी आ जाऊँ 

उधर से जवाब आया – कल से मोनिश है नहीं मैं अकेले बोर हो रही हुई 

मैं खुश होते हुए – भाभी अभी तो सुबह हुई है रात को आता हूँ और फ़ोन कट कर दिया! 

अब रात का मुझे और भाभी को बेसब्री से इंतेज़ार था कैसे रात हो और मैं कैसे भाभी को चोदू रात होते ही मैंने मेडिकल से कंडोम के २ पैकेट लिया और चला भाभी के घर।

घर पहुँचते ही डोर बेल बजाई!! 

दरवाज़ा खुलते ही मैं भाभी को देखता रह गया। भाभी में शॉर्ट्स और टॉप पहना था। टॉप पारदर्शी थी रेड कलर का जिसमें से भाभी को चूचे साफ़ दिख रहे थे क्यूँ की उन्होंने ब्रा नहीं पहनी थी। 

दिल कर रहा था अभी पकड़ के चोद दु पर ऐसा करना ठीक ना होता सेक्स का मज़ा जो आराम से करने में है वो ज़बरदस्ती में नहीं। 

मेरा मुँह खुला का खुला रहा 

भाभी ने कहा – अंदर आओ 

रूम में जाते ही मैंने अपनी पैंट थी कि क्यूँ के मेरा लण्ड खड़ा था और भाभी ने बैठने को कहा और बोला – क्या लोगे चाय कॉफ़ी!

मैंने कहा – भाभी आप जो देंगी ले लूँगा दूध मिल जाए तो और अच्छा है 

भाभी मुस्कुराते हुआ  ठीक है मैं लाती हूँ और किचन जाने के लिए मुड़ी ही थी मैंने हाथ बढ़ा के भाभी को अपनी ओर खिचा और बेड पर हम दोनो गिर गए!

भाभी ने कहा – अरे ये क्या कर रहे हो??! 

मैंने कहा – भाभी मैं तो दूध ताज़ा पीता हूँ 

और मैंने भाभी का टॉप तेज़ी से खींच ने अलसकी डोरी तोड़ दी और चूचो पर टूट पड़ा ३६ साइज़ की चूची मेरे हाथों में नहीं आ रही थी। मैंने क़रीब १० मिनट चूचे चूसे और लाल कर दिया और किस करना चालू हुआ। 

किस करते करते और पूरे बदन पर किस करता रहा भाभी आपे से बाहर हो रही थी। वो बिलकुल एक अन्तर्वासना सेक्सी भाभी थी जैसी में antarvasna sex kahani में पढ़ता था उनका बदन खुसभु दे रहा था जो मुझे और उत्तेजित कर रहा था। किस करते करते मैं नीचे उनकी चूत पर आया भाभी की चूत ढकी हुई थी। 

शॉर्ट्स से मैंने झटके से उतारा और चूत के अंदर अपनी ज़ुबान डाल कर चूसता रहा भाभी का जबतक पानी ना निकला। 

कलसके बाद हम ६९ पोज़िशन से आ गया भाभी ने केरे लण्ड को बहुत प्यार से चूसा और पूरा खड़ा कर दिया पूरा गले तक के रही थी। 

मैंने कहा – भाभी और चूसो!! 

अब भाभी से रहा ना गया और बोली – समीर मैं बहुत प्यासी हूँ मेरी चूत की प्यास मिटा दो मोनिश के साथ कभी ऐसा मज़ा ना आया, वो तो आता है और २ मिनट में झड़ के सो जाता, आज तक मुझे ऐसा सुख ना मिला!  

मैंने कहा – भाभी अभी तो ये शुरुआत है अगर आपको मज़ा ना आया तो मेरा नाम भी समीर नहीं! 

और मैंने भाभी को अपनी तरफ़ खिचा और लण्ड पर कंडोम लगते हुए लण्ड को भाभी की मखमली चूत पर सेट किस और १ ज़ोर का धक्का मारा। लण्ड भाभी की चूत में डाल दिया भाभी की चीख निकल गई भाभी की आँख से आँसू निकल आया, 

और वो चिल्लाने लगी – समीर मेरी चूत फट गई है प्लीज़ निकलो !!!!!!

लेकिन मैंने भाभी की १ ना सुनी और दोबारा झटका मार के लण्ड को पूरा अंदर तक डाल दिया और थोड़ी देर रुक गया। 

जब भाभी के चेहरे पर थोड़ा बदलाओ आया और वो गाँड थोड़ा थोड़ा हिलाने लगी। तो मैं समझ गया भाभी को मज़ा आने लगा और अब मैं भाभी को और तेज़ी से चोदना चालू किया भाभी बार बार कह रही थी  समीर और तेज चोदो और तेज कहते हुए अपने सर को ईथर से उधर पटक रही थी। 

और ये चुदाई की सिलसिला क़रीब १ घंटा चला उसके बाद हम सो गए!

उस रात हमने ४ बार सेक्स किया और ये सिलसिया अभी तक चल रहा और आगे बताऊँगा की भाभी की बहन की सील पैक चूत को कैसे चोदा वायऐग्रा खिला के उम्मीद है मेरी पहली सच्ची सेक्स कहानी आप लोगों को ज़रूर पसंद आएगी।

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
7.7k
+1
2.3k
+1
2.2k
+1
3.4k
+1
3
+1
235

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *