/ / माँ का निकाह और हलाला
Bhai Behan Sex Story Couple Sex Story Desi Sex Story Family Sex Story Hindi Sex Story Maa Beta Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

माँ का निकाह और हलाला

आमिर असलम ओर नावेद की चुदाई से मम्मी का पूरा बदन दर्द कर रहा था मगर फिर भी मम्मी इस चुदाई से बहुत ही खुश थी। ये सिलसिला 7 दिनो तक चलना था मगर असलम ओर नावेद से चुदाई तीन दिन ओर करवाने की प्लानिंग करनी शुरू कर दी थी। क्योकी दूसरे दिन की चुदाई के बाद असलम ओर नावेद ने आमिर ओर मम्मी को निगाह करके हलाला करवाने का प्लान बताया।

पिछला भाग – चार मुस्लिम लंडो के बीच मम्मी चुदी 

तो मम्मी भी इसके लिए तैयार हो गयी मगर इसके लिए मम्मी की सुहागरात तलाक ओर हलाला के लिए कम से कम दो दिन ओर तीन रात चाहिए। जो मुमकिन नही लग रहा था मगर मम्मी के शैतानी दिमाग ओर चुत की चुदास ने ठान लिया था। 

ये सब करने का आप भी जानते है दोस्तो ओरत जो चाहै वो कर सकती है मगर मम्मी को कोई रास्ता नही मिल रहा था। इसी बीच दो दिन ओर निकल गये ओर सोचते सोचते मम्मी को एक रास्ता तो मिल गया ओर उसके लिए मम्मी प्लानिंग करने लगी। 

पांचवे दिन की चुदाई के बाद मम्मी घर आने के बाद मम्मी ने पापा की पसंद का खाना बनाया ओर नहाकर लाल लिपस्टिक ओर सुट पहनकर तैयार होकर उनका इंतजार करने लगी पापा के आने के बाद हमे खाना खिलाकर सुला दिया ओर पापा के नहाकर आने के बाद उनके साथ खाना खाकर दूध लेकर कमरे मै पहुंच गयी। 

ओर बाते करने ओर कहने लगी क्या मै इतनी बुरी हू या मेरी शक्ल इतनी गंदी है जो आप देखते ही नही तो पापा हंसने लगे पापा ने मम्मी का हाथ पकडकर अपने ऊपर खीच लिया ओर चुमने लगे मम्मी ने पापा के कपडे खोले ओर अपने कपडे खोलकर उनके नीचे लेट गयी। 

पापा के उपर चढते ही मम्मी जोर से चिल्लाने लगी कहा आराम से मेरी जान निकाल दी या तो करते नही करते हो तो मेरी जान ही निकाल देते हो पापा ये सुनकर जोश मै आ गये मगर मम्मी को क्या घंटा फर्क पड रहा था वो तो बस नाटक कर रही थी। दस मिनट की चुदाई के बाद पापा मम्मी के साथ झड गयी ओर कपडे पहनकर उनसे लिपटकर बात करने लगी ओर कहने लगी दो दिन बाद कथा समाप्त होने के बाद यहा से बस जाएगी। 

मथुरा तीन दिन के लिए फ्री मे महाराज जी के साथ आप कहो तो मे भी घुम आऊ 

तो पापा ने कहा – कल बताता हू तो 

मम्मी ने कहा – कल नाम लिखवाना है अगर नही भेजना तो मना कर दो गुस्से मे आकर ये बात कही 

तो पापा ने कहा – चलो ठीक है चले जाना कोई बात नही है 

मम्मी की प्लानिंग कामयाब हो गयी अब मम्मी निगाह ओर हलाला करवाने को लेकर बहुत खुश थी सुबह उठकर मम्मी नहाकर हिरोइन बनकर अपने आशिक आमिर के घर पहुंच गयी ओर आमिर, असलम, ओर नावेद से जमकर चुदाई करवाई। 

चुदाई करवाने के बाद मम्मी आमिर के साथ नंगी लेटी लेटी कहने लगी आमिर कल कल ही आ पाऊगी उसके बाद तो मे फिर वही दो घंटे आ पाऊगी तो आमिर असलम नावेद के चेहरे लटक गये ओर कमरे मे चुप्पी छा गयी, 

तभी असलम ने आमिर से कहा – आपकी बेगम ने तो धोका दे दिया ना दो दिन की बात ओर थी। फिर तो हमे जाना ही था कल तो इद है ओर ये हमे ये तोहफा दिया भाभीजान ने 

तो मम्मी हंसने लगी ओर कहने लगी – मै तीन दिन आपके साथ ही रहूगी अब तो खुश हो 

ये सुनकर सब चेहरे चमक उठे ओर नावेद ने कहा – भाभीजान अब तो आप देखना हम इतना शानदार निगाह करेगे आपका आप याद रखोगी हमेशा 

तभी असलम ने कहा – सिर्फ निकाह ही नही हलाला भी याद रहेगा आपको हमेशा 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – चलो करो तैयारी शुरू मै भी देखू आप निकाह कितनी धूमधाम से करेगे 

ये सुनकर आमिर ने कहा – जरूर बेगम ओर मम्मी अब कपडे पहनकर नीचे आने लगी 

तो आमिर भी नीचे आ गया साथ मै ओर मम्मी से कहा रेखा तुम्हे कोई परेशानी ना हो जाए मै तुम्हे कीसी मुसीबत मै नही गिराना चाहता हू! 

तो मम्मी ने कहा – मेरे पती को पैसै ओर दुकान के अलावा कुछ नही सुझता है तुम चिता ना करो 

तो आमिर ने कहा – रेखा शोकत भाईजान को भी कह देना अगर तुम्हे अच्छा लगे 

तो मम्मी ने कहा – मेरी जान शोकत भाईजान ही क्यो कोई ओर दोस्त है तो उन्हे भी बुला लो तुम्हारी बेगम सबको खुश कर देगी तुम्हारे लिए तो 

ये सुनकर आमिर ने कहा – मेरी बेगम को मुझे रंडी नही बनाना है ओर हंसने लगा!! 

मम्मी ने कहा – चलो कल मिलते है 

मम्मी अगले दिन ईद की बधाई देने के लिए मिठाई ओर फल भी लेकर चली गयी साथ मै ओर तीनो से जमकर चुदाई करवाकर घर आकर शोकत भाईजान को फोन मिलाती है। 

शोकत की आवाज सुनते ही मम्मी ने कहा – आप तो अपनी बहन के भूल ही गये भाईजान 

ये सुनते ही शोकत ने कहा – ऐसा कहकर अपने प्यारे भाईजान को शर्मिंदा ना करो 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – शोकत भाईजान आप से कुछ कहना है मना मत करना 

तो शोकत ने कहा – बताओ क्या कहना है 

तो मम्मी ने कहा – भाईजान आप कहते थे ना पूरा दिन ओर रात रूको तो मै आऊगा अच्छे से तो कल से तीन दिन आपकी बहन आपके साथ रहेगी आप सुबह जल्दी ही आ जाना तीन दिन के कपडे डालकर मे कल निकाह करवाने जा रही हू आमिर से ओर सारा प्लान बताया। 

आप कल सुबह आते समय एक ब्युटी पार्लर वाली को ले लाना अपनी बहन को दुल्हन बनाने के लिए! 

ये सुनकर शोकत ने कहा – तुम चिता ना करो बहन मै सुबह ले आऊगा बस समय बताओ। तो मम्मी ने 9 बजे का समय दे दिया ओर शाम को मम्मी ब्यूटी पार्लर चली गयी ओर फेशियल आई ब्रो करवाकर आई ओर घर आकर अपनी चुत को चिकना कीया। 

रात को सोते समय पापा को कहा – कल सुबह नो बजे जाऊगी शशी कॉलेज जाएगी तो मै उसी के साथ निकल लूगी। 

ये सुनकर पापा ने कहा – ठीक है 

ओर मम्मी को हाथ खर्च के लिए हजार रूपये दे दिये मम्मी ने एक बेग मै अपने कपडे डाल लिये जिसमे नीचे मम्मी ब्युटी पार्लर से किराये पर लाई लहंगा चोली भी डाल लिया सुबह​ उठकर मम्मी लाल साडी पहनकर तैयार हो गयी ओर शशी की वैन का इंतजार करने लगी। वैन आते ही शशी को चाबी देकर मम्मी पैदल निकल गयी मम्मी आमिर के घर पहुंची तो घर लोक था मम्मी ने दरवाजा बजाया तो असलम ने आकर दरवाजा खोला ओर मम्मी को बाहर के कमरे मे ही रूकने को कहा। 

तो मम्मी ने कहा – क्या बात है तो कहने लगा आपके शौहर तैयार हो रहै है उपर 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – अच्छा तो असलम ने मम्मी की चुचियो को दबाकर कहा सच्ची भाभीजान ओर हंसने लगा 

तब मम्मी ने कहा – ये बात है तो मुझे भी तैयार होना होगा फिर तो मगर मै अकेले कैसे दुल्हन बन सकती हू मुझे तैयार करने के लिए तो ब्यूटी पार्लर वाली बुलानी होगी ये काम तो आप ही करो वर्ना आपकी भाभीजान का निकाह फीका हो जाएगा। 

ये सुनकर असलम ने कहा – हम तो यहा अजनबी है 

तो मम्मी ने कहा – आमिर को कहो शोकत भाईजान को कहे ये काम वो ही कर सकते है कहो उनकी बहन को दुल्हन बनाना है ये सुनते ही असलम ऊपर जाने लगा तो दरवाजा बजने की आवाज आई जिसे सुनकर असलम दरवाजा खोलने बाहर गया। तो शोकत भाई एक हिजाब पहनी लडकी के साथ दरवाजे के बाहर खडे थे। 

असलम ने कहा – मै आपको ही फोन करने जा रहा था 

तो शोकत ने कहा – मै तो हाजिर हू मेरि बहन आ गयी क्या 

ये सुनकर असलम ने कहा – आपका ही इंतजार कर रही है ये मोहतरमा कोन है 

ये सुनकर शोकत ने कहा – ये ही मेरी बहन को दुल्हन बनाएगी असलम ने 

ये सुनकर कहा – तो बाहर ही दुल्हन बनाएगी क्या अंदर आकर जल्दी से भाभीजान को तैयार करो ना ये सुनते ही दोनो अंदर आ गये ओर असलम ने दरवाजा लोक कर दिया। 

तभी शोकत असलम ओर उनके साथ आई महिला जिनका नाम सबीना था कमरे मे आ गये ओर मम्मी शोकत को देखकर खडी हो गयी ओर उन्हे कसकर गले लगा लिया। भाईजान आपकी बहन का निकाह है ओर आप गायब हो गये कहने! 

तो शोकत ने मम्मी को चुमकर कहा – मेरि बहन को दुल्हन बनाने की तैयारी कर रहा था 

मम्मी ने कहा – भाईजान आपके कपडे 

तो शोकत ने कहा – सबीना को छोड़कर आऊगा तब बैग लेकर आ जाऊगा तुम चिंता मत करो अभी तुम तैयार हो जाओ, ये सबीना मेरी मामा की लडकी है तुम दोनो ही बहन हो सबीना अपनी बडी बहन को अच्छे से दुल्हन बना दो। 

तो सबीना ने कहा – भाईजान बहन तो यू ही दुल्हन सी लग रही है 

तो शोकत ने कहा – यूही नही असली की दुल्हन बना दो मेरी बहन को तो सबीना ने कहा हमे एक कमरे मै अकेला छोड दो दो घंटे आपके बहन को ऐसा तैयार करूगी देखकर लगेगा की दुल्हन पहली बार ही बनी है! 

ये सुनकर शोकत ने कहा – असलम इन्हे ऊपर ले जाओ तो असलम ने नीचे वाले दूसरे कमरे मे ही तैयार होना होगा ऊपर एक कमरा आपकी बहन ओर उनके शौहर के लिए है तो दूसरे मे निकाह के लिए सजावट की गयी है! आप जाकर ऊपर कोई कमी है तो देख लो तभी सबीना ओर मम्मी दूसरे कमरे मे चली गयी! 

अपनी बेग लेकर सबीना ने कमरे मे जाते ही मम्मी को साडी खोलने को कहा – ओर पूछा आप क्या पहनेंगी अब मम्मी ने अपनी बेग से लाल घाघरा चोली निकालकर दे दिया। 

तो सबीना ने पूछा – आप हिन्दु है 

तो मम्मी ने कहा – हा 

तो सबीना ने मौलवी साहब से कहा – पेच लिए आपके मम्मी ने बताया की उनकी मुलाकात शोकत भाईजान ने करवाई

तो सबीना ने कहा – शोकत भाईजान तो बहुत नेक इंसान है मेरी खुब जचती है सबीना ने अपना हिजाब खोल दिया था। तब तक सबीना भी बहुत गजब का माल था बडी बडी चुची ओर मोटी गांड के साथ ये पेट भी पूरा आया हुआ था। 

सबीना ने फिर मम्मी से उनका नाम पूछा मम्मी ने सबीना को अपना नाम रेखा बताया तो सबीना ने पूछा आपका तलाक कब हुआ अपने पति से क्या आप भागकर निकाह कर रही है। तो मम्मी चुप हो गयी एकबार के लिए फिर मम्मी ने सबीना को गर्दन हिलाकर हा कहा! 

तो सबीना ने कहा – आप रहती कहा है यहा ओर आपने इस्लाम कबुल कर लिया 

तो मम्मी ने कहा – निकाह के बाद मै क्या बन जाऊगी मुस्लिम ही बनूगी ना 

तो सबीना ने कहा – ये भी है बाकी रीती रिवाज मौलवी साहब सिखा ही देगे 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – रिती रिवाज भी सिख लूगी सबीना अब तो तैयार कर दो बस 

\सबीना ने कहा – बहुत जल्दी हो रही है ओर हंसने लगी लगता है आपके पति ने आपकी सेवा नही की सही से। 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – अब वाले तो कर देगे ना 

तो सबीना बोली – शोकत भाईजान भी कर देगे अब 

तो तभी मम्मी ने कहा – लगता है शोकत भाईजान से तुमने सेवा करवा ली है 

ये सुनकर सबीना ने कहा – आप भी करवाकर देखो बहुत मजा आएगा शोकत भाईजान की बात ही अलग है बेचारी सबीना को कहा पता था ये एकसाथ पांच पांच लंड खा चुकी है ओर दस एकसाथ खाने को तैयार रहती है 

मम्मी ने कहा – चलो कभी सोचेगे मगर पति के रहते ये ठीक नही है 

तो सबीना बोली – जब फुदी मै खुजली चलेगी तो ठीक गलत भूल जाओगी 

मम्मी ने कहा – लगता है तुमने भी बहुत लंड खाए है अबतक 

ये सुनकर सबीना बोली – चुत लंड नही खाएगी तो क्या बेगन खाएगी बहन ओर हसने लगी, तभी सबीना ने मम्मी को पेटीकोट ओर ब्लाउज खोलने को कहा मम्मी ने नाडा खींचकर पेटिकोट खोल दिया ओर ब्लाउज खोलकर सबीना के सामने लाल रंग की नयी ब्रा पेटी मै खडी हो गयी। 

मम्मी के पेरो पर बाल तो कभी थे ही नही तो सबीना ने पूछा बहन वैक्स कब करवाई तो मम्मी ने कहा जन्म के समय ही 

ये सुनकर सबीना ने कहा – चलो फिर अपनी चुत ओर चुची भी दिखा दो बहन 

ये सुनते ही मम्मी ने ब्रा ओर पेटी भी खोल दी मम्मी बिलकुल नंगी खडी थी तभी सबीना ने मम्मी को घुमाया ओर उनकी गांड को कसकर दबा दिया। जिससे मम्मी की आह निकल गयी मम्मी को उसने कुर्सी पर बैठा दिया ओर टांगे फैलाकर मम्मी की चुत को देखने लगी। 

नीचे बैठकर मम्मी की गुलाबी चुत देखकर सबीना ने कहा – लगता है तेरा पति गांडू या नार्मद था साली तु तो सीलबंद ही पडी है बिलकुल मौलवी साहब तेरी आज गांड ओर चुत फाड देगे 

तो मम्मी ने कहा – मौलवी साहब का भी ले लिया क्या तुमने 

ये सुनकर सबीना ने कहा – एकबार चुदी थी ऐसी चुदाई फिर नसीब नही हुई 

तो मम्मी ने कहा – मेरी जगह तुम दुल्हन बनकर रात को यही रूक जाओ ओर हंसने लगी 

सबीना ने कहा – बहन तेरे जैसा माल मिलने के बाद हमे तो मौलवी साहब देखेंगे भी नही 

सबीना ने पूछा – कितने साल हो गये शादी को अगर पहले मिलती तो मेरे सगे भाई से चुदवाकर तुझे भाभी बना लेती अपनी 

मम्मी ने कहा – भाई को कोई मिली नही क्या 

तो कहने लगी – वो कुंवारा है मगर तेरे जैसी कोई मिले तो क्या दिक्कत है वाकई बहन तेरा जिस्म कमाल का है तेरी गांड ओर चुचीयो का कहना ही क्या मेरे को मिलती तू पहले तो पूरे मोहल्ले से चुदवाती। तुझे तेरी गांड ओर चुत मे लंड ही लंड रहता कसम से ओर हसने लगी! 

तभी मम्मी ने कहा – बहन अब काम भी कर ले 

तो सबीना ने कहा – तुम अपनी लाई ड्रेस पहन लो ये चड्डी चोली पहनकर ओर हस दी मम्मी ने ब्रा पेटी पहन कर लाल घाघरा चोली पहन लिया ओर सबीना मम्मी को सजाने लगी। करीब एक घंटे मे उसने मेकअप कर के मम्मी को दुल्हन बना मम्मी को देखकर कोई भी नही कह सकता था की दो जवान बच्चो की मा है मम्मी को तैयार करने के बाद 

सबीना ने बाहर जाकर शोकत को कहा – मामा आपकी बहन को दुल्हन बना दिया है अब मुझे छोडकर आ जाओ

 तो शोकत ने उसे अपना समान लाने को कहा – सबीना बेग मै समान डालकर जाने लगी 

तो मम्मी ने कहा – अपनी बहन को अकेला छोड़कर जा रही हो 

ये सुनकर सबीना ने कहा – चलो मै मामा जी को कहकर आती हू 

तो मम्मी ने कहा – शोकत भाईजान को अंदर ही बुला लो मै कह देती हू सबीना शोकत को अंदर बुला लाई 

तो मम्मी को देखते ही शोकत की आखे खुली ही रह गयी ओर कहने लगा – बहन तुम तो आज हिरोइन लग रही हो क्या तारीफ करू मै तुम्हारी मन कर रहा है!! 

ये सुनकर सबीना ने कहा – मामा कही पेलने का मन तो नही कर रहा है 

तभी शोकत ने कहा – सबीना मन तो पेलने का ही कर रहा है मगर क्या करू 

तो मम्मी बोली – सबीना की चुत भी मचल रही है इसे ही पेल दो ना 

ये सुनकर शोकत ने कहा – ये भी ठीक कहा बहन निकाह मे अभी दो घंटे ओर पडे है पहले मै कुछ नाश्ता लेकर आता हू फिर सबीना को पेलूगा 

ये कहकर शोकत बाहर चला गया सबीना ने कहा बहन तुम तो बहुत तेज हो मै तुम्हारी चुत का काम सेट करवाने चली थी ओर तुमने मेरी चुत का ही प्रोग्राम सेट कर दिया। 

तभी मम्मी ने कहा – मेरे बारे मे तुम जानती नही हो ना शोकत भाईजान से पूछना वो बता देगे ये सुनकर सबीना की बोलती बंद हो गयी! तभी शोकत नाश्ता लेकर अंदर आ गया ओर तीनो नाश्ता करने लगे शोकत ने अपने हाथ से पहले मम्मी को मिठाई खिलाई तो फिर सबीना को सबीना ने कहा मामू अपनी भान्जी को छोड़कर इस छिनाल की सेवा कर रहै हो 

तो शोकत बोला – सबीना ये रंडी तुझसे भी तगडी है क्या करू इसकी चुत ओर गांड मारने के बाद मे तो मै इसका गुलाम बन गया हू 

तो सबीना बोली – मामू मेने भी तो बहुत चुदाई करवाई है आपसे 

ये सुनकर शोकत बोला – सबीना तूने तो पूरे मोहल्ले को खुश कीया है मगर ये रंडी अलग है इसकी चुत ओर गांड बेमिसाल है साली की चुत ओर गांड इतने लंड खाकर भी अभी कुंवारी लोडिया की सी है 

ये सुनकर सबीना बोली ऐसी बात है तो एक बार मुश्ताक के साथ सुला दो इस रंडी की चुत ओर गांड ऐसी फाड़ेगा ये भूल नही पाएगी। 

ये सुनकर शोकत ने कहा – बात तो सही है मगर वो हवशी है उसे क्या मालूम रंडी रंडी मै भी फर्क होता है सबीना 

ये सुनकर सबीना बोली – मामू आपको पता है उसके लंड जैसा कोई लंड नही है पूरे 9 इच का मेरी चुत मे तो मै ले ही नही पाई ओर आपकी ये प्यारी रंडी भी नही ले पाएगी। अगर ये मुश्ताक का लंड पूरा चुत मै ले लेगी तो मै मान जाऊगी ये रंडी मुझसे बडी है। 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – भाईजान इस कुतिया को पकडकर पेल दो बहुत खुजली चल रही है इसकी चुत मै 

ये सुनते ही शोकत ने कहा – अभी लो बहन ओर शोकत ने सबीना को पकड लिया ओर उसकी चुचियो को दबाने लगा सबीना भी गर्म हो चुकी थी। पहले ही उसने शोकत के लंड को पजामे के ऊपर से ही पकड लिया ओर दबाने लगी। 

शोकत ने सबीना का कुर्ता खोल दिया ओर उसकी ब्रा खोलकर उसकी चुचियो को आजाद कर दिया सबीना की 38 की चुचियो को शोकत जोर से दबाने लगा। जिससे सबीना हाय मामू कहकर आहे भरने लगी तभी शोकत ने सबीना की सलवार का नाडा खोल दिया ओर सबीना ने अपनी कच्छी खोलकर मम्मी की ओर फेक दी। मम्मी ने कच्छी को देखा तो वो सबीना के रस से भरी हुई मिली जिसे देखकर मम्मी ने नजरे बचाकर चाट लिया। 

उधर अब सबीना ने शोकत के सारे कपडे खोल दिये ओर नीचे बैठकर उसके लंड को चुसने लगी ये देखकर मम्मी की चुत से भी नमकीन Antarvasna रस निकलने, तभी शोकत ने सबीना को फर्श पर कुतिया बना लिया ओर उसकी चुत मै लंड को पेल दिया शोकत का मूसल लंड अब सबीना की चीखे निकालने लगा। शोकत की चुदाई देखकर मम्मी की चुत मचलने लगी मगर मम्मी का मेकअप खराब ना हो जाए। 

इसलिए वो बैठी रही ओर अपने हाथ से अपने दूध को सहलाने लगी शोकत भी मम्मी को लगातर घुरे जा रहा था सबीना को तो चोद रहा था। शोकत मगर मन मम्मी की तरफ ही था ये बात सबीना भी समझ रही थी सबीना भी अब गांड उठाकर चुदाई करवा रही थी। सबीना मम्मी को चुदते हुए देखना चाहती थी इसलिए वो जोर से जोर चिल्लाह कर मम्मी की चुदास भडका रही थी। 

दस मिनट की चुदाई के बाद सबीना ने शोकत को कहा मामू अब जरा गांड मै भी डाल दो ना तो शोकत ने चुत से लंड निकालकर सबीना की गांड मै पेल दिया ओर सबीना मजे लेकर गांड मरवाने लगी 

तभी शोकत ने मम्मी को कहा – बहन ले लो क्यो तडप रही हो मेकअप ये कर देगी दुबारा 

ये सुनकर सबीना ने कहा – आ जा रंडी क्यो अपनी जवानी खराब कर रही है चुदाई करवाकर मजे लुट ले अगर इनसे मजा ना मिले तो मुश्ताक को तेरे ऊपर चढ़ाकर तेरी सारी गर्मी उतारवा दूगी, तू भी क्या याद करेगी कोई लंड मिला था! 

मम्मी बोली – मुश्ताक जैसे दो ले आएगी तो भी मेरी गर्मी ना निकलेगी तू चुपचाप चुद ले रंडी मेरी चिंता मत कर ओर हसने लगी। 

ये सुनकर सबीना ने कहा – रहने दे मुश्ताक का लंड तो मै भी ना झैल पाई तेरी क्या ओकात है तेरी तो चुत ओर गांड दोनो ही ताजा पडी है एकबार चुदकर तो देख ताकी चुदाई क्या होती है। तुझे पता तो लगे रंडी मम्मी भी जोश मे आकर बोल पडी ठीक है अब तो तेरे मुश्ताक को भी जरूर मिलूगी देखती हू… 

कितना दम है तेरे मुश्ताक के लंड मे सुनकर सबीना ने कहा – दम तो तेरा सारा निकाल देगा मुश्ताक बस तू एकबार उसके नीचे लेट जाना तुम तो चुदाई करवाना ही छोड दोगी, तेरे जैसी बहुत सी रंडीयो की उसने गांड ओर चुत फाडकर रख दी है तु तो है ही क्या शोकत भाई 

ये सुनकर सबीना की गांड को बेरहमी से चोदने लगे जिससे सबीना की चुत का फव्वरा दूसरी बार फट पटा सबीना की मोटी गांड की दमदार चुदाई हो रही थी… इधर मम्मी की चुदास इतनी ज्यादा हो चुकी थी की वो ओर सहन नही कर पाई ओर खडी होकर अपना घाघरा खोल दिया ओर शोकत को कहा भाईजान अब मेरी चुत मै लंड डाल दो पहले मै नही रह पाऊगी। 

ओर ये सुनकर शोकत ने मम्मी को चारपाई पर पेट के बल झुकाकर मम्मी की चुत मे अपना लंड उतार दिया मम्मी की चिकनी चुत मै लंड दो झटको मै समा गया ओर मम्मी ने गांड हिलाकर शोकत को जोर लगाकर चुदाई करने को कहा सबीना। 

ये देखकर हैरान हो गयी की मम्मी की चुत मे इतना मोटा लंड घुसने से उसे कोई फक्र नही पडा सबीना ने ये देखकर मम्मी को कहा लगता है मुश्ताक को टक्कर देने वाला माल मिल ही गया आज रंडी तो बहुत देगी मगर तेरे जैसी गर्म रंडी ना देखी। 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – तू दो मुश्ताक ले आना एकसाथ मै भी देख लूगी किसमे कितना दम है 

ये सुनकर सबीना ने कहा – रंडी तेरे लिए सही मै दो मुश्ताक भी कम रहेगे 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – सबीना लगता है मुश्ताक ने तेरी गांड ओर चुत अच्छे से फाडी है 

ये सुनकर सबीना कहा – सही कहा उसकी चुदाई से मै बेहोश भी हो गयी थी मगर वो कुता रूका नही 

ये सुनकर मम्मी बोली – तू केसै उसके नीचे लेट गयी ये भी बता दे ये सुनकर शोकत बोल पडा चुदाई के लिए ये कुते के नीचे भी लेट जाए इसको बस लंड से मतलब है बहन ये बहुत बडी छिनाल है ओर नये नये लंड चाहिए… 

इसे चुत का भोसडा बना पडा है ये कहकर शोकत ने मम्मी की चुत से लंड बाहर निकालकर मम्मी की गांड मै पेल दिया अचानक गांड मै लंड पेलने से मम्मी चिहूक उठी हाय भाईजान आराम से। 

ये सुनकर शोकत ने कहा बस घुस गया मेरी प्यारी बहना 

ये देखकर सबीना ने कहा – मामू आपकी रंडी की तो आपके लंड से ही चीख निकल गयी मुश्ताक के लंड से तो इसकी पेशाब भी निकल जाएगी। तो शोकत बोला इसकी पेशाब तो गधे के लंड से भी नही निकलेगी हा इसकी चुत ओर गांड चुदाई मै दम बहुत लगाना पडता है। मगर ये मुश्ताक जैसे दो लंड एक साथ ले लेगी बहुत गजब का माल है। 

ये ऐसी रंडी बहुत मुश्किल से मिलती है चुदाई के लिए इसकी चुदाई तो दिन रात करते रहो ऐसा माल है पता नही इस रंडी की मा ने क्या खाकर पैदा किया होगा इस रंडी को इतनी चुदाई के बाद भी इसकी चुत ओर गांड बेमिसाल है। ऐसा लगता है जैसे कभी चुदी ही ना हो सबीना ने कहा हा मामू इसकी चुत देखकर मुझे भी यही लगा था मगर ये छिनाल तो बहुत चुदी हुई है… 

मौलवी साहब के परिवार मै मोज हो जाएगी इस रंडी के जाने से वेसै भी यूपी के बुढे ओर जवान चुत ओर गांड के लिए मरे पडे है इस छिनाल को वहा कपडे ही नही पहनने देगे तबीयत से इसकी चुदाई होगी मोहल्ले मै, 

शोकत ने कहा – बात तो सही कही मगर कितना भी चुद ले ये इसकी चुत ओर गांड तो ऐसी ही रहेगी 

तो सबीना बोली – मामू मेरी गांड फाड दी थी मुश्ताक ने मै तो बेहोश हो गयी थी मगर वो हरामी नही रूका इस छिनाल को एकबार तो अपने सामने चुदवाकर ही रहूगी तब देखूगी। इसको शोकत ने कहा चुदवा देगे कोई बात नही पहले मै तो चोद लू। 

पढ़ते रहिये ये मामा भांजी सेक्स स्टोरी वाली, ये कहकर शोकत ने अपने लंड के झटको को तेज कर दिया ओर मम्मी गांड हिलाकर लंड खाने लगी कुछ देर मै ही शोकत ओर मम्मी का बदन अकडने लगा ओर शोकत मम्मी की गांड मे झडने लगा तो मम्मी की चुत से नमकीन रस निकलकर उनकी जाघो पर फैलने लगा। ये सब देखकर सबीना की चुत भी गीली हो एकबार फिर शोकत की चुदाई से मम्मी को कुछ राहत मिली ओर वो आधी नंगी हालात मै ही कुर्सी पर बैठकर सुस्ताने लगी सबीना ने अपना सुट पहन लिया ओर शोकत ने भी अपने कपडे पहन लिये। 

मम्मी अभी भी आधी नंगी बैठी थी सबीना ने कपडे पहन ले रंडी या मन नही भरा 

तो मम्मी ने कहा – क्यो तू भी चुदाई करेगी क्या आजा मेरी चुत का रस पी ले ओर तेरे मामू का रस भी चाट ले कुतिया 

ये सुनकर सबीना ने कहा – एक दिन तेरे नाम मेरी रंडी कभी फुर्सत मै मिल तेरी चुत का भोसडा बनवाकर फिर तेरी चुत को चाट लूगी। 

तभी शोकत ने कहा – मै देखकर आता हू क्या तैयारी चल रही है कितनी देर ओर लगेगी 

तो सबीना बोली – मामू मुझे छोडकर आ जाओ तो मम्मी ने कहा इस रंडी को यही रखो भाईजान मै अकेली हो जाऊगी ना शाम को छोड़कर आ जाना अभी तो असलम ओर नावेद को भी इसकी चुत ओर गांड का मजा लेने दो ये भी क्या याद रखेगी। 

ये सुनकर सबीना बोली – साली छिनाल रंडी मै कोई कोठे की रंडी नही हू जो हर कीसी का लंड ले लू!!! 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – मालूम है तू मोहल्ले की रंडी है ये सोचकर चुद ले की ये लंड भी मोहल्ले के है बस ओर हंसने लगी 

सबीना ने कहा – हंस ले रंडी कोई बात नही मुश्ताक से तेरी गांड ओर चुत ना फडवाई तो मेरा नाम सबीना नही

मम्मी ने कहा – मेरी तो बहुत पहले ही फट चुकी है अब चाहे मुश्ताक आए या उसका बाप मुझे झाटभर भी फर्क नही पडेगा हा तुम्हारी तरह मै बेहोश नही हो जाऊगी। ये जरूर है तभी शोकत कमरे से बाहर चला गया। 

तो मम्मी ने कहा – आ जा कुतिया चाट ले तेरे मामू का रस वो बाहर गया अब तो बता दे चुदेगी क्या असलम ओर नावेद से ऐसा मोका बार बार नही मिलेगा 

ये सुनकर सबीना बोली – तुम तो सच मै रंडी हो बहुत बडी तो मम्मी बोली रंडी का क्या छोटा क्या बडा जो मिले वो ले लो बस चुत ओर गांड तो चुदने के लिए ही होती है 

ये सुनकर सबीना ने कहा – तो तुम मेरे साथ आजा तेरी चुत ओर गांड मै दिन रात लंड डलवाकर रखूगी तू भी खुश रहेगी ओर मोहल्ला भी तभी सबीना ने कहा रंडी तेरे बच्चे है की नही! 

तो मम्मी ने कहा – तु ही बता दे ये सुनकर सबीना बोली तेरे जैसी रंडी आज पहली बार मिली है पता ही नही लगता है की नही 

मम्मी ने कहा – मेरे एक बेटा है जवान 17 साल का ओर एक लडकी है 19 साल की 

तो सबीना बोली – छिनाल फिर तू अपने बेटे से भी गांड मरवा चुकी होगी 

ये सुनकर मम्मी सकपका गयी क्योकी उन्होने ये कभी सोचा भी नही था, 

मम्मी बोली – बेटे से मै कैसे चुदाई करवा सकती हू मै मा हू उसकी 

तो सबीना ने कहा – मा तो उसकी है उसके लंड की नही छिनाल ओर तेरी बेटी भी रंडी ही होगी तेरी तरह 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – वो बहुत शरीफ है 

तो सबीना बोली – रंडी की ओलाद ओर शरीफ 

ये कहकर वो जोर से हसने लगी बहन मेरी बेटी भी चुदकर आई तो पता नही चला मुझे उसके पेट मे बच्चा ठहरा तब मालुम लगा ये भी रंडी बन गयी है। ध्यान रखना मगर तुमको अब क्या मतलब खैर बच्चे यहा आ गये तो ये सब उसको पेल कर रंडी बना देगे तुम देखती रहना तभी शोकत कमरे मे आ गया, ओर बोला तैयारी हो चुकी है बस आधा घंटा ओर लगेगा। 

बहन तुम भी अपनी चुत ओर गांड साफ कर के तैयार हो जाओ जल्दी से ये सुनकर मम्मी ने पानी के गिलास मे अपनी रूमाल भिगोकर अपनी चुत ओर गांड को साफ कर लिया ओर घाघरा पहन लिया। सबीना ने मम्मी का जो मेकअप खराब हुआ था वो फिर से कर दिया ओर अब मम्मी निकाह के लिए बिल्कुल तैयार हो चुकी थी। थोडी देर मे असलम ने मम्मी को उपर आने को कहा तो शोकत ओर सबीना के बीच मै मम्मी दुल्हन बनकर बीच मै आ गयी ओर ऊपर कमरे मै जाने लगी उपर दूसरे कमरे मे मम्मी को चारपाई पर बैठा दिया। 

ओर उनके आगे पर्दा लगादिया पर्दे के पिछे सबीना ओर मम्मी बैठी थी तो शोकत अब आमिर को लेने चला गया शोकत असलम नावेद के साथ सफेद रंग की शेरवानी मै आमिर भी कमरे मे आकर चारपाई पर बैठ गया। तभी असलम आमिर के पास जाकर उर्द मे कुछ बोलने लगा पांच मिनट के बाद आमिर से पूछा निकाह कबुल है। 

तो आमिर ने कहा – कबुल है कबुल है कबुल है फिर असलम मम्मी के पास आकर कुछ बोलने लगा ओर मम्मी से पूछा निकाह कबूल है 

तो मम्मी ने कहा – कबुल है! कबुल है! कबुल है! 

ये सुनकर सब ने ताली बजा दी ओर एक दूसरे को गले लगाकर बधाई देने लगे, तभी नावेद सबको छुहारे बाटने लगा ओर आमिर ने सेहरा उपर उठाकर मम्मी की तरफ देखने लगा तभी 

असलम ने कहा – दावत तैयार सब लोग नीचे चलो तो शोकत ने असलम मिया दुल्हे दुल्हन को यही पर खिला दो ना 

तो असलम ने कहा – ये भी ठीक है 

आमिर ने कहा – सब यही ले आओ साथ मे ही हो जाएगा 

ये सुनकर असलम बाहर रखी टेबल अंदर ले आया ओर नावेद असलम नीचे से खाना लेकर आ गये आमिर ओर मम्मी को एक थाली मै खाना डालकर सबने अपनी थाली मै खाना डाल लिया ओर सबने आमिर ओर मम्मी को मिठाई खिलाकर निकाह की बधाई दी। 

तो आमिर ओर मम्मी ने भी एक दूसरे को मिठाई खिलाकर निकाह की बधाई दी तभी नावेद ने कहा आमिर भाई अब तो निकाह हो गया भाभीजान को लेकर चले घर पर अब तो आपकी बेगम भी बन गयी है। 

तो आमिर बोला – ये घर इसी का है 

ये सुनकर सबीना बोली – सही कहा घर ओर आप सब इसी के ही है अब तो वैसे जोडी बहुत सुंदर है आपकी मौलवी साहब नजर ना लगे दुल्हन ओर दुल्हे को मेरी बहन का ख्याल रखना फुलो सी नाजुक है ज्यादा तकलीफ मत देना मेरी बहन को। 

असलम ने कहा – बिल्कुल तकलीफ नही देगे पैर जमीन पर भी नही रखने देगे ये सुनकर सबीना ने कहा बहन तैयार हो जा तेरे पैर तो चाद की तरफ ही रहेगे लगता है ये सुनकर सब हंसने लगे खाना खाने के बाद 

असलम बोला – शोकत भाई तुम अपनी बहन को नीचे ले जाओ ताकी वो आराम कर ले ओर आमिर भी अब आराम कर ले कुछ देर चार बजने वाले है रात को बहुत मेहनत करनी है दोनो को 

ये सुनकर सबीना बोली – मेहनत तो करनी पडेगी ही अगर मौलवी साहब नही करेगे तो कोई ओर करेगा 

ये सुनकर फिर से सब हंसने लगे ओर मम्मी नीचे आकर चारपाई पर लेट गयी ओर शोकत सबीना को लेकर चला गया आमिर भी आराम करने लगा शाम को 6 बजे असलम चाय लेकर आया तो मम्मी की आख खुली मम्मी चाय पीने लगी। असलम भी पास बैठकर चाय पीने लगा ओर मम्मी के हुस्न की तारीफ करने लगा बातचीत करते हुए शाम हो गयी। 

तो शोकत भी आ गया ओर आगे क्या करना है पूछने लगा तो असलम ने कहा करेगे तो ये दोनो हमे तो बस अब इनको खाना खिलाकर कमरे मै भेजना है बाकी सब तैयारी हो चुकी है रोटी सब्जी होटल से लानी है बस नावेद को बोल दो ताकी वो खाना लेने चला जाए नावेद खाना लेने चला गया ओर 8 बजे खाना लेकर आ गया सब ने उपर के कमरे मै ही खाना खाया। 

अब आमिर ने सेहरा खोल दिया था वो शेरवानी मे आकर मम्मी के पास कुर्सी पर बैठ गया सभी ने मिलकर खाना खाया ओर मम्मी को कमरे मे भेज दिया कमरे मे घुसते ही मम्मी की आंखे फटी की फटी रह गयी कमरा इतना शानदार सजाया की मम्मी देखती ही रह गयी। 

कमरे मे सजावट सिर्फ गुलाब के फुलो से की गयी थी इसलिए कमरा गुलाब की खुशबु से महक रहा था तभी मम्मी फुलो की लडीयो को खोलकर बेड पर फैली गुलाब की पखुडीयो पर बैठ गयी घुघट निकालकर जैसे कोई दुल्हन बैठती है तभी कुछ देर मे आमिर कमरे मै आ गया ओर फुलो की लडीयो को हटाकर मम्मी के पास बैठ गया। तो मम्मी ने पास मै रखा दूध का गिलास आमिर को दे दिया आमिर ने अपनी जेब से दो गोली निकाली ओर दूध के साथ पी गया ओर मम्मी का घुघट उठाने लगा। 

तो मम्मी ने घुघट पकड लिया ओर कहा पहले मुह दिखाई निकालो जान वर्ना ये घुघट नही खुलेगा आमिर ने सब तैयारी कर रखी थी। तभी आमिर ने अपनी जेब से एक पेकट निकाली ओर कहा पहले घुघट तो खोलने दो फिर तो तुम देख सकोगी ना क्या है! 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – चलो ठीक है खोल लो आमिर ने दोनो हाथो से घुघट खोलकर पिछे कर दिया ओर मम्मी को देखकर आमिर की आंखे खुली ही रह गयी! 

मम्मी कीसी जवान लडकी से भी ज्यादा खुबसूरत लग रही थी, ऐसी लड़की के बारे में मेने तो बस Mastram Maa Sex Story को पढ़ा है।आमिर ने मम्मी के माथे पर किस की ओर आखे बंद करने को कहा तो मम्मी ने बिना कुछ कहे आखे बंद कर ली तभी आमिर ने पेकट खोला ओर मम्मी के गले मे हाथ डाल दिया। 

मम्मी की आंखे खुलने तो आमिर ने आखे बंद करने को कह दिया आमिर ने गले से हाथ हटाकर अब आखे खोलने को कहा – तो मम्मी को जोर का झटका लगा क्योकी आमिर ने मम्मी को मंगलसूत्र पहनाया था मम्मी ने आमिर इसकी क्या जरूरत थी। 

तो आमिर ने कहा – मेरी बेगम मेरा मंगलसूत्र ना पहनेंगी तो क्या पहेनेगी 

ये सुनकर मम्मी ने आमिर को गले लगा लिया कसकर मम्मी ओर आमिर पांच मिनट तक एक दूसरे से लिपटे रहे फिर आमिर ने मम्मी की जाघो पर सर रख दिया ओर बेड पर लेट गया मम्मी आमिर के बालो मे हाथ घुमाने लगी ओर दोनो एक दूसरे को प्यार से देखने लगे। 

मम्मी ने आमिर को कहा – अब तो आप खुश है ना आज से मै आपकी हो गयी 

ये सुनकर आमिर ने कहा – खुश तो मै तब से ही हू जब से आप मिले हो मगर अभी भी हो तो पराई अगर सच मै मेरी होना चाहती हो तो हमेशा के लिए बेगम बन जाओ पता नही कब जयपुर से जाना पडे ओर मै बच्चो की जिम्मेदारी भी उठाने को तैयार हू। बस तुम हा कहो ओर विश्वास रखो! 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – विश्वास तो है ही जनाब बस कुछ मजबूरी है मेरी ये सुनकर 

आमिर ने कहा – चलो कोई बात नही तुमसे निकाह हो गया ये ही बहुत है मेरे लिए अब आज पूरी रात तुम्हारी सेवा करूगा 

तो मम्मी बोली – करो ना आमिर ने मम्मी की गर्दन पर हाथ डालकर उन्हे झुका लिया ओर मम्मी के सुर्ख लाल होठो पर अपने लाल होठो को लगा कर किस करने लगे। 

आमिर जब तक मम्मी के होठो को चुसता रहा जब तक उनकी सारी लिपस्टिक ना उतर गयी अब आमिर बैठकर मम्मी के कपडे खोलने लगा। आमिर ने ब्लाउज खोलकर मम्मी की चुचियो को दबाया ओर उनको कीस करते हुए उनकी ब्रा को खोलकर उनकी चुचियो को आजाद कर दिया। 

मम्मी की चुचियो को आमिर कीसी बच्चे की तरह पीने लगा मम्मी की मस्ती से आहे निकलने लगी ओर वो आमिर के सर को अपनी चुचियो पर दबाने लगी चुचियो को पीने के बाद आमिर ने मम्मी को खडा कर दिया बेड पर ओर घुटनो के बल बैठकर उनके घाघरे का नाडा खोल दिया। 

मम्मी ने टांग बाहर निकालकर घाघरा बेड के नीचे गिरा दिया मम्मी के बदन पर अब बस लाल रंग की कच्छी बची थी आमिर बडे प्यार से मम्मी की जाधो को चुम रहा था ओर कच्छी के उपर से चुत को चुमने लगा तभी आमिर ने ने मम्मी की कच्छी खोलकर मम्मी को पूरा नंगा कर दिया ओर फिर मम्मी ने आमिर को खडा करके उनकी शेरवानी खोल दी ओर आमिर को भी पूरा नंगा कर दिया। 

आमिर ने मम्मी को बेड पर लेटा दिया ओर खुद बेड से उतरकर सामने मेज पर रखी कटोरी ले आया आमिर बेड पर आकर मम्मी के पेट पर बैठ गया ओर कटोरी मे रखे अंगूर अपने हाथ मे लेकर मम्मी के माथे पर रखा ओर खा लिया। फिर आमिर ने एक अंगूर मम्मी के होठो पर रखकर खा लिया उसके बाद आमिर ने मम्मी की चुचीयो पर अंगूर रखकर खाया। 

इसके बाद आमिर ने मम्मी की नाभी पर अंगूर रखकर खाया उसके बाद आमिर खडा होकर घुटने के बल बैठ गया ओर मम्मी की टांगो को हवा मे फैला दिया। आमिर ने अब मम्मी की गुलाबी चुत पर एक अंगूर रखा ओर उसे खाकर वो मम्मी की चुत को चाटने लगा चुत पर जीभ लगते ही मम्मी की सहनशक्ति खत्म हो गयी ओर वो जोर से हाय आमिर कहकर झडने लगी। आमिर ने सारा रस चाटकर साफ किया! 

तो मम्मी ने आमिर को कहा – बेगम के मजे अकेले ही लोगे क्या जरा हमे भी मजे लेने दो, ये सुनकर आमिर 69 पोजीशन मे आ गया मम्मी अब आमिर के लंड को कीसी लॉलीपॉप की तरह चुसने लगी जोर से तो आमिर भी मम्मी की गुलाबी चुत को कुते की तरह चाटने लगा अपनी जीभ से। 

दस मिनट की चुसाई के बाद मम्मी की चुत अब लंड मागने लगी तो मम्मी ने आमिर का लंड मुह से निकालकर उसकी चुत की आग बुझाने को कहा – तो आमिर ने कहा अभी लो बेगम आमिर अब घुटनो के बल बैठकर मम्मी की जाघो को उठाकर मम्मी के पेर मम्मी के सिर के दोनो तरह चिपका दिये ओर अपना मुसल लंड मम्मी की चूत मै एक झटके मै उतार दिया। 

जिससे मम्मी की चीख निकल पडी अब आमिर मम्मी की चुत को पूरी तेजी से चोदने लगा ओर चुदाई से कमरे मे मम्मी की चीखे निकलने लगी। आमिर का लंड मम्मी की बच्चेदानी को छु रहा था आमिर के लंड के तुफान के आगे मम्मी ज्यादा देर नही टिक पाई ओर मम्मी की चुत दस मिनट मे ही झडने लगी मम्मी के झडने से उनकी चुत से अब चुदाई की आवाज भी बदल गयी। अब कमरे मे फचफच की आवाजे आने लगी! 

तभी आमिर ने मम्मी को कहा – बेगम अब कुतिया बन जाओ मम्मी कुतिया बनी तो आमिर मम्मी की गांड के भूरे छेद को चाटने लगा। आमिर ने आज मम्मी की गांड की दोनो तरफ दांतो से काटकर उनकी गांड पर निशानी दे दी मगर आज आमिर ने इतना गंदा काटा की मम्मी की आंखो से आंसू निकल आए। तभी आमिर ने मम्मी की गांड मे अपने लंड का सुपारा फसा दिया ओर फिर दो झटको मै मम्मी की गांड मे पूरा लंड उतारकर अपने बदन को मम्मी की गांड से चिपका दिया। 

मम्मी ने गांड हिलाकर आमिर को चोदने को कहा तो आमिर ने पूरा लंड बाहर निकालकर एक झटके मै पूरा लंड मम्मी की गांड मे पेल दिया। जिससे मम्मी चीख उठी आमिर अब मम्मी की गांड को फाडने लगा तो मम्मी भी गांड को उचकाकर आमिर का लंड खा रही थी ओर नीचे आमिर जोर से ओर जोर से फाड दो आज मेरी गांड को बहुत खुजली रहती है। 

इसमे ये सुनकर आमिर पूरी ताकत से मम्मी की गांड चोदने लगा ओर मम्मी – आह आह ओ रे ओ रे जोर से हाय हाय मर गयी 

कहकर चुदने लगी! आमिर बीस मिनट तक मम्मी की गांड को चोदता रहा लगातार इधर मम्मी की चुत से भी पानी लगातार निकल रहा था। तभी आमिर ने मम्मी को उपर आने को कहा ओर बेड पर लेट गया आमिर की कमर के दोनो तरफ टांग निकालकर मम्मी ने आमिर के लंड को पकडकर अपनी चुत मे फसा लिया। ओर आमिर की चोडी छाती पर अपने हाथ रखकर आमिर के लंड पर जोर जोर से कूदने लगी आमिर भी मम्मी की चुचियो को कसकर दबा रहा था। 

जिससे मम्मी की कामुक आहे निकल रही थी मम्मी पूरी मस्ति मै आकर आमिर का लंड खा रही थी तो आमिर भी नीचे से गांड उठाकर मम्मी की चुत मे लंड पेलकर मम्मी की चुदाई मे लगा था बीस मिनट बाद एकबार फिर मम्मी की चुत से कामरस छुट पडा ओर मम्मी आमिर के उपर लेटकर आमिर के होठो को चुसने लगी। दो मिनट बाद मम्मी ने आमिर क्या हुआ आज घंटा तो हो गया मेरी चुत की प्यास कब बुझाओगे अपने माल से। 

ये सुनकर आमिर बोला बेगम आज खुराक ली हुई है सब्र करो चलो अब तुम खडी हो जाओ आमिर ने खडे होकर बेड पर मम्मी की जाघो के बीच हाथ डालकर उठा लिया ओर अपने लंड को मम्मी की चुत मे डाल दिया। मम्मी ने आमिर के गले मे हाथ डाल रखे थे ओर वो आमिर के होठो को चुस रही थी उधर आमिर ने खडे खडे मम्मी को बीस मिनट तक जमकर पेला सुहागरात की पहली चुदाई मे मम्मी जब सातवी बार झडने को आई तब आमिर भी झडने को आया ओर मम्मी की चुत मै अपना गर्म वीर्य डालकर झड गया। 

आमिर मम्मी के साथ बेड पर लेट गया ओर दोनो जोर से सासे लेकर सुस्ताने लगे पांच मिनट के बाद दोनो सामान्य हुए 

तो मम्मी ने कहा – आज तो जान ही निकाल दी ये सुनकर आमिर ने कहा बेगम अगले दोर मे भी ऐसा ही होगा 

तो मम्मी बोली – सिर्फ एक ओर से क्या आज रात तो चार राऊड होने चाहिए जनाब ओर हसने लगी 

मम्मी ने कहा – पेशाब करने आना है

तो आमिर ने कहा – चलो मे भी करूगा 

ये कहकर दोनो नंगे ही बाहर आ गये ओर मम्मी छत के कोने मे पेशाब करने लगी तो आमिर भी पास मे खडे होकर पेशाब करने पहुंच गया ये देखकर 

मम्मी ने कहा – आमिर मेरे बदन पर भी कर लो मेरा मुह तो खाली ही है अभी ये सुनकर आमिर ने कहा बेगम सोच लो मम्मी ने रूको फिर तभी मम्मी पेशाब करके आमिर के सामने घुटने के बल बैठकर आमिर के लंड को मुह मे भर लिया ओर 

आमिर को कहा अब कर लो आमिर मम्मी के कहते ही मम्मी के मुह मे मुतने लगा आमिर के पेशाब का प्रेशर ज्यादा होने के कारण मम्मी के मुह से निकलकर मम्मी की चुचियो पर से बहकर उनकी जाघो को गीला करने लगा। बाकी आमिर का गर्म पेशाब मम्मी गटगट करके पानी की तरह पी गयी ओर आमिर के लंड को चाटकर अच्छे से साफ कर दिया। 

मम्मी अब छत पर ही बैठ गयी ओर आमिर ने कहा बेगम तुम रूको दो मिनट उपर बने बाथरूम से आमिर एक बाल्टी पानी भर लिया। 

तो मम्मी ने कहा – चलो बाथरूम मे दोनो एकसाथ ही नहा लेते है मे कपडे लेकर आती हू मम्मी ने अपनी बेग से नाइटी ओर तोलिया निकाल लिया ओर दोनो बाथरूम मे घुस गये दोनो ने एक दूसरे को साबुन लगाई ओर अच्छे से नहाकर एक तोलिये से पूछकर मम्मी ने नाइटी पहन ली। तो आमिर ने तोलिया बाध लिया ओर छत पर घुमने लगे मम्मी आमिर की बाहो से चिपककर खडी हो गयी। 

मम्मी के चेहरे से उनकी खुशी झलक रही थी आमिर भी आज बहुत खुश था दस मिनट बाद 

आमिर ने कहा – बेगम तीन दोर पूरे करने है तो कमरे मे चलने होगा ना ओर 

मम्मी ने कहा – अगर नही करोगे तब तक सोने कोन देगा 

ये सुनकर आमिर ओर मम्मी कमरे मे आ गये कमरे मे आते ही मम्मी ने आमिर के होठो पर होठ लगा दिये ओर चुसने लगी आमिर भी मम्मी के गुलाबी होठो को चुसने लगा पांच मिनट किस करने के बाद आमिर ने मम्मी की नाइटी खोल दी ओर मम्मी को नंगा कर के चुचियो को दबाने लगा। मम्मी ने आमिर का तोलिया खोल दिया ओर उसके सोये लंड को सहलाने लगी मम्मी के हाथ लगते ही आमिर का लंड अपने विकराल रूप मै आने लगा था। 

तभी आमिर नीचे बैठकर मम्मी की नाभी को चुमने लगा नाभी को चुमकर आमिर मम्मी की चुत की गुलाबी फाको को खोलकर उसे चाटने लगा। जिससे मम्मी अपनी आखे बंद कर के आहे भरने लगी ओर आमिर के बालो को पकडकर अपनी चुत पर दबाने लगी दस मिनट की चुसाई के बाद मम्मी ने अपना कामरस आमिर के मुह मे भर दिया। 

जिसे आमिर ने पूरा चाटकर चुत को साफ कर दिया अब मम्मी नीचे बैठ गयी ओर आमिर खडा हो गया मम्मी अब आमिर के लंड के सुपारे पर जीभ फेरकर आमिर को उत्तेजित करने लगी। सुपारे को चाटकर साफ करने के बाद मम्मी ने आमिर का लंड को मुह मे भरकर चुसने लगी। जिससे आमिर खडा खडा आहे भरने लगा ओर मम्मी के बालो को पकडकर मम्मी के मुह को कसकर चोदने लगा। दस मिनट लंड चुसने के बाद मम्मी की चुत भट्टी की तरह तपने ओर आमिर का लंड बाहर निकालकर उसे चोदने को कहने लगी। 

तो आमिर ने कहा – आ जाओ बेड पर 

तो मम्मी ने कहा – आमिर बेड पर नही आज कोई नये तरीके से पेलो यार तो आमिर ने इधर उधर देखा 

तो आमिर को सोफै के आगे रखी टेबल नजर आई 

तो आमिर ने मम्मी को मेज पर कुतिया बनने को कहा ओर टेबल पर रखा समान हटाने लगा समाने हटाते ही मम्मी टेबल पर घुटनो को मोडकर अपनी फेवरिट स्टाइल मे आ गयी ओर अपने पेट ओर सर को टेबल पर चिपाकर अपनी गुलाबी चुत बाहर निकालकर तैयार हो गयी। इधर आमिर मम्मी के पीछे आकर खडा हो गया ओर मम्मी की चुत पर अपने मुसल लंड को रगड़ने लगा मम्मी को कुतिया बनकर चुदना सबसे ज्यादा पसंद है इस पोजीशन मे मम्मी बहुत मजे लेकर चुदती है कसम से उनकी चुदाई कर के बडा मजा आता है खैर वो कभी बाद मै बताऊगा मै अभी आमिर अपना लंड मम्मी की चुत पर रगडकर उन्हे तरसाने मे लगा रहा। 

जिसके चलते मम्मी की चुत से नमकीन रस बहने लगा ये देखकर आमिर ने अपनी उंगली चुत मै डालकर मम्मी के नमकीन रस का स्वाद लेने लगा तभी मम्मी बोल पडी आमिर अब करोगे या नही! 

ये सुनकर आमिर ने मम्मी की चुत मै एक झटके मै ही अपना मूसल लंड पेल दिया जिससे मम्मी कि चीख निकल पडी तभी आमिर ने लंड बाहर निकालकर एक जोर का झटका लगाकर फिर से चत मे पूरा लंड उतार दिया। मम्मी ने अब अपनी गांड हिलाकर आमिर को चुदाई करने को कहा तो आमिर कीसी मशीन की तरह मम्मी की चुत मे लंड अंदर बाहर करने लगा। 

जिससे मम्मी की नीचे पडी पडी की आहे चीख मे बदल गयी मगर आमिर का लंड मम्मी की चुत का भोसडा बनाने मे लगा रहा आमिर ने मम्मी की चुत को लगातार बीस मिनट तक इसी पोजीशन मे चोदता रहा मम्मी की चुत से एक बार पानी निकल चुका था। जिससे चुदाई की आवाजे बदल गयी कमरे मे बस मम्मी की चीखे ओर फचाफच की आवजे ही गुज रही थी। 

मम्मी की चुचिया भी आमिर के झटको से हिल रही थी जोरो से तभी आमिर ने अपने गीले लंड को चुत से निकालकर मम्मी की गांड मै पेल दिया। अचानक से गांड मे लंड जाने से मम्मी कोहनी के बल खडी हो गयी मगर आमिर ने मम्मी की जाघो को पकडकर पूरा लंड गांड मे पेल दिया ओर मम्मी आमिर को गांड फाडने का कहने लगी जोर से मम्मी आमिर के झटको के जवाब मै अपनी गांड उठाकर दे रही थी। जिससे आमिर भी मम्मी की गांड को गोदाम बनाने मे अपनी पूरी ताकत लगा दी थी अब कमरे मै पटापट की आवाजो के साथ, 

मम्मी की – हाय हाय की आहे आने लगी 

आमिर गांड मारते वक्त मम्मी की गांड पर थप्पड भी लगातार मारे जा रहा था जिससे मम्मी की गांड लाल हो गयी ओर आमिर की उंगलियो के निशान भी छ्प गये थे। मगर आमिर की गांड फाड चुदाई अभी भी चल रही थी, तो मम्मी भी जमकर चुदने का मजा ले रही थी अब करीब आधे घंटे बाद आमिर का बदन अब अकडने को हुआ। तो आमिर ने मम्मी को कहा बेगम माल कहा निकालना है 

ये सुनकर मम्मी बोली – माल तो पिना ही है ये सुनकर आमिर ने गांड से लंड बाहर निकाल लिया ओर मम्मी के सामने चला गया मम्मी अब कुतिया बनी बनी ही आमिर के लंड को मुह मै भरकर चुसने लगी। करीब दो मिनट बाद आमिर ने अपना गर्म वीर्य मम्मी के मुह मै भर दिया जिसे मम्मी गटक गयी ओर फिर आमिर के लंड को चाटकर पूरा लंड अच्छे से साफ कर दिया। 

आमिर ने कहा – बेगम कैसा लगा 

तो मम्मी बोली – मजा आ गया जनाब अब दो राऊड ओर ऐसे ही पेलना 

तो आमिर ने कहा – क्यो नही जान ये कहकर आमिर ने कहा चलो बाहर टहलकर आते है कुछ हवा खाकर तीसरा राऊड शुरू करेगे ओर दोनो नंगे ही छत पर घुमने लगे। दो ताबडतोड चुदाई के राऊड के बाद मम्मी ओर आमिर को भूख भी लग चुकी थी। तो दोनो कमरे मे आकर मिठाई ओर नमकीन खाने लगे उसके बाद दो ओर राऊड की चुदाई चली जिससे सुबह का समय हो गया ओर करीब चार बजे दोनो नंगे ही एक दूसरे से लिपटकर सो गये। 

ओर सुबह नो बजे दोनो उठे ओर एक दूसरे को कीस करने लगे, आमिर ने लुगी बाधी ओर नीचे आकर चाय बनाने लगा तभी मम्मी भी नाइटी पहनकर नीचे आ गयी ओर आमिर से झगडने लगी आपकी बेगम के होते आप चाय क्यो बना रहै है। 

तो आमिर ने कहा – बेगम आदत बन गयी है ना इसलिए चलो आप बना दो अब 

मम्मी ने पूछा – असलम ओर नावेद नही दिख रहै तो आमिर ने कहा बाजार गये होगे समान लेने आज आपका हलाला ओर निकाह भी होगा ना 

तो मम्मी बोली – निकाह तो कल हो गया था ना 

तो आमिर ने समझाया की मै तुम्हे अब तलाक! तलाक! तलाक! कहकर तलाक दे दूगा। जिसके बाद तुम्हे फिर से निकाह करना होगा ओर उससे शारीरिक सबध बनाने होगे इस को हलाला कहते है 

तो मम्मी बोली – फिर से दुल्हन बना पडेगा 

ये सुनकर आमिर ने कहा – हा बेगम ये तो होगा ही अब आप ही बोलो किस्से निकाह करवाना है आज असलम नावेद या आपके शोकत भाईजान से 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – सबको आने दो फिर ही बताऊगी आज किसकी दुल्हन बनूगी मै 

ये सुनकर आमिर ने कहा – हम एक खेल खेलेंगे जिसमे तीनो के नाम की पर्ची डाल देगे जिसके नाम की पर्ची निकलेगी वो ही आपका दुल्हा बनेगा मम्मी भी खुश हो गयी। 

ये सुनकर ओर आमिर को गले लगाकर कहने लगा आमिर बहुत ही अच्छा तरीका है ये तो कोई भी नाराज नही होगा ये सुनकर आमिर ने कहा – तभी तो कहा है तभी चाय बन गयी ओर दोनो चाय पीने लगे चाय पीते ही मम्मी का प्रेशर बन गया 

तो वो आमिर को कहकर हगने चली गयी ओर आमिर भी उपर आकर टहलने लगा हगते समय मम्मी की गांड मै मीठा मीठा दर्द हो रहा था। 

तभी आमिर ने कहा – बेगम कितना टाइम ओर लगेगा 

तो मम्मी ने कहा – क्या हुआ प्रेशर ज्यादा हो गया क्या 

ये सुनकर आमिर ने कहा – नही पेशाब लगा है जोर से तो मम्मी ने कुडी खोल दी ओर फिर से सीट पर बैठकर आमिर को अंदर आने को कह दिया आमिर अंदर गया तो बोला बेगम पहले तुम तो फ्री हो जाती 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – आमिर मै हू ना आप आओ तो आमिर नजदीक चला गया तो मम्मी ने लुगी को उठा दिया ओर अपना मुह खोल दिया। आमिर भी समझ गया उसने अपने लोडे को हाथ से पकडकर मम्मी के मुह मै डाल दिया ओर मुतने लगा आमिर का गर्म पेशाब मम्मी गटगट कर पीने लगी। जैसे सालो की प्यासी हो पेशाब पीने के बाद मम्मी ने आमिर को तोलिया लाकर देने को कहा ओर नहाकर तोलिया लेपटकर ही कमरे मे आ गयी। 

तभी आमिर ने मम्मी को कहा बेगम आपके लिए तोहफा है 

तो मम्मी ने कहा – अब क्या तोहफा है जनाब सबसे बेहतरीन तोहफा तो आप है मेरे लिए 

ये सुनकर आमिर ने कहा – वो तो आप भी है मगर रूको मम्मी ने तबतक तोलिया खोल दिया ओर अपने बदन को पूछने लगी। तभी आमिर ने अलमारी से एक डब्बा निकालकर मम्मी को दिया ओर कहा पहनकर नीचे आ जाओ आमिर।

ये इस मुस्लिम सेक्स स्टोरी का माँ की अन्तर्वासना का 28 पार्ट है, पिझले पार्ट्स भी पढ़े और हिलाये।

कहानी अभी जारी है, पढ़ते रहिये मेरी माँ की अन्तर्वासना की आत्म कथा को, और मिलते है अगले भाग में।

Writer – Rohit Kumar, [email protected]

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
20k
+1
19k
+1
11.3k
+1
4.6k
+1
2.3k
+1
134

Similar Posts

7 Comments

  1. कौन भस्रिका कहता है इंडिया में कॉस्प्ले करके सेक्स नहीं करते, यह तो कामुकता के लिए असली रहा मधेर्चोद, गज़ब है बस गज़ब।

  2. यकीन नहीं होता यार! सेक्स के मज़े तो ये लोग ले रहे है। अंगेज़ चूतिये क्या ही मज़े करते होंगे। 🤣🤣🤣. असली की शादी कर्ली वोभी कामुक मज़े के लिए।

    1. जी बिलकुल क्योकी संभोग की चाहत के आगे रिश्ते नाते कुछ नही होते है ना भाईजान

  3. किस किस ऐसी औरत की चाहत है मुझे बताओ, कमेंट करो, और जिसका मुझे अच्छा लगेगा में उसको पर्सनल व्हाट्सप्प नंबर दूंगी अपना। में बहुत हॉट और सेक्सी हूँ।

    1. दे दो इसे तो बहुत सालो से भोग रहै है जरा आपकी जवानी का रस चखकर देखे ऐसा मजा है की नही

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *