/ / सेक्सी रसीली आंटी को जबरदस्ती चोदा 😤
Aunty Sex Story Desi Sex Story Hindi Sex Story Porn Story XXX Story

सेक्सी रसीली आंटी को जबरदस्ती चोदा 😤

मेने आंटी को ब्लैकमेल किया और उन्हें उनके ही घर पर चोदा। उन्हें इतना मस्त चोदा मेने की वो मेरे लंड की आशिक़ बन गई। और हम दोनों में एक चुदाई का रिस्ता बन गया। 

इस Aunty Sex Story में जाने मेरी पूरी कहानी सेक्सी रसीली आंटी को जबरदस्ती चोदा। मेरा नाम दीपक है और मैं अहमदाबाद का रहने वाला हूं।

मेरे पड़ोस में एक आंटी रहती हैं जो कि बहुत ही सेक्सी और हॉट है। मैं रोज उनको अपनी बालकनी से देखता रहता हूं। कभी उनके स्तन को, कभी उनके कमर को, वह हमेशा साड़ी में रहती हैं और मुझे साड़ी वाली आंटी बहुत पसंद है।

1 दिन में वहीं पड़ोस से निकल रही थी, तो मैंने सोचा विंडो की तरफ नजर डाल दूं, शायद आंटी दिख जाए, लेकिन उस दिन मैंने कुछ अलग ही देखा। जिसको देखकर मेरी आंखें खुली की खुली रह गई। मैंने देखा की आंटी बेड पर साड़ी ऊपर कर लेटी हुई है, टांगे फैला रखी है और अपनी चूत को सहला रही है।

इतना देखते हैं मैंने तुरंत अपना मोबाइल निकाला और उनकी वीडियो बना ली।

अगले दिन जब उनके हस्बैंड ऑफिस चले गए, तो मैं उनके घर पहुंच गया। आंटी ने मेरा हाल चाल पूछा और मुझे बैठने को कहा। वह कुछ और बोलती उससे पहले मैंने कह दिया कि आंटी मुझे आपको कुछ दिखाना है। 

मैंने आंटी को वह वीडियो दिखाइ, आंटी वह वीडियो देख कर डर गई। वो बोलने लगी – दीपक!! इसे डिलीट कर दो कोई देख लेगा तो मैं बदनाम हो जाऊंगी। 

मैंने बोला – डिलीट कर दूंगा लेकिन… उससे पहले मैं जो करना चाहता हूं वह करने दो। 

आंटी ने बोला – क्या करना चाहते हो?!! 

और वह खामोश हो गई और सब समझ गई। 

मैं समझ गया की उन्हें मेरे नापाक इरादों के बाड़े पता लग गया है। मैंने भी बिना कुछ बोले उनकी साड़ी खींची और उनको खींचकर अपनी टांगों पर बैठा लिया। 

आंटी – कुछ नहीं बोल सकती थी।

अपनी टांगों पर बैठाकर, मैं उनके स्तन को दबाने लगा। वह कुछ बोल ही नहीं पा रही थी। सेक्सी आंटी के बड़े बड़े चूंचे दबाते ही रहा था। मैं ऊपर से ही स्तन को जबान लगा कर चाटने लगा और आंटी भी धीरे-धीरे गर्म होते जा रही थी, फिर मैं धीरे से हाथ नीचे ले गया और पैंटी के ऊपर से आंटी की चूत सहलाने लगा।

आंटी की गरम गरम सांसे मैं महसूस कर पा रहा था । 

आंटी की आंखें बंद थी और वह मैं जो कर रहा था उस का आनंद ले रही थी। मैं आंटी की चूत सैला ही रहा था कि उनकी चूत से पानी निकलने लगा। 

मैंने आंटी की पेंटी उतार दी और चूत को सहलाने लगा । मैं जितना तेज कर रहा था आंटी उतना ही आनंद लेते जा रही थी और उतनी ही जोर से सांसे भी लेती जा रही थी। धीरे से मैंने एक उंगली आंटी की चूत में डाल दी,

मेरे उंगली डालते ही आंटी – आ आ आ अहह आह आ आ करने लगी। 

वह आ… आ…  कर रही थी… और मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख कर उसको चूसने लगा । कभी मैं उनके होठों को चूसता कभी वह मेरे होठों को चूसता, कभी मैं उनके मुंह में अपनी जबान डालता, कभी वह मेरे मुंह में जबान डालती, हम दोनों के अंदर की Antarvasna (अन्तर्वासना) जग चुकी थी।

थोड़ी देर बाद मैंने आंटी की चूत में दो उंगली डाल दी… 

आंटी चिल्लाना चाह रही थी, लेकिन मैं उनके होठों को चूसते ही जा रहा था। मैं जोर से अपनी उंगलियों को अंदर बाहर करते ही जा रहा था और उनकी चूत से पानी ही पानी निकल रहा था, सचमे आंटी रसीली चूत वाली बहुत थी। थोड़ी देर बाद मैंने उग्लि को उनकी चूत से बाहर निकाल लिया और उनके मुंह में डाल दिया। 

आंटी अपनी ही चूत का स्वाद ले रही थी।

उनको अपनी उंगली चुसाने लगा थोड़ी देर बाद आंटी बोली –

आंटी :- तू बहुत बड़ा मादरचोद है।

मैं :- आपके प्यार मे आंटी…

आंटी :- और क्या-क्या करेगा… भड़वे!!

मैं :- अभी तो मैंने स्टार्ट किया है आगे आगे देखो होता है क्या!!!!

आंटी :- अब क्या करेगा?!!

मैं :- जब तक गांड नहीं मारूंगा और तुम्हारी चूत नहीं फाड़ऊँगा… तब तक कहां मजा आएगा… आंटी!!!

आंटी :- नहीं… नहीं… आगे कुछ नहीं!!

मैंने उनको पूरा नंगा कर दिया।

अब वह मेरे सामने नंगी खड़ी थी, मेरे सालों का सपना पूरा हो रहा था। बस में उन्हें खड़ा करके उनकी रसीली चूत को देखता ही जा रहा था।

फिर मैंने आंटी से बोला – मेरे कपड़े उतारो और मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर उसे अपने मुंह में लो।

आंटी ने मेरे कपड़े उतारे और मेरे लंड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी। मुझे बहुत मजा आ रहा था कि…

मैं बता नहीं सकता हूं। 

फिर मैंने आंटी को सोफे पर मेरी तरफ मुंह करके लिटा दिया और उनकी दोनों टांगे फैलाई। अपने मुंह को उनकी चूत के पास ले जाकर अपनी जबान से चूत को चाटने लगा। और फिर मैंने आंटी के चूत में अपने लंड को डाल दिया। 

आंटी – आह!! आह! आह! 

जो कि मुझे और मजा दे रहा था। आंटी बोलने लगी – कितना मोटा और लंबा है इतना तुम्हारे अंकल का भी नहीं है। आंटी बोली – मुझे बहुत मजा आ रहा है… और जोर से चोदो… 

इतना सुनते ही मैं और तेजी से अपने लंड को अंदर-बाहर करने लगा।

फिर मैंने आंटी को घुमा दिया और उनकी गांड में अपना लंड धीरे से डाला। और मैं धीरे-धीरे अंदर बाहर

करते करते आंटी के गांड पर अपने हाथों से मार रहा था। 

आंटी – आ… आ… बहुत मज़ा आ रहा बेटा… दीपक… ऐसे ही चोदो अपनी आंटी की गांड को!!!

लेकिन मैने अपना लंड बाहर निकल लिया 

आंटी – क्या कर रहा है अभी तो मज़ा आ रहा था 

मैं – पहले बोलो तुम मेरी रंडी आंटी हो और इसके बाद तुम गुस्सा नहीं करोगी, 

आंटी – हां… हां… माधरचोद… कुछ नहीं बोलूंगी अब चोदना चालू कर।       

फिर मैंने गांड से लंड निकाल कर उनके चूत में डाल दिया और तेजी से अंदर बाहर करने लगा आंटी की जबरदस्त प्रचंड चुदाई कर रहा रहा मैं जैसे Desi Sex Kahani में होता है। 

आंटी बोलने लगी – और जोर से… और जोर से… और जोर से… चोदो मुझे चोदो… मुझे, मेरी चूत फाड़ दो और तेज, और तेज, और तेज… 

वह सुनकर मेरे अंदर की वासना बढ़ती ही जा रही थी। मैं और तेज करता ही जा रहा था कि इतनी ही देर में मेरा निकलने वाला था, मैंने लंड को बाहर निकाला और उनके गांड पर अपनी मलाई निकाल दिया, और मुझे ही नहीं रहा था की मेने aunty ko jabardasti choda

इतना करके मैंने अपने कपड़े पहने और अपने घर आ गया। मैंने वह वीडियो डिलीट कर दी और तब से आंटी और मेरे बीच एक चुदाई का रिस्ता कायम हो गया और उन्हें मेरे लम्बे मोटे लंड की आदत पर गई।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *