/ / नये लंड की चाहत – ऑनलाइन चुदाई कहानी!!
Aunty Sex Story Bhabhi Sex Story Couple Sex Story Desi Sex Story First Time Sex Story Girlfriend Sex Story Hindi Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

नये लंड की चाहत – ऑनलाइन चुदाई कहानी!!

उसने कहा- वेल, क्या पियोगे चाय, कोफ़ी या कुछ कोल्डड्रिंक्स?

मैंने कहा- डियर, आज मैं आपका दूध पीने के मूड में हूँ। तो उसने एक मीठी सी मुस्कान के साथ अपनी आँखें बंद की और उसके स्तन मेरे हाथ में दे दिया.

हम दोनों ऐसी जबरदस्त चुदाई कर रहे थे या वो मेरी ऐसी जबरदस्त ताबरतोड़ चुदाई कर रही थी, समझ में नहीं आ रहा था कि वो मुझे चोद रही है या मैं उसे चोद रहा हूँ। तो प्लीज मेरी इस कहानी (नये लंड की चाहत – ऑनलाइन चुदाई कहानी) को बिना स्किप किये पूरा पढ़े 🙏 तभी मज़ा आएगा।

इस Couple Sex Story पूरा पढ़े और मज़ाले दो जवान लड़का और लड़की की ऑनलाइन मीटिंग की चुदाई कहानी का। ये कहानी बहुत ही कामुक, सेक्सी और हॉट है, तो तरुण ने हमारे साथ अपनी कहानी साझा की है तो प्लीज इसे पूरा पढ़े

वैसे आप सभी दोस्त मुझे जानते ही हो।

मेरा नाम तरुण है. मैं अहमदाबाद के रहने वाले हूँ. लेकिन अब मैं जामनगर में रह रहा हूँ. आप सभी मेरी कहानियों को पढ़ा है.

आप लोगों के मुझे मेल के बहुत सारे मिला है. उस से एक कहानी आप लोगों के सामने मैं लिख रहा हूँ.

एक दिन एक मेल आया और मुझसे कहा कि कोन्टक्ट मी।

तो मैंने जवाब दिया और ऑनलाइन टाइम दिया। और मैं उसे मेल करके अपना पीसी बंद ही कर रहा था कि उसका रिप्लाई मेल ओन थिस स्पॉट आया और उसी वक्त हम ओन-लाइन मिले, मैंने उससे पूछा तुम कोन हो?

उसने बताया- मैं 34 साल की विवाहित औरत हूँ और आपकी कहानी मुझे बहुत पसंद आई।

मैंने पूछा- मैंने तो बहुत कहानियाँ लिखी हैं, आपको कौन सी पसंद आई? उसने कहा- ” दु:खी मकान मालकिन चुद गई “।

मैंने उसे कहा- बोलिये, मैं आप के लिये क्या कर सकता हूँ?

उसने कहा- आप जानते ही हो। मैंने कहा- सॉरी, मुझे नहीं पता कि तुम क्या कहना चाहती हो? उसने कहा- मुझे बताने में शर्म आती है।

मैंने कहा- आपके और मेरे बीच जो बात होगी वो किसी तीसरे को पता नहीं चलेगी। उसने कहा- मैं तुम्हारे साथ सेक्स एन्जोय करना चाहती हूँ।

 उसकी इन बातो से मेरा लुंड खरा हो रहा था और मेरी अन्तर्वासना जाग रही, में बस उससे मिलके उसको चोदना चाहता था। 

मैंने कहा- ठीक है, बताओ कब, कहाँ मिलना है?, उसने कहा- मुझे नहीं पता, तुम ही बताओ। मैंने कहा- बताओ तुम्हारा नाम क्या है और कहाँ रहती हो? उसने कहा- मेरा नाम आशा है और मैं जामनगर में रहती हूँ।   उनका नाम बदला हुआ है।

मैंने कहा- आपके घर में कौन कौन है? उसने कहा- मैं और मेरे पति।

मैंने कहा- तो क्या प्रोब्लम है? तुम्हारे घर पर ही मिलते हैं।

उसने कहा- नहीं, मुझे बहुत डर लगता है, किसी होटल में मिलें? मैंने कहा- देखो, होटल से घर ज्यादा सेफ़ रहता है।

कुछ देर बाद उसने कहा- ओ के ! मेरे पति अगले मंगलवार को बिजनेस के काम से बाहर जाने वाले हैं। तुम मुझे अपना फ़ोन नम्बर दे दो, मैं तुम्हें काल करुंगी। मैंने कहा- ठीक है।

मंगलवार को उसने मुझे फोन किया उसकी आवाज़ बहुत ही सेक्सी थी उसके बात करने का अंदाज भी काफ़ी सेक्सी था; उसने कहा- मेरे हबी 12 बजे बाहर जाने वाले हैं, तुम एक बजे आ जाओ, और उसने अपना पता दिया। मैं ठीक उसके दिये हुये टाइम पर उसके घर पर पहुंचा और डोरबेल बजाई तो उसने दरवाजा खोला। मैं तो उसे देखता ही रह गया क्या लुक था उसका 5’6″ हाईट, गोरा रंग और सेक्स बम दिख रही थी।

मैं तो उसे देखता ही रह गया। उसने पूछा- क्या है? ‘आशा?’

उसने हाँ में सर हिलाया, मैंने कहा- मैं तरुण हूँ।

तो उसने मुझे वेलकम किया और हम अंदर गये और उसने दरवाजा बंद कर दिया। उसका फ़्लैट काफ़ी शानदार था। उसने मुझे बैठने को कहा और वो पानी लेने किचन में चली गई। उसने साड़ी नाभि के नीचे से बांध रखी थी और जब वो चल रही थी तो उसकी बैक साइड बैकलेस ब्लाउज़ होने की वजह से क्या कयामत ढा रही थी्।

वो पानी लेकर आई और पूछा- घर ढूंढने में कोई परेशानी तो नहीं हुई?

मैंने कहा – डियर, मैं इसी शहर में रहता हूँ, क्या परेशानी होती।

फिर उसने कहा- वेल, क्या पियोगे चाय, कोफ़ी या कुछ कोल्डड्रिंक्स?

मैंने कहा- डियर, आज मैं आपका दूध पीने के मूड में हूँ। तो उसने एक मीठी सी मुस्कान के साथ अपनी आँखें बंद की और उसके स्तन मेरे हाथ में दे दिया और अपने होंठ आगे किये और कहा- लो डियर, पी लो, काफ़ी गर्म हैं।

मैंने कहा- श्योर !

और हम फ़्रेंच किस करने लगे, मैं एक हाथ से उसके बालों, गर्दन और कमर को सहलाने लगा और दूसरे हाथ से उसकी जांघें सहलाने लगा।

और हमारे लब और जीभ एक दूसरे में समा गये। 15 मिनट किस करने के बाद उसने कहा- तरूण, यहाँ नहीं, बेडरूम में चलो।

मैंने कहा- चलो जान !

वो मुझे बेडरूम में ले गई, वो आगे चल रही थी और मैं उसके पीछे ! बेडरूम में जाकर मैंने उसे पीछे से पकड़ कर अपने से जकड़ लिया और उसके उरोज दबाने लगा और उसकी गर्दन और कंधे पर चुम्बन करने लगा। धीरे से उसके कान पर लव बाइट किया तो तिलमिला उठी और घूम कर मेरे सीने से लिपट गई। मैं उसकी पीठ और हिप्स को सहलाता रहा और वो मुझे कसके पकड़े खड़ी रही।

फिर मैंने उसका चेहरा जो मेरे सीने में उसने छुपा लिये थे वो ऊपर किया और हम किस करने लगे। मैंने उसके बूब्स सहलाते सहलाते उसकी साड़ी उतार दी और ब्लाउज़ के ऊपर से उसके बूब्स दबाने लगा।

वो – आआअह्हह्ह आआअह्ह करने लगी।

फिर मैंने एक हाथ उसके पेटीकोट के ऊपर से उसकी चूत पर रखा तो वो पहले से ही गीली हो गई थी, मैंने चूत को थोड़ा सहलाया फिर उसके ब्लाउज़ और पेटीकोट को उतार दिया और वो मेरे सामने केवल ब्रा और पैंटी में खड़ी थी। खुले रेशमी बाल ऐसा लगता था कि कोई मार्बल का स्टेच्यु हो वो किसी फिल्म में।

आशा को मैंने उसे सर से लेकर पांव तक उसके बदन के हर एक अंग को चूमा वो मेरे हर एक किस पर सिसकती जाती थी।फिर वो बोली- मुझे और मत तड़पाओ डियर… अब मुझसे सब्र नहीं होता। उसने मेरे सारे कपड़े फ़टाफ़ट निकाल दिये और मेरी बदन को अपने हाथों से सहला के मेरे लौड़े को पकड़ कर सहलाने लगी और नीचे घुटनों के बल बैठ के मेरे लौड़े को मुंह में लेकर लोलीपोप की तरह चूसने लगी।

वो मेरा लंड ऐसे चूस रही थी जैसे Bhabhi Sex Story and Bhabhi comics में सविता भाभी चूसती है बहुत बहुत मज़ा आ रहा था, ऐसा लग रहा था मेरा लंड पिघल जायेगा।

मुझे भी बड़ा मज़ा आ रहा था दोस्तो, पूरी बोतल का नशा छा रहा था, मैं मदहोश हुआ जा रहा था, क्या बताऊं क्या हालत हुई थी मेरी उसके लंड चूसने से।

फिर मैंने उसे उठाया और हम बेड पे गये। मैंने उसकी ब्रा और पैंटी उतार दी और उसको लिटा कर उसे किस किया फिर उसके बूब्स क्या कयामत थे, उन्हें दबाया और उसकी निप्पल को चूसा। जब मैं उसकी निप्पल पे अपनी जीभ घुमाता था,

तब वो – आअह्हह स्सस्सहुसूऊऊओ और दबवूऊऊओ आआअ मज़ा आआअ रह्हह्हह आआअहे डियर !!!!!!

सच कहूँ दोस्तो वो इतनी गोरी थी कि जब मैंने उसके चूचे दबाये तो वो एकदम लाल हो गये। फिर थोड़ा नीचे होकर मैंने उसकी नाभि में जीभ घुमाई तो वो मेरे बालों को पकड़ कर मुझे हटाने लगी। फिर मैं थोड़ा और नीचे हुआ और उसके दोनो पैरों को खोल कर उसकी चूत पर मैंने अपने होंठ रखे और किस किया। वो बोली- कितना तड़पा रहे हो सुनील, प्लीज़ जल्दी से खा जाओ इसे !

मैं उसकी क्लीन शेव चूत को बड़े मज़े लेकर चाटने लगा। मेरी जीभ से ही वो दो बार झड़ गई, उसकी आवाजें सुन कर तो मुझे ऐसा लगा कि वो जिंदगी मैं पहली बार चुदवा रही हो, ऐसा रियेक्ट कर रही थी। उसने कहा- तुमने तो मुझे चाट कर ही ढीला कर दिया।

मैंने कहा- मेरी जान, तुमने एंजोय ही तो करना था न, बोलो हुआ कि नहीं एंजोय?

उसने कहा- हाँ बहुत…..!!!!!!!

फिर मैंने उसको चित्त लिटाया और उसकी टाँगों को फैला कर मैंने बीच में आकर अपना लंड उसकी चूत पर घिसने लगा।तो उसकी यह हालत हो गई कि उसके मुँह से ठंडी-ठंडी साँसें निकलने लगीं और

कहने लगी- तरूण. जल्दी से पेल दो.. तड़पाओ मत!

लेकिन मुझे मज़ा आ रहा था, मैं उसकी चूत पर ही लौड़ा मसलता रहा तभी अचानक उसके मुँह से एक सिसकी निकली और वो झड़ गई

उसी वक्त मैंने एक हल्का सा झटका दिया तो मेरा टोपा उसकी चूत में चला गया और उसकी चीख निकल गई।मैंने एक और झटका दिया तो मेरा आधा लंड उसकी चूत के अन्दर घुस गया और फिर एक और झटका दिया तो पूरा उसके अन्दर घुस गया और

वो चीखने लगी- बाहर निकालो। लेकिन मैंने बाहर नहीं निकाला, बस झटके देने रोक दिए।

और उसके ऊपर ही लेटा रहा और उसके होंठों पर चुम्बन करता रहा। एक-दो मिनट के बाद उसको भी मज़ा आना शुरू हो गया तो वो नीचे से हिलने लगी, तब

मैंने भी आहिस्ता-आहिस्ता झटके देने शुरू कर दिए और उसके मुँह से ‘आआआआआहह ऊऊऊहह और ज़ोर से..’ की आवाज़ें आने लगीं।

फिर मैं साइड में लेट गया और वो मेरे लंड को थोड़ी देर के बाद मेरे लंड के उपर सवार हो गई। क्या स्ट्रोक लगा रही थी वो।

दोस्तो जब वो मेरा लंड अपनी चूत में लिये आगे पीछे हो रही थी और – आह्ह्हाअह कम ओन आह्ह्हाअह आआ अह आह कर रही थी,

उसके बूब्स जो उछल रहे थे उसे देख कर मेरा सेक्स पावर और बढ़ गया वो मेरे सीने को सहलाते हुए स्ट्रोक कर रही थी और साथ साथ में किस भी कर रही थी और में उसके गोरे गोरे बूब्स भी दबा रहा था।

वो तो आह्ह्हाअह आह्ह्हाअह आआ अह आह कम ओन मी चोदो चोदो मुझे फ़क मी ! कर रही थी।

समझ में नहीं आ रहा था कि वो मुझे चोद रही है या मैं उसे चोद रहा हूँ।

वो ऐसे ही दो बार झड़ गई और बोली- बस अब और नहीं !

तो मैंने कहा- डियर, अभी तो तुम्हारा ही हुआ है, मेरा तो कुछ एंजोयमेंट करो !

तो वो साइड में लेट गई और मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसकी लाल लाल चूत में लंड डालकर उसे चोदने लगा। थोड़ी देर में मेरा भी निकलने वाला था तो

मैंने कहा – मेरा माल निकलने वाला है ।

उसने कहा- चिंता मत करो, अंदर ही डाल दो, मैं गोली ले चुकी हूँ।

और मैं उसे चोदते चोदते उसकी चूत में ही झड़ गया, मेरे माल से उसकी चूत चिकनी हो गई। हम रिलेक्स होकर बेड पे लेट गये एक दूसरे को चिपक कर।

मैंने उससे पूछा- डियर, तुम क्या अपने पति से संतुष्ट नहीं हो क्या? तो उसने कहा- मैं अपने पति से बहुत संतुष्ट हूँ।

तो मैंने पूछा- तो तुम मेरे साथ एंजोय करना क्यों चाहती थी? उसने कहा- रोज एक ही तरीके के सेक्स से बोर हो गई थी, तो सोचा कुछ अलग करुं।

मैंने कहा- तो कैसा रहा? वह बोली- मैं बहुत खुश हूं. !तो मैंने कहा- जिसको जो चाहिये वो मिल ही जाता है।

फिर हम बाथरूम में जाकर फ़्रेश हुए और फिर मैं कपड़े पहन अपनी फ़ीस लेकर वापस चला आया और फिर हम मिलते थे जब वह चाहती

थी. उसने मेरे साथ उसकी सहेली को संपर्क किया और बाद मे दोनों की एक साथ चूत फाड़ी.

दोनों ने मिलकर मेरी हालत बेकार कर थी|

क्या क्या हुआ! मैं अगली कहानी में लिखूँगा|

आपको मेरी यह Desi Sex Story कैसे लगी, मुझे ज़रूर बताइए। और मेँ आपलोगो की भी कहानी पढ़ना चाहता हु तो अपनी भी कहानी भेजे।

Email :  [email protected]

आपको ये कहानिया भी पसंद आएगी !🧡

दिलकश मंजू की हॉस्पिटल में चुदाई

भाभी को रंडी बनाकर चोदा 👊😛

सेक्सी भाभी के साथ फोन सेक्स 😍✊💦

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *