/ / दो मुस्लिम मर्द और मेरी चुदासी माँ – 2
Bhai Behan Sex Story Couple Sex Story Desi Sex Story Group Sex Story Hindi Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

दो मुस्लिम मर्द और मेरी चुदासी माँ – 2

मम्मी आमिर के उपर से अब पल्ट कर दोनो के बीच आकर अपना पसीना सुखाने लगी ओर तीनो दस मिनट तक चुपचाप लेटे रहै। पसीना सुखने पर आमिर ने कहा – मै कुछ खाने को लाता हू ओर वहा पडी लुगी लपेटकर नीचे चला गया। 

मम्मी शोकत के उपर लेट गयी आमिर के जाते ही ओर उनको चुमने लगी – भाईजान सच मे आज तो यू लगा जैसे मै जन्नत मे ही पहुंच गई भाईजान हमेशा अपनी बहन का ख्याल रखना। 

पिछला भाग – दो मुस्लिम मर्द और मेरी चुदासी माँ

तो शोकत ने – जब तक लंड मे तनाव बरकरार है तब तक जरूर अब तो बुढे हो रहै है जब तक लंड खडा होगा तबतक जरूर ख्याल रखेगे। 

तो मम्मी ने कहा – चलो ठीक है देखती हू मेरे हुस्न के आगे तनाव कम केसै हो जाएगा 

तो शोकत ने कहा – हा ये तो बिल्कुल सही कहा तुमने तुम्हारा हुस्न देखकर तो बुढे बुढो का खडा हो जाए ओर हंसने लगे। 

तभी आमिर एक तरबूज काटकर ले आए ओर कमरे मे दोनो को लिपटकर बाते करते देख, 

पूछने लगे – हमारी चुगली हो रही है क्या, ओर शोकत से कहने लगे क्यो शोकत भाई तुम्हारी बहन खुश तो है हमारी सेवा से??!! 

तो शोकत ने कहा – बताओ बहन आमिर की सेवा मे कमी तो नही कोई 

तो मम्मी ने कहा – लाखो मे एक लडका ढुढा है आपने मेरे लिए कमी केसै होगी आप अब इनसे ही पूछो मे तो ठीक लगी ना पसंद भी आयी हू की नही 

तो आमिर ने कहा – पसंद ना आती तो आप अपने घर पर होती ना 

तो मम्मी ने कहा – देखो भाईजान अपनी बेगम को आपके सामने क्या कह रहै भाईजान क्या ये मेरा घर नही है, आपके जीजा तो बहुत ही बेकार है, अपनी बेगम को हरदम अपने घर पर ही भेजना चाहते है, 

बेगम का घर तो उसके शोहर का घर ही होता है ना… भाईजान!! 

तो शोकत ने कहा – हा बहन सही कहा, जीजा को ऐसा माल भोगने को दे दिया तो बात आने लगी, 

तभी आमिर ने – अरे बेगम गुस्सा मत करो, साले साहब नाराज हो गये, तो मेरा क्या होगा ओर हसने लगे, 

तीनो ने बेड पर बैठकर तरबूज खाकर खत्म कर के घडी की ओर देखा, तो चार बज रहे थे मम्मी ने कहा – समय का पता ही नही लगता कितनी जल्दी जल्दी निकल रहा है। 

तो आमिर ने कहा – जब इतनी हसीन बेगम साथ मै होगी तो समय क्यो नही निकलेगा 

ये सुनकर शोकत ने कहा – जीजा बिलकुल सही कहा मेरी बहन है ही इतनी खुबसूरत 

तभी मम्मी ने आमिर को नीचे लेटा दिया ओर आमिर की लुगी उपर कर के आमिर के लंड को मुहे भर लिया आमिर का सोया लंड भी चार इच का था। मम्मी की जीभ के स्पर्श से आमिर के लंड मै तनाव आने लगा। मम्मी कुतिया बनकर आमिर के लंड को गपागप चुसने मे लगी थी। 

तभी मम्मी ने शोकत को कहा भाईजान आप भी चुत का रस पी लो ना ऐसी क्या नाराजगी है अपनी बहन से ओर अपनी गांड को हिलाने लगी। तो शोकत बैड के नीचे उतारकर मम्मी की गांड पर झुककर उनकी गांड को चुमकर उनकी गांड को फैलाकर अपनी जीभ से गुलाबी चुत को चाटने लगा। मम्मी भी गांड को उचकाकर चुत चटवाने का मजा लेने लगी अब इधर नीचे आमिर का लंड अपने विशालकाय आकार मे आकार मम्मी के मुह को चोदने लगा। 

आमिर का लंड बडी मुश्किल से पुरा मुह ले पा रही थी, मम्मी मगर कहते है ना, दोस्तो दर्द मे ही असली मजा है, ओरत को चुदाई मे जितना दर्द मिलेगा वो उतनी ही खुश होगी। 

ये बात आमिर अच्छे से जानता था ओर इसतरह दस बारह मिनट के बाद मम्मी ने अपना कामरस अपने भाईजान के मुह मे ही छोड दिया ओर शोकत कामरस को चाटकर अब मम्मी की गांड पर थप्पड मारने लगा। ओर खडे होकर अपना लंड मम्मी की चुत पर रगड़ने लगा ओर तभी एक झटके मे शोकत ने अपना लंड मम्मी की चुत के अंदर तक घुसैड दिया ओर खडे खडे अपने मूसल लंड से मम्मी की चुत को चोदने लगा। 

मम्मी के मुह मे आमिर का लंड होने के कारण चाहकर भी वो अपनी चीखे बाहर नही निकाल सकी ओर दर्द को सहती रही मम्मी लगातर लंड चुसे जा रही थी। जिससे आमिर का लंड का टोपा सुर्ख लाल हो गया ओर लंड की नसे चमकने लगी मम्मी का मुह भी अब दर्द करने लग गया था ओर इस तरह दस मिनट के बाद मम्मी एक बार फिर से झड गयी। 

तो मम्मी ने आमिर के लंड को मुह से बाहर निकाला ओर कहने लगी – भाईजान बहन का सारा मजा आप अकेले ही ले लेगे, तो मेरे शोहर क्या करेगे! 

फिर तभी आमिर ने कहा – बेगम भाईजान को खुश कर दो आज तुम तो मेरे पास ही रहोगी ना 

तो मम्मी ने कहा – नही जी मेरे शोहर की खुशी का भी ख्याल रखना जरूरी है, बेगम हू आपकी, 

तो ये सुनकर शोकत ने कहा – आओ जीजा अब आप ही चढाई करो, वर्ना मेरी प्यारी बहन नाराज हो जाएगी! 

तो मम्मी ने कहा – नही भाईजान आपसे क्यो नाराज हो जाऊगी, मेने भी बहुत सी Antarvasna Hindi Stories की किताबे पढ़ी है, आओ आप मेरे पास अभी मेरे भाईजान के ओजार को मजा देती हू, उसका ख्याल भी रखना जरूरी है ना! 

तो शोकत मम्मी के आगे आकर लेट गया ओर मम्मी के पिछे आमिर पहुंच गया ओर उनकी गांड की छेद को चुमने लगा अपने थूक से मम्मी की गांड को गिला कर के आमिर ने अपनी स्टाइल मे लंड के  सुपारे को अंदर डाला। ओर फिर एक झटके मे गांड मे ठोक दिया ओर आमिर का लंड अब मम्मी की गांड की चीथड़े उडाने लगा। 

तो मम्मी चिल्लाने लगी – भाईजान अपने जीजा को कहो ना… अपनी बेगम को जरा प्यार से चोदे… 

तो शोकत ने कहा – बहन प्यार से करेगे तो तुम्हारे लिए कुछ दिनो मे शोहर ओर ढुढना होगा नया ओर हसने लगा! 

आमिर के तेज झटको से मम्मी की गांड मे जो चुद चुदकर गोदाम बन चुकी थी उसमे भी दर्द होने लगा। 

मगर मम्मी के मुह मे उनके भाईजान का मूसल लंड था इसलिए वो बस मम्मी के मुह से गु! गु! की आवाज ही निकल रही थी। 

बस 15 मिनट के बाद मम्मी की चुत का झरना फिर से बहने को तैयार था तो मम्मी ने एक हाथ उपर उठाकर अपनी गांड पर रखे आमिर के हाथ को पकडकर दबा दिया ओर उसके हाथ से चुत चाटने को इशारा करने लगी। आमिर ने जल्दी से अपना लंड निकाला ओर मम्मी की चुत पर अपनी जीभ को रख दिया ओर चुत के अंदर जीभ डालकर चाटने लगा। 

जीभ लगते ही मम्मी ने आमिर के सर को अपनी जाघो मे दबा लिया तो आमिर जोर से चुत को चाटने जिससे मम्मी की चुत का झरना आमिर के मुह पर बहने लगा। 

आमिर ने सारा रस चाट लिया ओर शोकत को कहा – शोकत साहब अब आपकी बहन को मिलकर जन्नत की सैर करवा दे! 

इधर शोकत का लंड चुस चुसकर मम्मी ने लाल कर रखा था! 

शोकत ने कहा – जरूर! आमिर! 

तो आमिर एक बार फिर बेड पर लेट गया ओर मम्मी को कहा – आओ बेगम तुम्हे जन्नत की सैर करवाते है, 

मम्मी ने कहा – जिसका शोहर आप जैसा ताकतवर हो ओर जिसका भाई इतना शक्तिशाली होगा तो जन्नत की सैर तो करेगी ही वो 

लंड को पकडकर अपनी चुत की गहराई मे समा लिया, तभी गांड को फैलाकर शोकत ने अपने लंड के गीले सुपारे को गांड के अंदर डाल दिया ओर फिर दोनो ने मम्मी की चुदाई शुरू कर दी। कुछ देर के बाद ही मम्मी की आवाज दर्द से चीख मे बदलने लगी, 

ओर हाय आह आह हाय हाय आह आह 

कर के चीखने लगी ओर आमिर ओर शोकत ने 20 मिनट तक मम्मी को पूरी ताकत से पेला ओर तीनो अपने चरम पर पहुंच गये। 

मम्मी ने कहा – भाईजान गांड मे मत डालना 

ओर आमिर से कहा – आप भी भूलना मत 

दोस्तों इस Desi Sex Story in Hindi में मम्मी को खूब चोदा है दोनों ने और ये सुनते ही शोकत ने गांड से लंड निकालकर मम्मी के सामने आकर मुह मे ठुस दिया, मम्मी गपागप लंड को चुसने लगी! इधर आमिर भी नीचे से गांड उठाकर जोर से चुत का भोसडा बनाने मे लगा हुआ था। 

तभी दो मिनट के बाद शोकत के लंड ने गर्म गर्म वीर्य से मम्मी के मुह को भर दिया ओर मम्मी ने एकबार ओर शोकत के लंड को चाटकर अच्छे से साफ कर दिया तभी आमिर अपने चरम पर पहुंचने लगा। 

तो मम्मी को कहा – बेगम जल्दी से आ जाओ नीचे 

मम्मी जल्दी से खडे होकर 69 मे आ गयी ओर आमिर के लंड को मुह मे भर लिया ओर प्यार से अंदर बाहर करने लगी। आमिर उत्तेजित होकर जोर से मम्मी की चुत को चाटने लगा जिससे दोनो एक साथ झडने लगे। मम्मी आमिर का वीर्य पीकर उसके लंड को बाहर निकालकर उसकी गोलीयो से लेकर सुपारे तक चाटकर साफ करने लगी। 

तो उधर आमिर ने मम्मी के कामरस की आखिरी बूंद तक चुत से चाटकर साफ कर दी अब मम्मी पल्ट कर बेड पर लेट गयी ओर तीनो सुस्ताने लगे दस मिनट सुस्ताने के बाद शोकत खडा होकर कपडे पहनने लगा। 

तो मम्मी ने कहा – क्या हुआ भाईजान 

तो शोकत ने कहा – अब जाना होगा अगले हफ्ते जब आना हो तो बता देना ओर घडी देखकर कहा 5 बज गये है, 

ओर फटाफट कपडे पहन लिये तभी आमिर खडा हुआ 

तो मम्मी ने – अब आप कहा जा रहै 

तो आमिर ने कहा – बेगम अपने साले साहब को नीचे छोड़कर आ रहा हू 

तो शोकत ने कहा – बहन जन्नत की सैर हुई की नही आज 

तो मम्मी ने कहा – आज तो जीजा ओर साले ने मिलकर दिन मे चांद तारे दिखा दिये ओर हंसने लगी! 

तभी शोकत सलाम करने जाने लगा तो मम्मी ने बैड पर घुटनो के बल खडी होकर अपनी बाहो को फैला दिया शोकत भी अपनी बाहो को फैलाकर मम्मी के गले लग गया ओर कमर पर हाथ फेरने लगा। मम्मी ने शोकत को किस कीया ओर सलाम भाईजान कहकर शोकत को जाने की परमिशन दे दी। 

आमिर शोकत के जाते ही दरवाजे को लोक कर के अंदर आ गया ओर बेड पर लेट गया मम्मी आमिर के गले लगकर लिपट गयी 10 मिनट के बाद। 

मम्मी ने कहा – अब अपनी बेगम को जाने की इजाजत दे दो 

तो आमिर ने कहा – एक शोहर अपनी बेगम को भला जाने की इजाजत केसै दे सकता है ओर मम्मी को किस करने लगा! 

तो मम्मी ने कहा – आपकी बेगम के बच्चे छोटे है उनके लिए तो जाना ही होगा ना 

तो आमिर ने कहा – हा बेगम इजाजत है मगर कल सुबह जल्दी आना लेट मत करना ओर बच्चो को प्यार देना मेरा भी 

तो मम्मी ने कहा – आपका प्यार तो सिर्फ मै ही लूगी ओर कोई नही ओर हसने लगी! 

मम्मी बैड से खडी हुई ओर नीचे फर्श पर पडी अपनी ब्रा को उठाकर उसे झडकाकर पहनने लगी। फिर पेटी उठाकर पहनी ओर साइड मे पडी टीशर्ट पहनी ओर आखिर मे सोफै पर पडी जीन्स पहन ली ओर ड्रेसिंग के सामने गांड तक लंबे बालो को झुलझाकर चोटी बनाने लगी। 

चोटी बनाकर मम्मी तैयार हो गयी घर जाने को मम्मी को छोडने आमिर उनके साथ नीचे आया तो बाहर निकलने से पहले कमरे मे आमिर को गले लगाया ओर दो मिनट तक कीस कीया आमिर को अब मम्मी घर आ गयी 6 बजे से पहले ही मम्मी जब घर पहुंची तो उनकी चुत ओर गांड मे दर्द होने लगा। 

मगर मम्मी इस दर्द से अब खुश थी दो साल तक आमिर जयपुर मे ही रहा ओर तब तक आमिर ओर मम्मी ने खुब मजे लुटे मिलकर बीच बीच मे शोकत भाई भी मिलकर मम्मी के मजे को दुगना कर देते थे।

कहानी अभी जारी है, पढ़ते रहिये मेरी माँ की अन्तर्वासना की आत्म कथा को, और मिलते है अगले भाग में।

Writer – Rohit Kumar, [email protected]

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
9k
+1
8k
+1
1k
+1
3k
+1
5
+1
57

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *