/ / अनलिमिटेड चुदाई – गैंगबैंग कहानी
Bhabhi Sex Story Desi Sex Story Family Sex Story Group Sex Story Hindi Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

अनलिमिटेड चुदाई – गैंगबैंग कहानी

अभी तक उन लोगो ने मुझे अनलिमिटेड बार कहा कहा नहीं चोदा जंगल, होटल, टॉयलेट, स्टोर रूम, कार सब जगह चुद गयी हु। मे उठी तो फक के उनका लोडा निकल गया! सब लोग अपना अपना कंडोम ले आये और ठाकुर जी चार गिलास ले आये सब लोगो ने अपना अपना वीर्य अलग अलग गिलास मे इकठा किया और…, जानने के लिए कहानी पूरी पढ़े।

हेलो में हरलीन संधू, रायपुर छत्तीसगढ़ से मेरी उम्र 48 है मेरी ऊंचाई 6.1 है मे एक हट्टी कट्टी पंजाबन हु। में हाउसवाइफ के साथ साथ मार्केटिंअर भी हु मेरे पति का कपड़े का बिज़नेस है।

मेरी 2 बच्चे है लड़का और एक लड़की। तो में हॉर्नी एंड सेक्सी पति के दोस्तों से अपनी भाभी की गैंगबैंग चुदाई की स्टोरी सुरु करती हु। बात 4 मंथ पहले की है मेरे हस्बैंड ने घर मे अपने दोस्तों के लिए एक गेट टुगेदर रखा था। जिसमे उनके कुछ दोस्त आने वाले थे।

मैंने खाना बनाना सुरु कर दिया मैंने रात 8 बजे तक सारा काम ख़तम कर दिया।

उनके दोस्त आये सब मस्त बाते करने लगे मैंने बच्चों को खाना वाना खिलाकर उनको उनका होमवर्क ख़तम करके सो जाने को बोल दिया। बच्चे ऊपर चले गए। मैंने उस दिन ब्लैक कलर की सलवार वाइट कलर की लगींगन्स के साथ पहन रखी थी। में बता दू मेरी साइज बहुत बड़ी है 36-32-40 की।

उनके केवल 4 दोस्त आये हुवे थे, मनोज, ठाकुर जी, बंसल जी, और राजन, सब की उम्र 50+ थी। जो ठाकुर जी थे वो मुझे जब से आये थे हवस भारी निघाहो से देख रहे थे। मे भी जानबूझ कर उनके सामने अपनी गांड दिखा रही थी झुक झुक के मुझे सेक्स किये लगभग 3 साल हो चुके थे और मेरे पति का बहुत छोटा है मुझे संतुष्ट नहीं कर पाते, और कभी कभी अन्तर्वासना गैंगबैंग सेक्स स्टोरी पढ़के काम चला लेती थी। 

खैर, उनलोगो का चकना ख़तम हो गया मे फिर से लेकर गयी सब मस्त पी रहे थे। मे रूम मे गयी सब हलकी हलकी नशे मे थे मे जाके ठाकुर जी के एक दम सामने अपनी गांड रख के चकना रखने के लिए झुकी और कुछ देर ऐसे ही बोतलस को इधर उधर करने लगी। फिर उठ के रूम के बाहर चली गयी और उनकी बाते सुनने लगी वो लोग मेरे पती से कह रहे थे की तू कितनी किस्मत वाला है बे जो इतनी अच्छी खूबसूरत वाइफ मिली तुझे। और पिने लगे और मनोज बोले की मेरे को सिगरेट पीना है पर वो लोग नहीं पकड़ रखे थे तो मेरे हस्बैंड बोले रुको मे लेकर आता हु। और बगल के शॉप मे चले गए।

उनके जाने के बाद चारो मेरे बारे मे बाते करने लगे ठाकुर बोले साली भाभी क्या चीज है यार मस्त कड़क देख के लोडा मूड बन जाता है उसकी गांड एक बार मिल जाये तो कहा जाऊंगा साली को तीनो लोग भी हाँ मे हाँ मिलाने लगे और बोले सुन ना आज कुछ जुगाड़ करते है भाभी जी का क्या ख्याल है। राजन बोला संधू भी तो है कैसे करेगा उसके सामने उसी की पत्नी को ठाकुर बोले उसका टेंशन मत ले उसको पिलाते है आज भरपूर। बंसल जी बोले तो साले भाभी को कैसे मनाएगा।

ठाकुर अबे फुल लाइन दे रही है वो तो पट जायगी साली फिर चारो मिलके। और सब हसने लगे मेरे पति आ रहे थे तो मे वहा से ऊपर भाग गयी और इमेजिन करने लगी 4 लंड जायगा तो कैसा लगेगा मे और उत्तेजित होती जा रही थी। साथ ही डर भी रही थी की कैसे होगा पर कहते है ना हवस के सामने सब बेकार है आपको बता दू मे बहुत चुदक्कड़ थी। 

शादी से पहले बहुत चुदी हु पर एक साथ दो या उससे ज्यादा लोडा नहीं ली। ऐसे ही वो लोग मस्ती कर रहे थे 15 मिनट बाद हस्बैंड ने आवाज लगाई मे रूम मे गयी उन्होंने मुझे सब गिलास, बोतल को ले जाने को कहा मे उठाने लगी पर सब नहीं उठा पर रही थी।

फिर ठाकुर जी ने बोला लाइए भाभी मे आपकी मदद कर देता हु और बाकि का बोतल पकड़ के पीछे आने लगे मे जान बूझ कर गांड बहुत मटका रही थी फिर मे किचन मे पहुंची बस हम दोनों किचन मे थे।

मैंने गिलास रखी और उनसे बोतल मांग के किनारे मे रख दिया और बोली चलिए मे आप लोगो के लिए खाना लगा देती हु सब फ्रेस हो जाइये। वो बोले भाभी जी बस खाना ही खिलाओगी। मे अंजान बनके जी तो और कुछ तो नहीं है खाने को। वो बोले अजी बहुत है पर आपके ऊपर डिपेंड करता है की खिलाओगी की नहीं (मे सब समझ रही थी)मे बोली जी मेरे बस मे होगा तो बिलकुल। वो हसने लगे और बोले मे आप को एक बात बताऊ बुरा मत मानना। मे बोली जी बोलिये उधर से उनके दोस्तों का आवाज आया किधर गया भाई जल्दी आ। वो बोले आता हु रुक।

मे पूछी क्या बताने वाले थे बताइयये वो बोले – भाभी जी मुझे संधू आपकी बिलकुल क़द्र नहीं करता साला बाहर चक्कर चलाता है पता है आपको उसकी अफेयर चल रही है आपको धोखा दे रहा है वो चूतिया!!

मुझे इतना ख़राब लगा की पूछो मत।😫😤

उन्होंने बताया की वो हर वीक उसके पास जाता है वो सब करने।

मे बोली – तो आप मुझे क्या बता रहे हो समझाओ उनको ऐसा ना करें

वो बोले – बहुत समझाया जी पर मानता नहीं।।

मे बोली – ठीक है मे समझाती हु उनको और सिंक के पास गिलास धोने चली गयी।

फिर वही हुआ जो मे चाहती थी ठाकुर जी ने मुझे पीछे से पकड़ के वही दबा दिया मे बोली क्या कर रहे हो आप छोड़े मुझे (पर मुझे मजा आ रहा था)

वो बोले – भाभी जी मे आपको बहुत प्यार करता हु… आइ लव यू भाभी जी और मेरे बूब्स को दबाने लगे और उनका लोडा मुझे अपनी गांड मे साफ साफ महसूस हो रहा था,

मे और झुकी और छोड़ने को बोल रही थी। 

वो बोले – नहीं भाभी जी बस एक बार दे दो प्लीज!! 

मे – क्या दू? 

वो बोले – चोदने दो ना भाभी जी आप जो बोलोगी करूँगा 

मे बहुत खुश थी और बोली – कोई आ जायगा प्लीज जाइये यहाँ से 

वो बोले – चला जाऊंगा बोलो आप दोगी की नहीं, 

मे – ठीक है आप जाइये बाद मे अभी आपके भाई साहब है! 

वो बोले – एक किश दो ना जी! 

और सीधे करके मुँह मे लपक लिए उनकी मुँह से बहुत स्मेल आ रही थी दारु की फिर भी मे साथ देने लगी और उन्होंने अपने हाथ मेरे दोनों कुलहो पर रख के मसलने और फैलाने लगे, मुझे बहुत अच्छा लग रहा था। 

कुछ देर बाद वो हटे और बोले – भाभी जी मे अभी आता हु, आप रेडी रहो! 

मे बोली – आपके भाई साहब तो है अभी नहीं बनेगा। 

वो बोले – हम उसका कुछ करते है आप चिंता मत करो। 

मे बोली – हम मतलब??? 

तो उन्होंने बताया – सारे दोस्त आपके साथ करना चाहते है भाभी जी प्लीज मना मत करना… प्यार प्यार से करेंगे… 

मे – देखते है जाइये अभी (मन ही मन बहुत खुश हो रही थी!)

वो चले गए। मे भी ऊपर बच्चों को देखने गयी, दोनों सोने लगे थे, मैंने उनका दरवाजा बाहर से लॉक कर कर नीचे आ गयी। कुछ देर बाद मुझे ठाकुर जी ने आवाज लगाई भाभी जी जरा आइये तो मे फुल एक्सिटमेंट के साथ गयी। तो देखि पति जी फुल होके पड़े है और सब होश मे है। 

वो बोले – ईसे सुला दीजिये और ऐइये हमारे पास!! 

फिर उनको उठा के हम रूम मे लेजाकर सुला दिए और जहा सब थे वहा चली गयी सब हवसी थे मुझे ठाकुर जी ने खींच के अपनी गोदी मे बिठा लिया। उनका लोडा बिलकुल मेरी गांड की दरार मे था मे उस पर और दबाव बना रही थी, 

और बाकि लोग बोले – भाभी जी आज तो प्लीज हमें अपना जलवा दिखा ही दीजिये 

और तीनो मेरे पास आके बैठ गए, एक दो लोगो ने मेरी जांगो पर अपना हाथ रखा और फेरने लगे और मनोज सीधे मुँह को किश करने लगा। 

मे हटा दी और कहा – आप लोगो के पास कंडोम है बिना कंडोम के नहीं दूंगी!!! 

पर वो लोग नहीं रखे थे, तो उनका नया जो दोस्त था वो तुरंत निकाल गया कंडोम लेने और हमने साड़ी विंडो और दरवाजे बंद कर दिए। मे एके बिच मे खड़ी थी बंसल जी ने सीधे मेरे लिप्स मे किश किया और मनोज मे सलवार ऊपर करके गांड को सूंघने और चाटने लगा। ठाकुर जी देख देख के अपना लोडा बाहर निकले क्या मस्त बड़ा था देख के मे सिहर गयी थी। कुछ देर बाद मैंने अपनी सलवार उतर दी और लेगिंग्स की रस्सी ढीली कर दी। 

मनोज ने लेगिन निचे कर दी और चड्डी भी झाट से निचे कर के गांड फैला के मुँह डालने लगा बहुत मजा आ रहा था। बंसल जी बूब्स को बाहर निकाल के चूस रहे थे कुछ देर बाद दरवाजा खटखटाई कंडोम वाला आ गया था। 

पूरा 5 पैकेट था। सब लोग अब नंगे होने लगे सब का लोडा घोड़े जैसा था बहुत मस्त मस्त सब ने अपने लंड पर कॉन्डोम चढ़ा के मेरे चारो ओर खड़े हो गए और बॉडी से लोडा घिसने लगे मे बैठ गयी। मनोज आगे खड़ा था बंसल जी और ठाकुर जी बगल मे और एक मेरे पीछे मैंने मनोज का लंड लपक के मुँह मे ले लिया – अह्ह्हह्ह्ह्ह क्या तगड़ा गरम लंड था। 

और बगल वालो का हाथ मे ले के मसलने लगी सब बहुत गरम थे सभी मुझे गलिया दे रहे थे – साली रंडी… आज तेरे फड़ेंगे 

में चुसाई मे मस्त थी बिच बिच मे सब अपना जगह चेंज कर रहे थे सब का लंड 20 मिनट चूसने के बाद उन लोगो ने मुझे सोफे मे लिटा दिया बंसल जी फुद्दी मे अपना मुँह डालके चाटने लगे। 

मै – उह्ह्हज्ज्ज्ज्बजज क्या मस्त फीलिंग थी… 

एक ने बूब्स मे अपना हाथ साफ किया और दो लोडा हाथ मे था  कुछ देर बाद एक झटका महसूस की बंसल जी ने लोडा सीधे चुत मे घुसा दिया। 

मै – आ आ आ अह्ह्ह्हह्हहीईई! याह्ह्ह्हह्ह!! आराममममम… से… 

वो फुल स्पीड मे चालू हो गए मुझे हलकी हलकी पैन होने लगी – अह्ह्ह्हह! अह्ह्ह्हह! अह्ह्ह्हह! अह्ह्ह! ऑनननउमममममममम… 

करने लगे, ठाकुर जी ने मेरे बूब्स के बीच लोडा फसा के चोदने लगे! 

मे बस – अहह… अह्ह्ह… अह्ह्ह… हहह… हहह! 

करें जा रही थी, 8 मिनट बाद बंसल जी झाड गए। तो उसकी जगह मनोज आया वो मेरी तंग ऊपर करके चोदने लगा। 

मै – अहहहहह आ अम्म आह हहहज्ज्ज्ज्बज्ज्ज्ज्बजज्ज धीरररीई अहह अह्ह्ह हहह 

मे बहुत चिल्ला रही थी🤭🤭। ठाकुर भी कुछ देर बाद झड़ गया, उसकी जगह अगला आदमी आया दोनों ने मुझे खड़ा किया और कुतिया बना दिया। मनोज मेरी पीछे दे चुद चोद रहा था और राजन मुँह मे लोडा घुसा रहा था। 

पूरे रूम मे – फट फट फट फट फट फट फट फट फट फट फट की आवाज गूँज रही थी। 

मनोज बोला – भाभी जी आपकी गांड की काली छेद बुला रही है डाल रहा हु! 

उसने मेरे गांड की छेद मे थूक लगाया अुर लोडा डालके पेलने लगा (मैंने बहुत ज्यादा गांड मरवाई थी पहले) 

हलकी सी पैन हुई मे – अह्ह्ह्ह ऐय्याह्ह्ह उम्म्म्म 

और गांड और फैला दी, उनका आधा लोडा घुस चूका था अब मे ही आगे पीछे होने लगी 10 मिनट तक धीरे धीरे करके 8 इंच का लोडा पूरा मेरी गांड मे समा गया। 

अब वो चोदने लगा – फट फट फट फट फट फट फट फट फट फट फट फट 

अभी वो अकेले की चोद रहे थे, बाकि तीनो झड़ गए थे उन्होंने एक जोर सा झटका मारा अचलनाक पैन हुआ मे फ्लोर मे लेट गयी, 

और बोली – आराम… आ आ आ अम्म… आराम से… करो ना… प्लीज… 

वो बोले – ओके जी और बोले फैलाइये गांड मैंने दोनों हाथो से! 

पूरा गांड फैला दिया, उन्होंने छेद मे रक के पेला फिर मैंने छोड़ के गांड टाइट कर ली और वो चोदने लगे। तीनो मेरी चुदाई देख पी पी के मजे ले रहे थे, 

मस्त आवाज गूँज रही थी – फद फद फद फद फद फद फद फद फद फद फद 

कुछ देर वो भी झड़ गए फिर उनकी जगह ठाकुर जी आ गए, अब उन्होंने गांड मे डालके धक्के मारे कुछ देर ऐसे चोदने के बाद वो लेट गए, 

और बोले – अजा मेरे लोड मे बैठ 

मे बैठ गयी चुत मे लेके और उछालने लगी 5 मिनट चुदने के बाद बंसल जी आके बोले हल्का सा झुक मे ऐसे झुक गयी तो उन्होंने अपना लंड गांड मे डाला और दोनों एक साथ चोदने लगे मे करहने लगी।

मै – अह्ह्ह अहह अह्ह्ह ऐई अऊऊऊ ुह्ह्हह्ह उह्ह्ह उठ मायीयायागगग अहह अह्ह्ह है उह्ह्हूज ह्ह्ह्ह उह्ह्ह उम्म्म्म फुक्क फक फक अह्ह्ह 

ऐसे ही सब लोग चोदने लगे! बारी बारी से रात के 2 बज गए सब के 4 -5 राउंड हो गए थे मेरी Antarvasna की चुदास को सम्पूर्ण संतुष्टि मिल रही थी। सब थक गए थे तो आराम करने लगे मैं जाके मनोज के गोदी मे बैठ गयी। वो भी उसका लोडा गांड मे घुसा के और सब अगल बगल बैठ के कोई बूब्स दबाकर बैठा रहा, कोई चुद मे उंगली कर रहा था। मे बहुत खुश थी सब बैठ के बाते करने लगे, 

सब बोल रहे थे – क्या रंडि हो भाभी आओ कमाल यार बहुत मजा आ रहा है साला संढूं को भूल जाओ आप आप हम ही चोदेंगें आपको ठीक है, 

मे – जी बिलकुल आप लोग ही तो आज से मेरे पति हो! 🥰😘

और सब पिने लगे, सब लोग मुझे फाॅर्स करने लगे की एक पेग प्लीज भाभी जी, मे जोश जोश मे पी गयी मुझे बहुत मजा आने लगा। सब दम दम की बात करने लगे। 

मनोज जी बोले – भाभी जी मे सबसे ज्यादा दम है सालो 4 लंड संभाल ली देखा ना सब छेद मे और एक तो अभी भी गांड मे फसई बैठी है। 

ठाकुर जी बोले – सही बोला यार! हाँ पर एक बात मे भाभी जी की भी गांड फट गयी 

मे जोश जोश और नशे मे – बहुत दम है मुझमे!!! 

ठाकुर जी – ऐसा है तो आप बिना कंडोम के चुदती तो मजा आता ना… भाभी जी जब सबका माल पीति  क्या मस्त लगती पता है आपको।

मे बोली – मे अभी भी पी सकती हु समझें… मुजमे बहुत दम है… 

वो बोले – तो पिलाये भाई लोग भाभी को आज। 

सब बोले – अपना अपना कंडोम लेकर आओ। 

मनोज बोले – उठिये अभी लता हु 

मे उठी तो फक के उनका लोडा निकल गया! सब लोग अपनी भाभी की गैंगबैंग चुदाई करके बहुत खुश थे खैर, सब लोग अपना अपना कंडोम ले आये और ठाकुर जी चार गिलास ले आये सब लोगो ने अपना अपना वीर्य अलग अलग गिलास मे इकठा किया, 

और टेबल मे रख के बोले – चलिए मेरी रंडि किसका ज्यादा टेस्टी है बताइयये!! 

मैंने एक गिलास उठाया उसमे आधा भरा हुआ था मु के सामने ले गयी वीर्य की स्मेल आने लगी, उसे नजर अंदाज करते हुवे सीधे मुँह मे उडेल दिया। बहुत गाढ़ा था पर अच्छा लगा ऐसे ही सारे पी गयी। 

और वो लोग पूछने लगे – किसका टेस्टी?? 

मे बोली – सब अच्छा है!! 

और नहाने चली गयी, वहा भी सब बारी बारी आके गांड चोदने लगे बिना कॉन्डोम के, उस रात मे सोइ ही नहीं रात भर चुदी। तब से लेकर अभी तक उन लोगो ने मुझे अनलिमिटेड बार कहा कहा नहीं चोदा जंगल, होटल, टॉयलेट, स्टोर रूम, कार सब जगह चुद गयी हु। मुझे भी बहुत मजा आता है आगे वाली इंसिडेंट आगे वाली पार्ट मे बताउंगी। बाय लव यू आल आपकी हरलीन भाभी।

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
19k
+1
16k
+1
3.2k
+1
2.5k
+1
24
+1
102

Similar Posts

4 Comments

  1. सचमे हरलीन भाभी की हिम्मत और चुदास की आग लाज़वाब है। इस भाभी चुदाई कहानी को पढ़के तो मेभी उत्तेजित हो गई। वयस्क मर्दो की बात ही कुछ और होती है वो ही असली संतुष्टि दे पाते है।

  2. Hello Harlin ji how are you & ur all family
    Good evening ji
    Bahut hi badhiya or dam daar hai ur kamvasna story

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *