/ / गे लड़के का पहला वासना रोमांस
Couple Sex Story Desi Sex Story First Time Sex Story Gay Sex Story Hindi Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

गे लड़के का पहला वासना रोमांस

बचपन से ही मुझे लड़कियों से ज्यादा लड़कों में इंटरेस्ट था। और अब जब मैं बड़ा हो गया हूं तो मुझे लड़कियां पसंद ही नहीं आती। और मैं लड़कों की तरफ ज्यादा आकर्षण महसूस करता हूं।

लेकिन दुख की बात यह है अब तक मुझे अपने सपनों का लड़का नहीं मिला जो मेरे जैसा हो और मुझसे प्यार करें। लेकिन मेरी जिंदगी की यह Gay Sex Story रोमांच से भर गई जब मैं पार्थ से मिला।और उसके साथ मेरे जैसे एक गे लड़के का पहला रोमांस हुआ।   

मेरी पार्थ से मुलाकात फेसबुक के ऊपर हुई थी। एक दिन अचानक मुझे उसकी फोटो देखी और मैंने उसकी फोटोस को लाइक करना चालू कर दिया। बदले में पार्थ भी मेरी फोटोस को लाइक करता था और हमारी बातचीत चालू हो गई ऑनलाइन।

हम दोनों के बीच में काफी अच्छी साझेदारी हो गई और हम दोनों एक दूसरे से काफी घुलमिल गए। और फिर हमने 1 दिन मिलने का फैसला लिया क्योंकि हमारी दोस्ती बहुत ही ज्यादा पक्की हो गई थी।

वह मेरी जिंदगी का सबसे अच्छा लम्हा था जब मैं पार्थ से मिलने गया था। जब मैंने पहली बार पार्थ को देखा वह बहुत ही ज्यादा हॉट और सेक्सी लग रहा था।

उसे देख कर मुझे ऐसा एहसास हुआ बस यही है वह लड़का जो मैं इतने समय से ढूंढ रहा हूं। लेकिन मुझे नहीं पता था पार्थ किस में इंटरेस्टेड है और उसका टेस्ट कैसा है। सीधी बात मुझे नहीं पता था उसे लड़कों में इंटरेस्ट है या नहीं है।

और उसे देख कर ऐसा लग भी नहीं रहा था कि उसे लड़कों में इंटरेस्ट होगा क्योंकि उसकी एक अच्छी खासी बॉडी थी और वह दिखने में भी बहुत ही ज्यादा हॉट था।

फिलहाल हमारी बातचीत हुई हम पहली बार मिले हमने बहुत ही अच्छा समय बिताया। उसने भी मेरा साथ बहुत ही ज्यादा पसंद किया और मैंने भी उसका साथ बहुत पसंद किया।

जब हम जुदा होने वाले थे तो जैसे लड़के लड़के गले लगते हैं मैंने पार्थ को गले लगाया। लेकिन उस टाइम पर मेरे अंदर की वासना इच्छाएं जाग गई और मैं उसे बहुत ही रोमांटिक अंदाज में गले लगाने लगा।

पार्थ बोला – अरे भाई क्या हो गया तुझे इतना रोमांटिक क्यों हो रहा है!!

मैंने बोला – पता नहीं यार लेकिन बस तुझे गले लगाने का मन कर रहा है!!

भारत ने मुझे कुछ नहीं कहा और मेरी फीलिंग की कदर करी हम दोनों ने एक दूसरे को बहुत देर तक गले लगाया। और फिर मेरी इच्छाएं इतनी ज्यादा जाग गई कि मेरी लुल्ली खड़ी होने लग गई।

और जब मेरी लुल्ली पार्थ के लंड से लड़ी तो पार्थ को कुछ महसूस हुआ। मैं पार्थ की आंखों में देखने लगा और पार्थ मेरी आंखों में देखने लगा।

फिर मैंने उसे उसके होठों पर एक छोटा सा चुम्मा दे दिया। पार्थ को इसकी जरा भी उम्मीद नहीं थी और उसने कोई भी रिएक्शन नहीं किया।

मैंने कहा – देखो पार्थ मुझे माफ कर दो लेकिन यह मेरी इनर फिलिंग्स ऐसी ही है। और मैंने जबसे तुमको देखा है मेरे अंदर तुम्हारे लिए फीलिंग आ गई है।

पार्थ बोला – तो क्या तुम्हें लड़कों में दिलचस्पी है तुम गे हो?!!

मैंने कहा – हां मैं गे हूं और मुझे लड़के बहुत पसंद है लेकिन तुम्हारे जैसा लड़का मैंने आज तक नहीं देखा।

पार्थ ने कहा – चलो यह बातें कहीं और चल कर करते हैं और हमने एक कमरा बुक किया और वहां पर जाकर हम बैठ गए।

तो मैंने पार्थ से पूछा – क्या तुम भी गे हो?

पार्थ बोला – नहीं मैं गे नहीं हूं लेकिन मुझे शुरू से लड़के और लड़कियां दोनों में ही इंटरेस्ट है।

मैंने कई लड़कियों के साथ में तो सेक्स किया है लेकिन आज तक कभी किसी लड़के के साथ नहीं किया। मैं पार्थ के करीब बैठकर बहुत ही ज्यादा उत्तेजित हो रहा था।

और मैं अंतर्वासना की आग में जल रहा था। फिर मैंने अचानक उसको चूमना चालू कर दिया और कहा – तो फिर आज अपनी वर्जिनिटी लड़के के साथ खोलो!!

हम दोनों एक दूसरे को बहुत ही रोमांटिक अंदाज में चूम रहे थे वह मेरे होठों को चूम रहा था मैं उसके होठों को चूम रहा था।

मैंने उसको नंगा कर दिया और उसे मजबूत बॉडी को छूते उसके स्किन का टच महसूस कर रहा था। उसकी मजबूत बॉडी मुझे और भी ज्यादा होती है जिद कर रही थी।

फिर पार्थ ने भी मुझे नंगा कर दिया और मेरी गर्दन पर चूमने लगा फिर वह मेरे निपल्स को चूसने लगा। वह मेरे निपल्स को चूसते चूसते अपनी उंगली मेरी गांड में डालने लगा।

मुझे ऐसा कभी भी महसूस नहीं हुआ था और मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था। फिर पाक ने अपना लंड बाहर निकाला। उसका लंबा मोटा लैंड देखकर मैं बहुत ही ज्यादा घबरा गया और मुझे लगा यह मेरे अंदर सेट नहीं होगा।

मैंने पार्थ से पूछा – क्या तुमको यह ठीक लग रहा है तुम पूरा शोर हो कि हम यह करें??!

पार्थ बोला – घबराओ मत सब कुछ ठीक है!!

और फिर उसने धीरे-धीरे अपना लंड मेरी गांड में घुसा ना चालू कर दिया। मुझे बहुत ही ज्यादा कामवासना का सुख मिल रहा था और देखते-देखते पूरा लंड मेरी गांड में था।

फिर पार्थ ने धीरे धीरे अंदर बाहर करना चालू कर दिया और साथ में मुझे चूमता भी रहा।

हम दोनों एक दूसरे की बाहों में चिपके हुए थे हम दोनों एक दूसरे के ऊपर लिपटे हुए थे और पार्थ मेरी चुदाई कर रहा था।

फिर पाक ने अपनी रफ्तार बढ़ा दी और वह मुझे और जोर जोर से चोदने लगा। वह मुझे चोदे ही जा रहा था वह मेरी गांड की खूब घचाघच चुदाई कर रहा था। मेरी गांड की चुदाई करने के साथ-साथ वह मेरे लंड से मुठ भी मार रहा था।

एक तो गांड की चुदाई उसके ऊपर से मुठ मुझे बहुत ही ज्यादा चरम सुख दे रही थी और बस कुछ ही देर में हम दोनों का झड़ने वाला था।

जैसे ही पार्ट का झड़ने वाला था उसने अपना सारा माल मेरे ऊपर झाड़ दिया और मेरा सारा माल पार्थ के पेट पर झड़ गया।

हम दोनों बहुत ही ज्यादा थक गए और एक दूसरे की बाहों में लिपटकर सांसें भर रहे थे।

तो मैंने पार्थ से पूछा – तुम्हें लड़कों में ज्यादा मजा आया या लड़कियों में?!!

पार्थ बोला – अभी के लिए तो मुझे लड़कों में ज्यादा मजा आया और लग रहा है हमारा रिश्ता लंबा चलने वाला है। यह कहकर हम दोनों हंसने लगे और इसके बाद भी हमारा रिलेशनशिप चलता रहा।

Similar Posts