/ / आपकि सेक्स दासी शाहिदा
Desi Sex Story First Time Sex Story Group Sex Story Hindi Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

आपकि सेक्स दासी शाहिदा

हेलो दोस्तों मेरा नाम शाहिद खान है मेरी उम्र 24 साल है और मैं दिखने में ठीक-ठाक हूं मैं इलाहाबाद यूपी से बिलॉन्ग करता हूं मेरी फैमिली में मम्मी पापा और मेरी बहन शाहिदा रहते हैं।

मेरी बहन का नाम शाहिदा है उसकी उमर 21 साल है वह दिखने में बहुत ही खूबसूरत है आप लोग जानते हो कि  लड़कियां कितनी चुद्क्कड होती है वह हमेशा घर पर शरीफ़ बनकर रहती है उसका साइज लगभग 34-32-34 होगा मैंने कभी भी अपनी बहन के  बारे  मे कभी कोई गंदा किया नहीं ना सोचा था।

आज मैं आप लोगों को मेरी बहन और मेरे दोस्तों की जबरदस्त चुदाई की सेक्स कहानी बताऊंगा जो कि मेरा आंखों देखा हाल है।

मैं रौनक और शाम तीनों बहुत ही अच्छे दोस्त हैं वह हमारे घर के पास में ही रहते हैं उन लोगों का और मेरा एक दूसरे के घर पर जाना आना आम बात है।

रौनक एक बॉडीबिल्डर लड़का है जिसकी सेहत अभी बहुत अच्छी है और उसके पापा एक बहुत ही बड़े बिजनेसमैन है जिसके कारण उनके पॉलिटिशन से बहुत ही अच्छे लिंक है।

मैं ओर शाम दोनों ही रौनक के ही खर्चे पर पड़ते हैं जब भी कोई खर्चा करना होता है हम दोनों का खर्चा वही करता है। 

जब हम तीनों रोनक के घर पर बैठे थे तो तुम हम तीनों में किसि मुदे को लेकर बातचीत हो रही थी बातों बातों में मैंने उन लोगों को बोल दिया तुम लोगों की मां बहने तो बड़े बड़े लंड लेकर ही शांत होती हैं तुम लोगों का तो छोटा सा होता है तुम लोग क्या लड़कियों को चोदोगे तुम लोग तो खुद  कोई लड़का ढूंढ रहे होते हो।

बातों बातों में बात हाथापाई पर पहुंच गई और रौनक और मेरी लड़ाई हो गई थी मैं वहां से अपने घर पर आकर बैठ गया उस टाइम मैं और मेरी बहन दोनों घर पर अकेले थे मेरे मम्मी पापा कुछ दिनों के लिए रिश्तेदार के घर गए हुए होते हैं।

जब मैं घर पर आता हूं तो मेरी बहन में जो देखकर पूछती है क्या हुआ भैया आप इतने गुस्से में क्यों हो

मैं – कुछ नहीं यार तू अपना काम कर दिया मेरे लिए चाय बना कर लाओ,

शाहिदा चाय बनाने गई होती है तो रौनक और शाम मेरे घर पर आ जाते हैं 

श्याम चल छोड़ यार शाहिद तू भी क्या है इन बातों को लेकर हमारी हमारी दोस्ती खराब कर रहा है मैंने रोनक  को भी समझा दिया है अब वह भी इस तरह की बातें नहीं करेगा और तू भी आज से ध्यान रखना तू तू भी ऐसे ही कोई बात नहीं करेगा।

चल यार बाहर चलते हैं हम तीनो लोग वहां पर बैठकर दारू वगैरह पीते हैं और पार्टी करते हैं आज की पार्टी मेरी तरफ से। 

रात को हम तीनों दोस्त पार्टी कर रहे होते हैं शाम और रोनक बहुत ही कम दारू पीते हैं ज्यादा से ज्यादा दारु को मुझे पिला रहे होते हैं पहले तो मुझे समझ नहीं आता कि ऐसा क्यों कर रहे हैं लेकिन बाद में मुझे सब समझ में आ जाते हैं।

जब हम मेरे घर पर पहुंचे हैं तो शाहिदा हम्म लोगो को  गेट खोल दिया है वह जब दिखती है कि मैं बहुत ही ज्यादा नशे में हूं वह एकदम से घबरा जाती है रौनक और शाम मुझे ले जाकर मेरे कमरे में बिठा देते हैं।

शाहिदा भी पास में खड़ी होती है रौनक जबरदस्ती  शाहिदा को अपनी बाहों में पकड़ देता है और मेरे सामने ही मेरी बहन को किस करने लग जाता है, मैं दारु के नशे में जब उठने की कोशिश करता हूं तो शाम मेरे मुंह पर दो-तीन थप्पड़ मारता है जिससे कि मैं वापस बेड पर गिर जाता हूं।

शाहिदा आप उनसे बहुत छूटने की कोशिश करती है पर  रोनक के शरीर होने के कारण शाहिदा  खुद को उन्होंने अपने आप को छुड़वा नहीं पात्ती।

रोनक मेरी बहन को पागल की तरह किस कर रहा होता है वह मेरी बहन के बूब्स को मेरे सामने ही दबा रहा होता है मेरी बहन के गोल गोल बूब्स उसके दोनों हाथों में होते है।

श्याम पीछे से जाकर अपना लंड मेरी बहन की गांड पर रगड़ना शुरू कर देता है

रौनक – आज हम दोनों तुझे चोदे  बिना छोड़ेंगे तो नहीं अगर तू चाहती है कि तेरे साथ ज्यादा जबरदस्ती ना हो तू चुपचाप हम लोगों का साथ दें, आज तुझे बचाने वाला यहां पर कोई नहीं है।

शाहिदा जोर लगाना छोड़ देती है वह समझ चुकी होती है जितनी को ज्यादा कोशिश करेंगे उतनी ही बेरहमी से यह दोनो लड़के उसे़ चोदेंगे।

दोनों मेरी बहन के सूट को उतार देता है रोनक मेरी बहन की छाती का हो तो शाम मेरी बहन की पीठ का मजा ले रहे होते हैं वह मेरी बहन को जगह जगह पर किस कर रहे होते हैं और मैं बेशर्म की तरह कुछ नहीं कर पा रहा था।

रोनक मेरी बहन की ब्रा उतारता है और अपने नाखूनों से भरे हाथ हाथ से मेरी बहन के बूब्स को दबाने लग जाता है वह मेरी बहन के बूब्स पर चोट खारा होता है वह मेरी बहन के बूब्स को दबा दबा कर लाल कर देता है। 

वह मेरी बहन के बूब्स के दाने को खींचता है जिससे मेरी बहन की चीखें निकल जाती है वह मेरी बहन के बूब्स पर नाखूनों से वार करता है शाम पीछे से मेरी बहन की गर्दन पर च्बा रहा होता है वह दांत उसे मेरी बहन की गर्दन पर निशान डाल्  देता  है।

श्याम मेरी बहन को अपना और रौनक का लंड चूसने के लिए कहते हैं मेरी बहन चुपचाप नीचे बैठकर में दोनों का लंड चूसने लग जाती है और एकदम लॉलीपॉप की तरह मेरे दोस्तों का लंड चूस रही होती है मुझे लगता ही नहीं है मेरी पकिज़ा बहन है जिसे हम कहते हैं कि यह कभी कोई गलत काम नहीं करेगी इसके अंदर तो एक  बहुत ही बनी रंडी छुपी होती है।

रोनक – क्यों बे मादरचोद शाहिद क्या हुआ पता चला किसकी मां बहन ज्यादा बड़ी रन्डि होती है।

हां देख तेरी बहन हम दोनों के लंड को चूस रही है और वह भी अपने भाई के सामने इसी बहन को तो बोलता था ना कि यह कभी भी शादी से पहले कुछ  गलत नहीं करेगी। 

मेरी बहन मेरी तरफ देखती है स्मेल करने के लिए होती है समझ चुका होता हूं कि अब मेरी बहन को रोकना मुमकिन नहीं मेरी भलाई इसी में है कि मैं भी रोनक के टुकड़ों पर पलना शुरु कर दूं और अपनी बहन को उन लोगों के हवाले कर दु।

रोनक बेड पर लेट जाता है और मेरी बहन को लंड पर बैठने के लिए केहता है मेरी बहन चुपचाप अपनी सलवार को उतार कर और अपनी ब्लैक पैंटी को उतार कर उसके सात इंच के  पर बैठ जाती है रौनक का  लंड सीधा मेरी बहन की चूत में चला जाता है जिससे कि पता चलता है कि मेरी बहन वर्जन नहीं है।

यह देख कर रोनक ओर भी ज्यादा खुश हो जाता है और मेरी तरफ देखता है और मैं शर्म से आंखें नीचे कर लेता हूं शाम मेरे पास आता है और अपने लंड मेरे मुंह की तरफ करता है मुझे समझ नहीं आ रहा होता कि यह क्या कर रहा है वह मेरे बालों को पकड़ कर मेरा मुंह खोलता है और अपना लंड मेरे मुंह में डाल देता है अब मैं और मेरी बहन एक ही बेड पर लंड चूत और गांड मरवा रही होती।

श्याम – बहन्चोद अबे तू और तेरी रन्डी बहन हम दोनों के गुलाम बनकर रहेंगे जब भी हमारा दिल करेगा हम तुझे और तेरी बहन को चोद देंगे तू कुछ नहीं बोल सकता।

जब शाम मेरी बहन की गांड मारने के लिए उसके पास आता है,

तो मेरी बहन कहती है – प्लीज क्रीम लगा लीजिए मैंने आज तक गांड कभी नहीं मर्वाइ है!!

श्याम बिना क्रीम के सिधा लंड मेरी बहन की गांड में डाल देता है उसका आधा लंड मेरी बहन की गांड में चला जाता है। 

जिससे कि मेरी बहन को बहुत दर्द होता है मेरी बहन चिखे मारने लग जाती है उसकी चीख उसे पूरा कमरा गूंज रहा है मुझे ना जाने क्यों बहुत मजा आने लगता है मेरी बहन को देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता है।

धीरे धीरे श्याम मेरी बहन की गांड में डाल देता है श्याम और रौनक मेरी बहन को दोनों तरफ से चोद रहे होते हैं मेरी बहन उछ्ल उछ्ल कर अपनी चूत और गांड मर्वा रही थी।

जब  रोनक और शाम का माल निकलने वाला होता है तो वह मेरी बहन को लंड चूसने के लिए कहते हैं ग्रुप में सारा का सारा माल मेरी बहन के मुंह में निकाल देते हैं जिसे मेरी बहन बहुत ही टेस्टी पानी समझकर पी जाती है।

फिर दोनों को शाम मेरे ही बेड पर लेट जाते हैं और मेरी बहन को बीच में बैठा कर उसके बूब्स को प्रेस कर रहे होते हैं बाद में जब उन दोनों को बाथरूम आने लगता है तो वह मेरी बहन को कहते हैं, 

चलो अब हम लोगों का बाथरूम भी पी!!!

मेरी  बहन चुपचाप नीचे बैठ जाती है और वो मेरी  बहन के मुंह में कर देते हैं जिसे पीकर मेरी बहन कहती है – 

मुझे आज तक की चुदाई मे  इत्ना मजा कभी नहीं आया… आप लोगों का माल बहुत ही टेस्टी है! आज से मैं आपकि सेक्स दासी शाहिदा बन के रहूंगी और जब भी आप जिससे भी कहोगे मैं चुद्ने के लिए तैयार हूं… आप जैसा चाहो मुझे इस्तेमाल कर सकते हो!!!

आप मुझे मेरी new antarvasna story का रिस्पांस [email protected]।com पर दे सकते हो।

कहानी अभी जारी है, पढ़ते रहिये मेरी और हिलाते रहिये मेरी कहानियाँ पढ़के, और मिलते है अगले भाग में।

🧡इसे भी पढ़े – कमसिन मालकिन और 8-inch लंड वाला नौकर

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
9k
+1
5k
+1
2.5k
+1
1.2k
+1
1
+1
971

Similar Posts

6 Comments

  1. कमल की कामुकता कहानी भैया जी ये लड़की तो रंडी निकली फ़ैल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *