/ / तलाक के बाद आमिर के साथ माँ की आखिरी रात!
Couple Sex Story Desi Sex Story Family Sex Story Group Sex Story Hindi Sex Story Maa Beta Sex Story Porn Story XXX Story

तलाक के बाद आमिर के साथ माँ की आखिरी रात!

आमिर ओर मम्मी दोनो चिपककर सो गये सुबह 11 बजे मम्मी की आख खुली तो मम्मी ने आमिर को उठाया ओर आमिर को किस करके कहा – जनाब उठ जाओ दोपहर हो गयी है। 

ये सुनकर आमिर खडा हुआ मम्मी का बदन दर्द कर रहा था तो मम्मी बोली – आमिर कल तो आपने मिलकर बुरा हाल कर दिया 

तो आमिर ने कहा – बेगम एक राऊड ओर करेगे तो आराम मिल जाएगा 

तो मम्मी बोली – अच्छा जनाब अभी मन भरा नही क्या 

तो आमिर ने कहा – मन तो कभी भरेगा भी नही 

मम्मी बोली – वो तो है मगर आज तो जाना होगा मुझे रात को केसै नींद आएगी तुम्हारे बिना 

पिछला भाग – माँ का निकाह और हलाला – 3

ये सुनकर मम्मी बोली – आज आज ओर रूकने का मन कर रहा है 

तो आमिर – रूक जाओ जान आज आज तो कल चली जाना सुबह जल्दी 

तो मम्मी बोली – देखती हू 

फिर मम्मी ने कहा – चलो ठीक है 

मम्मी ने नीचे आकर फोन कीया घर पर तो शशी ने फोन उठाया ये देखकर मम्मी को शक हुआ ओर शशी को कहा वो आज रात को निकलेगी तो सुबह जल्दी 8 बजे तक घर आएगी। मम्मी ने उपर जाकर अपना पर्स निकालकर रवि के घर की चाबी देखी जो उनके पास थी फिर मम्मी ने फटाफट कपडे पहने ओर आमिर को कहा वो अभी घर जाकर आ रही है कुछ देर के लिए। 

आमिर ने पूछा सब ठीक है तो कहा सब ठीक है बस कुछ देखकर आना है ओर मम्मी साडी पहनकर निकल पडी रवि के घर का लोक खोलकर मम्मी ने अंदर से लोक कीया ओर धीरे धीरे छत पर पहुंच गयी छत पर कूदकर। मम्मी सिढीयो से उतरने लगी धीरे धीरे नीचे उतरते ही उसे कमरे से शशी के साथ कीसी की आवाज सुनाई दी तो मम्मी चोर कदमो से धीरे धीरे कमरे के नजदीक गयी ओर खिडकी के पास खडी होकर देखने लगी। 

कमरे के अंदर मेरी बहन ओर मम्मी की जवान बेटी ड्राइवर मुकेश के आगे कुतिया बनकर चुद रही थी। मम्मी मुकेश का लंड देखकर आवाक हो गयी कैसे उसकी बेटी घपाघप इतना बडा लंड का रही है मगर मम्मी चुप रह कर चुदाई देखती रही। कुछ देर बाद मुकेश ने शशी को बेड पर लेटा लिया ओर टांगे फैलाकर चुत मे लंड पेलने लगा। 

इधर मम्मी अपनी चुत मे उगली करने लगी ओर उधर मुकेश ने शशी की चीखे निकलवा रखी थी। मम्मी जिस बेड पर काफी सालो से चुद रही थी उसी बेड पर आज उनकी बेटी चुद रही थी कुछ देर बाद मुकेश ने लंड बाहर निकालकर शशी के मुह मे ठुस दिया ओर शशी कीसी लॉलीपॉप की तरह मुकेश का लंड चुसने लगी। 

दो मिनट के बाद मुकेश ने शशी को उल्टा कीया ओर उसकी गांड मे लंड पेल दिया शशी कसमसाकर रह गयी ओर फिर मुकेश ने दस मिनट तक शशी की गांड को फाडा। दस मिनट बाद मुकेश ने गांड से लंड बाहर निकालकर शशी के मुह मे ठुस दिया ओर उसने शशी के मुह को अपने गर्म वीर्य से भर दिया। मम्मी अब तुरंत वहा से चुपचाप निकल गयी ओर दो मिनट मे ही घर लोक करके वापिस जाने लगी। 

मगर रास्ते मे उसको मुकेश का लंड दिखता रहा ओर चुदासी होती गयी। आमिर के घर पहुंचते ही मम्मी ने साडी निकाल फेकी ओर आमिर की लुगी को खोलकर उसके लंड को मुह मे भरकर चुसने लगी। आमिर का लंड भी मुह मे जाते ही अकड़ गया ओर मुसल बनकर मुह को चोदने लगा। मम्मी की चुत से पानी निकलने लगा आमिर का लंड चुसते चुसते अब तभी, 

आमिर ने मम्मी को कहा – बेगम रस यू ही निकल रहा है हमे ही पिला दो 

तो दोनो 69 मे आकर एक दूसरे को चुसने लगे मम्मी अब रंडीयो की तरह नही रंडीयो से बढ़कर हवसी हो गयी थी। मम्मी ने दस मिनट तक आमिर का लंड चुसकर उसका वीर्य निकाल दिया ओर आमिर के लंड को चाटकर साफ करने लगी ओर गहरी सास लेकर आहे भरने लगी। 

आमिर भी पसीने मे नहा गया था आमिर ने उठकर ऐसी ओन की ओर मम्मी के पास लेट गया ओर चुमने लगा। 

आमिर ने कहा – रेखा तुम तो कोई काम की देवी हो 

ये सुनकर मम्मी बोली – क्या बताओ मेरी चुदास खत्म ही नही होती मन करता है चुत ओर गांड मे लंड फसा ही रहा रोटी ना मिले, लंड मिलता रहा… 

ये सुनकर आमिर हंसने लगा ओर मम्मी को चुमने लगा 

आमिर ने कहा – मै पेशाब कर के आता हू फिर खाना खाकर चुदाई करेगी ओर शाम को घुमने चलेगे! 

तो मम्मी ने कहा – आमिर पागल हो क्या मरवाने का इरादा है 

तो आमिर ने कहा – बेगम आप हिजाब मे जाएगी तो आपका चुतिया पति भी नही पहचान पाएगा! 

ये सुनकर मम्मी बोली – फिर तो हम शोकत भाईजान ओर सबीना के यहा भी चलेगे आज 

आमिर ने कहा – ठीक है वही से चुडे ले लेगे आपके लिए 

ये सुनकर मम्मी बोली – नही उसकी जरूरत नही आगे ही बहुत खर्चा हो गया है आपका 

तो आमिर ने कहा – रोज रोज तो होता नही 

ये सुनकर मम्मी बोली – ठीक है जनाब जो चाहे दिलाना फिर मे मना नही करूगी 

ये सुनकर आमिर ने कहा – ठीक है चलो अब खाना खा लो 

मम्मी ने आमिर की लुगी लेपट ली ओर आमिर ने पजामा पहन लिया, दोनो ने नीचे आकर रात का बचा खाना गर्म करके खाया ओर फिर दोनो उपर चले गये। 

मम्मी ने पूछा – कबतक चलेगे बाजार 

तो आमिर ने कहा – चार बजे चलेगे रात को 9 बजे तक खाना खाकर ही आ जाएगे 

तो मम्मी बोली – खाना यही खाएगे कोई देख लेना तो दिक्कत होगी 

तो आमिर ने कहा – ठीक है, 

ओर आमिर ने मम्मी का हाथ पकडकर अपने ऊपर खीच लिया ओर किस करने लगा। दोनो एकदूसरे को कसकर कीस करने लगे तभी आमिर ने मम्मी की लुगी खिंचकर उन्हे नंगा कर दिया ओर दोनो हाथो से भारी भरकम चुचियो को कसकर दबाने लगा। 

मम्मी भी आहे भरकर आमिर को गर्म कर रही थी तभी आमिर का लंड मम्मी की चुत पर लगने लगा तो आमिर के उपर से नीचे खिसककर लुगी को खोलकर लंड को मुह मे भर लिया ओर जोर से चुसने लगी। तभी आमिर ने मम्मी को कहा बेगम घुम जाओ तो मम्मी आमिर के मुह पर चुत रखकर बैठ गयी ओर अपनी चुत को आमिर के मुह पर दबाकर चुसाने लगी। 

आमिर की चुसाई से उत्तेजित होकर मम्मी कहने लगी आमिर खा जाओ इसे बहुत तंग करती है ये तो आमिर ने गांड को अपने हाथो से उठाकर कहा खा जाऊगा तो मेरे लंड का क्या होगा ओर फिर से चुत को चुसने लगा। तो मम्मी भी लेटकर आमिर के लंड को मुह मे लेकर चुसने लगी दस मिनट के बाद मम्मी की चुत से रस निकलने लगा। तो आमिर ने चुत को चाटकर साफ कीया, 

ओर कहा – बेगम अब कुतिया बन जाओ 

तो मम्मी फटाफट कुतिया बनकर गांड उठाकर हिलाने लगे! 

आमिर भी तुरंत मम्मी के पिछे आ गया ओर चुत पर लंड खिसने लगा मम्मी मदहोश होकर आहे भरने लगी आमिर के लंड घिसने पर मम्मी के सब्र का बाध टूटने लगा। 

तो मम्मी बोली – आ आ आ आमिर कितना तरसाओगे!! 

ये सुनकर आमिर ने मम्मी की गुलाबी चुत मे एक झटके मे ही पूरा लंड पेल दिया जिससे मम्मी की जोरदार चीख निकल गई ओर कहने – आमिर आराम से बाबू!! ये सुनकर आमिर ने पूरा लंड बाहर निकालकर एक जोर के झटके मे फिर से पेल दिया। इससे मम्मी आगे निकल गयी जिससे आमिर का लंड फिर से बाहर निकाल गया तो अब आमिर ने मम्मी की कमर को कसकर पकड लिया ओर एकबार उसी तरीके से लंड पेल दिया। 

इसबार मम्मी तैयार थी तो उन्होने कहा – आमिर आज ऐसे से पेलो जान! 

ये सुनकर आमिर जोश मे आ गया ओर पूरा लंड निकालकर पूरा लंड डालकर मम्मी की चुदाई करने लगा। पांच मिनट तक आमिर ने तसल्ली से ऐसे ही चुदाई की तो मम्मी की आहे बढने लगी। अब आमिर ने चुत मे लंड फंसाकर मशीनगन की तरह मम्मी की चुत मे लंड से झटके देने लगा। 

मम्मी भी मस्ती मे आकर बोल रही थी – हा! जान… ऐसे ही चोदो… ओर जोर से चोदो… हाय! आमिर! मार डाला!!! जोर से चोदो जान… बस ऐसे ही… 

दस मिनट के बाद मम्मी झडने लगी! 

तो आमिर को कहा – जान जरा अपनी गोद मे बैठा लो ना.. 

तो आमिर बेड पर बैठ गया ओर टांगे फैलाकर मम्मी को आने कहा मेरी मम्मी की ये दूसरी फेवरिट स्टाइल है गोद मे बैठकर चुदना मम्मी को बहुत ज्यादा पसंद है। मम्मी ने आमिर के लंड को चुत पर सेट कीया ओर एकबार मे ही उसे अपनी चुत मे लेकर उसपर बैठकर आमिर की कमर से अपनी पतली कमर को चिपाकर उसके बालो वाले सीने से अपनी चुचियो को चिपकाकर आमिर को कसकर बाहो मे भर लिया। 

ओर आमिर के लंड पर जोर से कूदने लगी आमिर ने भी मम्मी को कसकर बाहो मे भर लिया ओर फचाफच की आवाज से कमरा गुजने लगा दस मिनट के बाद आमिर ने जान अब गांड भी दे दो। तो मम्मी तुरंत ही अपनी पहली फेवरिट स्टाइल मे आ गयी घुटनो के बल बैठकर गांड के छेद को उपर निकालकर मम्मी ने अपनी चुचियो को बेड पर चिपका लिया। उन्हें  स्टाइल बहुत पसंद थी जो की उन्होंने Antarvasna Story की किताबो में पढ़ी थी जो उन्हें रवि देता था। 

उधर आमिर जीभ से चुत को चाटते हुए गांड के छेद को चाटने लगा दो मिनट गांड चाटने के बाद आमिर ने मम्मी की गांड पर दो बार थूककर अपना काले लंड का लाल सुपारा गांड मे फंसा दिया ओर दो जोर के झटको से पूरा लंड मे उतार दिया। मम्मी ने गांड हिलाकर आमिर को कहा जान अब गांड की खुजली भी मिटा दो इतना सुनते ही आमिर ने झटको की स्पीड बढाकर मम्मी की गांड फाड चुदाई शुरू कर दी। 

मम्मी अब अपनी चुचियो को दबाकर जोर से आहे भरने लगी आमिर बिना रूके दस मिनट मम्मी की गांड को पेलता रहा पटापट की आवाजो के साथ मेरी छिनाल मम्मी की कामुक आहे कमरे मे गुजने लगी। 

तभी आमिर ने कहा – बेगम गांड मे ही निकाल दू क्या?! 

तो मम्मी ने कहा – जनाब ये रस गांड के लिए नही बना 

ओर फिर आमिर ने गांड से लंड बाहर निकाल लिया, तो मम्मी बैठकर आमिर के लंड पर झुककर उसे चुसने लगी ओर आमिर ने कुछ देर मे ही मम्मी के मुह को अपने माल से भर दिया ओर मम्मी ने आमिर के लंड से निकल रही वीर्य की आखिरी बूंद को भी निचोड़कर पी लिया। आमिर पर लेट गया तो मम्मी भी आमिर पर लेट गयी दोनो थक चुके थे। 

तो आमिर ने कहा – बेगम कुछ देर आराम कर लो फिर चलते है बाजार। 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – ठीक है। 

ओर दोनो सुस्ताने लगे एक घंटे बाद तीन बजे आमिर ने मम्मी को जगाया ओर कहा – बेगम तैयार हो जाओ। 

तो मम्मी ने कहा – मे नहाकर आ रही आपको पेशाब करना है तो हो आओ फिर आकर तग करोगे। 

तो आमिर ने मम्मी को खिंचकर अपने उपर लेटा लिया ओर जोर गुदगुदी करने लगा ओर दोनो हसने लगे। 

तो मम्मी बोली – आ जाओ चले 

तो आमिर ओर मम्मी दोनो एक साथ बाथरूम मे घुस गये, मम्मी के नीचे बैठकर आमिर के लंड की तरफ मुह खोलकर बैठते ही आमिर अपने लंड से मम्मी के मुह को पेशाब से मम्मी को नहलाने लगा। मम्मी भी पानी की तरह आमिर के पेशाब को गटगट करके पीने मे लगी रही। 

आमिर के बाहर जाते ही मम्मी अच्छे से नहाकर बाहर निकली ओर बाहर आकर पजामा टीशर्ट पहन कर अलमारी से हिजाब निकालकर पहन लिया ओर कहने लगी काश मे भी मुस्लिम होती तो चुदाई की कोई कमी ना रहती। 

तो आमिर ने कहा – बेगम आपकी चुदाई करना तो खुशनसीबी की बात है वैसे मुझे पूछना तो नही चाहिए मगर फिर से जानना चाहता हू आपकी चुत की सील कीस खुशनसीब ने खोली थी आपके पति ने या ओर कीसी ने?! 

तो मम्मी ने कहा – नही जान उस चुतिये को पता ही नही चला मै इतनी चुदकर आयी हुई हू 

तो आमिर ने कहा – कोन था वो खुशनसीब जिसने इस हुर के रस को सबसे पहले चखा। 

तो मम्मी ने कहा – वो हमारे ट्रक का ड्राइवर मोहम्मद खान चाचा थे, उन्होने सबसे पहले मेरि चुत की सील खोली उसके बाद उसके हमारे एक कलेक्टर ओर उसके भतीजे ओर भांजे ने मुझे चोदा था शादी से पहले। 

मम्मी बोली – चलो जान मे तैयार हू 

तो आमिर ने कहा – बेगम ऐसे नही ओर आमिर ने मम्मी को सुरमा दिया ओर कहा – ये लगा लो पहले फिर चलेगे, सुरमा लगाने के बाद तुम पूरी मुस्लिम ओरत लगोगी। 

ये सुनकर मम्मी ने ढेर सारा सुरमा लगा लिया ओर हिजाब पहनकर चार बजे आमिर के साथ घर से निकल पडी घर से निकलते ही, 

आमिर ने कहा – जान एक बात कहू तो मेरा कहा मानोगी। 

तो मम्मी बोली – तुम्हारी बेगम तुम्हारा कहना नही मानेगी तो किसका मानेगी। 

ये सुनकर आमिर ने कहा – तुम्हारी दुकान से तुम्हारे लिए कुछ लेना है। 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – चलो जान ठीक है देखते है जो होगा चलो तुम्हे भी पता चले आखिर मेरा पति कितना बडा चुतिया है ओर दोनो हसने लगे। 

तभी रिक्शा लेकर मम्मी ओर आमिर हमारी दुकान पर चले गये आमिर ने पापा को सुट दिखाने को कहा, तो पापा ने बढिया बढिया सुट दिखाए मम्मी ने बिना बोले एक सुट पसंद कीया ओर आमिर ने पैसे दे दिये आमिर ओर मम्मी बाहर निकलकर कुछ दूर जाकर जोर से हसने लगा। 

आमिर ने कहा – जान सच मे ये तो बहुत बडा चुतिया है अपनी ओरत को नही पहचान सका। 

तो मम्मी ने कहा – मैने कहा था बस पैसे को पहचानता है ये चुतिया ओर फिर से दोनो हसने लगे। 

आमिर ओर मम्मी रिक्शा लेकर शोकत की दुकान पर पहुंचे तो मम्मी को हिजाब मे देखकर शोकत बहुत खुश हुआ, 

ओर आमिर ने शोकत को कहा – आपकी बहन मिलने का कह रही थी तो आ गये 

शोकत ने कहा – अच्छा कीया ये तो 

मम्मी बोली – अच्छा नही आज रात को आमिर के घर पर आ जाना चुप करके आज आज मै वही हू। 

ये सुनकर शोकत ने कहा – बहन बुलाए ओर भाई ना आए ये तो होगा ही नही। 

तभी मम्मी ने कहा – भाईजान सबीना के घर जाना है। 

तो शोकत ने कहा – आमिर यही बैठै है कोई लडका छोड आएगा तो शोकत ने अपने साले को आवाज दी तो शाहरूख नीचे आया। 

तो शोकत ने कहा – जाओ इन्हे सबीना के घर छोड आया 

शाहरूख ने मम्मी को आगे चलने को कहा तो मम्मी की मोटी गांड देखकर उसका लंड खडा होने लगा। मम्मी आगे चलकर पिछे देखा तो उसे समझ आ गया वो उसकी गांड मे खो गया है, 

ये देखकर मम्मी बोली – अब आगे हो जाओ बहुत देख लिया! 

तो शाहरूख ने कहा – आपकी आवाज तो कुछ जानी पहचानी है। 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – ये डायलॉग मारने से कुछ नही मिलेगा! 

तो शाहरूख बोला – कैसे मिलेगा! 

तो मम्मी हस दी, ओर कुछ नही कहा आगे से गली मे रिक्शा आया तो मम्मी साइड मे होकर रूक गयी।

तो शाहरूख ने कहा – आ जाओ तभी सबीना का घर आ गया ओर शाहरूख ने इशारा कर के कहा यही घर है 

तो मम्मी ने – ठीक है 

ओर घर के बाहर बनी दुकान के गेट को खोलकर अंदर चली गयी सबीना को हाथ उठाकर आदाब कीया, 

तो सबीना ने भी आदाब कहकर अभिवादन कीया ओर पूछा – आप कोन?! 

तो मम्मी ने कहा – वैक्स करवानी है तो सबीना ने 200 रूपये लगेगा! 

तो मम्मी बोली – ठीक है कर दो 

सबीना ने कहा – आपका नाम क्या है?! 

तो मम्मी ने आप भूल गयी इतनी जल्दी दो दिन पहले तो मुझे दुल्हन बनाया था! 

ये सुनते ही सबीना खुशी से उछल पडी बोली – मामी आप!!!!!! 

तो मम्मी ने कहा – कहा था मे आ जाऊगी ओर हिजाब से मुह निकालकर दिखाया! 

तो सबीना गले लग गयी, मम्मी ने सबीना को सुट दिया! 

तो सबीना ने कहा – ये किसलिए मामी 

तो बोली – मेरी बहन के लिए नेक है 

तो सबीना बोली – लगता है मेरी बहन मेरे भांजे को नही भेजेगी 

तो मम्मी बोली – तुझे बुलाकर ही चुदवा दूगी कही 

ये सुनकर सबीना ने कहा – फिर ठीक है मामी चाय बोल दू 

तो मम्मी ने कहा – जरूर फिर सबीना ने मामी ये सुट लाने की क्या जरूरत थी 

तो मम्मी बोली – बहन आमिर ने कहा मै तुम्हारे साथ तुम्हारी दुकान देखना चाहता ओर देखना चाहता हू तुम्हारे चुतिया पति को तो मे आमिर को लेकर हमारी दुकान पर गयी थी। 

तो सबीना बोली – मामी आपके पति को पता नही चला 

तो मम्मी ने कहा – चुतिया है इसलिए ही तो मुझे बाहर जाकर अपनी प्यास मिटानी पडती है 

तो सबीना बोली – मामी अब अपने लडके से चुदना शुरू करो ये तो आप शोकत मामू से मिली ओर फिर आमिर से अगर आप कीसी ऐसे वैसे के हाथ लग गयी तो आपको मुसीबत हो जाएगी। 

मम्मी बोली – सबीना मेरी चुत ने अच्छे बुरे कई लोगो को देख लिया, मै फसने वाली नही हू। 

तो सबीना बोली – ठीक है मामी मुश्ताक के पास चले क्या 

तो मम्मी ने कहा – अगले रविवार को आऊगी पक्का मगर जगह है क्या कोई अच्छी 

तो सबीना ने कहा – वो अकेला ही है बाप कमाकर लाता है वो घर पर रहकर खाता है 

तो मम्मी ने कहा – ठीक है अगले रविवार को पक्का 

तो सबीना बोली – भांजे को ले आना उसकी सील मे खोल दूगी 

तो मम्मी बोली – उसे बाद मे कुछ समान देकर भेज दूगी तब देख लेना तुम! 

तभी चाय आ गयी ओर मम्मी ने चाय पीकर सबीना को गले लगाया ओर दुकान पर आ गयी। तभी आमिर ने शोकत की दुकान से चुडे ले लिये ओर मम्मी के आते ही दोनो निकल पडे मम्मी ओर आमिर ने फिर गोलगप्पे खाये ओर दोनो एकदूसरे के बाहो मे हाथ डालकर घुमते रहे। 

आमिर ने फिर मम्मी को दो जोडी ब्रा पेटी खरीदकर दी ओर शाम को होटल से खाना पेल करवाकर दोनो घर पहुंच गये मम्मी ने घर पहुंचकर हिजाब को खोलकर अलमारी मे रखा ओर मुह धोकर आमिर ओर मम्मी छत पर कुर्सी डालकर बैठ गये। 

आमिर ने कहा – बेगम तुम कहो तो हम दोनो कही दूर चलकर रह सकते है 

तो मम्मी ने कहा – दूर क्यो हम तो यही साथ ही है ना 

आमिर ने कहा – वो चुतिया तुम्हारे लायक नही 

तो मम्मी ने कहा – सही कहा मगर वो चुतिया है तभी तो मै तुम्हारे साथ हू जान वर्ना हम मिलते ही नही 

तो आमिर ने कहा – ये भी सही है चलो कोई बात नही रात होने लगी है कमरे मे चले 

तो मम्मी बोली – शोकत भाईजान आ जाए फिर गेट को लोक करके आज खुले मे ही चुदाई करेगे एकबार 

तो आमिर ने कहा – ठीक है तभी कुछ देर बाद शोकत भाई आ गये 

तो आमिर ने कहा – शोकत भाई गेट लोक कर के ऊपर आ जाओ। 

तो शोकत ने अपना स्कूटर अंदर कर के बाहर के दरवाजे को लोक कीया फिर अंदर आकर अंदर के दरवाजे को लोक कर दिया ओर दो मिनट मै शोकत भाई ऊपर पहुंच गये। आज शोकत भाई नहा धोकर इत्र लगाकर आए थे शोकत के ऊपर आते ही मम्मी ने खडे होकर अपनी कुर्सी उनको दे दी ओर कहा बैठो भाईजान। 

ये सुनकर शोकत ने कहा – आप बैठो बहन मै लेकर आता 

तो मम्मी ने कहा – चुपचाप बैठ जाओ 

तो शोकत भाई बैठ गए मम्मी कुर्सी निकालकर ले आयी ओर कहा – भाईजान पहले खाना खा ले! 

तो शोकत ने कहा – बहन आज घर से गोश खाकर आया हू ओर कुछ आमिर जी के लिए भी लाया हू। 

तो मम्मी ने कहा – हम खाना लेकर आये है 

तो शोकत ने कहा – तुम मेरे साथ रोटी खा लो आमिर नीचे जाकर गोश खा लेगा 

ये सुनकर मम्मी बोली – ठीक है! 

आमिर ने कहा – बेगम अभी भूख नही है! 

तो मम्मी ने कहा – फिर एक राऊड कर ले 

तो शोकत ने कहा – ठीक है बहन चलो अंदर 

तो मम्मी बोली – अंदर नही बाहर ही करेगे आप गद्दे निकाल लाओ 

बस इतना सुनते ही शोकत बेड से गद्दे उठा लाया ओर छत पर बिछा दिये। 

तभी मम्मी खडी हुई और कहा – आ जाओ मेरे सैया! ओर मेरे भैया!! 

ये सुनकर शोकत ओर आमिर खडे होकर मम्मी के पास खडे हो गये, तो मम्मी ने शोकत के पजामे का नाडा खोलकर उनका कच्छा खींचकर उन्हे नीचे से नंगा कर दिया ओर शोकत ने खडे खडे कुर्ते को खोलकर फेक दिया। मम्मी ने शोकत के लंड को पकडकर अपने होठो से चुमकर उसे मुह मे भर लिया ओर शोकत का लंड कुछ सेकंड मे ही काला नाग बनकर मम्मी के मुह मे अंदर बाहर होने लगा। 

तो उधर मम्मी ने आमिर के लंड को हाथ मे लेकर मुठयाने लगी। आमिर का लंड भी तनकर तैयार हो गया तो मम्मी ने अब शोकत के लंड को मुह से आजाद करके आमिर के लंड को मुह मे भर लिया ओर चुसने लगी। दो मिनट के बाद मम्मी ने शोकत भाईजान आप नीचे लेट जाओ तो शोकत नीचे लेट गया ओर मम्मी टांग फैलाकर अपनी चुत पर लंड सेट कर के धीरे धीरे लंड को अपनी चुत मे समा लिया। 

ओर शोकत की छाती पर हाथ रखकर लंड पर कूदने लगी तभी आमिर ने मम्मी को शोकत के उपर झुका दिया ओर शोकत ने भी मम्मी को कसकर चिपका लिया। तभी आमिर ने मम्मी की गांड मे लंड पेल दिया ओर मम्मी की गांड ओर चुत की जमकर चुदाई करने लगे गांड ओर चुत मे दो मुसल लंड लेकर मम्मी मजे लेकर चुद रही थी। ओर जोर जोर आहे! भरकर चुदाई का मजा ले रही थी। 

15 मिनट के बाद मम्मी की चुत ने रस छोडा तो मम्मी शोकत के लंड को गांड मे लेकर शोकत की छाती पर पीठ चिपकाकर लेट गयी। अब आमिर ने बिना देर कीये मम्मी की चुत मे लंड पेल दिया ओर अब मम्मी की चुत ओर गांड से फचफच पटापट की आवाज निकलने लगी। तो मम्मी के मुह से आह जोर से जोर से की आवाज आने लगी करीब आधे घंटे की चुदाई के बाद आमिर ओर शोकत दोनो एक एक कर के मम्मी की गांड ओर चुत मे झड गये। 

दोस्तों इस Hindi Sex Kahani में तलाक के बाद आमिर के साथ माँ की आखिरी रात की चुदाई है तो इसे पढ़ते रहो। मम्मी अब नीचे लेट गयी। तो शोकत ओर आमिर लुगी बाधने लगे मम्मी की गांड ओर चुत से अब आमिर ओर शोकत का वीर्य बहकर बाहर निकलने लगा। तो मम्मी खडी होकर बाथरूम मे चली गयी ओर अपनी चुत ओर गांड को धोकर बाहर निकल आई। 

तभी शोकत ने कहा – बहन खाना ले आओ फिर दूध भी दे आना गर्म करके! 

तो मम्मी ने कहा – ठीक है भाईजान! 

मम्मी ओर शोकत ने खाना खाया तो नीचे आमिर गोश खाकर उपर आ गया ओर फिर मम्मी दूध लेकर आ गयी। शोकत ने अपनी जेब से गोली निकाली ओर दो आमिर को दे दी ओर दो खुद खा ली। 

अब शोकत ने कहा – बहन गद्दे अंदर डाल दू 

तो मम्मी ने कहा – डाल दो 

शोकत ओर आमिर बाहर बैठ गये तो मम्मी भी आमिर की गोद मे बैठकर शोकत को आख मारकर देखने लगी ओर तीनो घंटे भर बाते करते रहै। 

तभी मम्मी ने कहा – आमिर आपका लंड तो लुगी सहित गांड मे घुसने को तैयार है ओर आप यहा बैठकर बाते कर रहै है। 

तो शोकत ने – बहन तुम लंड पर बैठी हो तो घुसेगा ही मेरा तो यही घुसने को तैयार है 

तो मम्मी बोली – चलो अंदर देखती हू दोनो को 

ओर फिर तीनो कमरे मे चले गये मम्मी घूटनो के बल बैठकर दोनो लंड बारी बारी से चुसने लगी, गोली खाने के बाद दोनो के लंड ओर मोटे ओर एकदम कडक हो गये थे। दस मिनट की चुसाई के बाद मम्मी ने शोकत को गोद मे लेने को कहा तो शोकत ने मम्मी को गोद मे उठा लिया ओर अपने लंड को चुत पर लगाकर अंदर धकेल दिया। 

तभी आमिर ने मम्मी की गांड मे लंड घुसा दिया ओर दोनो खडे खडे मम्मी की चुदाई करने लगे दो मूसल लंड मम्मी की गांड ओर चुत फाडने लगे ओर मम्मी भी दोनो लंडो पर कूद कूदकर चुदाई का मजा लेने लगी। आधे घंटे के राऊड मे दो बार मम्मी की चुत ने कामरस छोड दिया था मगर शोकत ओर आमिर अभी छुटने कै आसपास भी नही थे। आमिर ने गांड से लंड निकालकर मम्मी को बेड पर चलने को कहा ओर बेड पर लेट गया मम्मी भी चुत मे लंड लेकर आमिर से चिपक गयी। 

तो शोकत ने पिछे आकर गांड मे लंड पेल दिया ओर एकबार फिर से मम्मी की ताबडतोड चुदाई शुरू हो गयी। मम्मी भी खुलकर चुदाई का मजा ले रही थी ओर दोनो को उत्तेजित कर रही थी।

मम्मी – आह आह आ आ आ अम्म अम्म… जोर से… जोर से… उई मा मर गयी! सी सी सी ओ ओ ओ ओ! 

कर के वो उनको उत्तेजित करती रही। तो वो दोनो भी पूरे जोश से मम्मी की चुत ओर गांड को फाडने मे लगे रहे। आखिरकार एक घंटे की जोरदार चुदाई के बाद तीनो एक एक कर के झड गये ओर बेड पर लेटकर सुस्ताने लगे। पांच मिनट के बाद मम्मी ने कहा चलो बाहर चलकर बैठते है घडी मे अब 12 बज चुके थे। 

तो शोकत ने कहा – बहन क्या इरादा है 

तो मम्मी बोली – जवानी का रस पी लो जितना चाहे कोन मना कर रहा है 

तो शोकत ने कहा – जरूर फिर तीनो बाहर आकर कुर्सी पर बैठ गए ओर बाते करने लगे कुछ देर बाद 

शोकत ने कहा – बहन एक राऊड ओर कर ले फिर सोकर सुबह एक राऊड ओर कर लेगे 

तो मम्मी ने कहा – एक दो क्यो तीन चार करो भाईजान मना कोन कर रहा 

तो शोकत ने कहा – बहन तुम ढलती उम्र मे मिली हो जवानी मे मिलती तो सारी रात लंड पर ही बैठाकर रखता तुम्हे खैर चलो अब जब मिली हो तो कोई कसर नही रखेगे। 

तीनो जने कमरे मे पहुंचे तो शोकत को मम्मी ने सोफे पर बैठने को कहा ओर कुतिया बनकर शोकत की टांग फैलाकर उसका लंड मुह मे लेकर चुसने लगी। तभी आमिर मम्मी के पिछे आकर उनकी गांड ओर चुत को चाटने लगा मम्मी ने दस मिनट मे आमिर का लंड चुस चुसकर लाल कर दिया। 

उधर आमिर भी मम्मी की गांड ओर चुत को चाटकर मम्मी को जन्नत की सैर करवा रहा था तभी मम्मी सोफे पर चढ़कर शोकत के लंड पर टांग मोडकर बैठ गयी ओर पिछे से खडे खडे आमिर ने अपना लंड मम्मी की गांड मे पेल दिया। अब एकबार फिर चुत लंड ओर गांड लंड का घमासान युद्ध शुरू हुआ ओर मम्मी अब जोर जोर चिल्लाने लगी। मम्मी जितना चिल्लाती उतनी ही जोर से शोकत ओर आमिर मम्मी की बजाते करीब 15  मिनट के बाद मम्मी झडने लगी। 

तो मम्मी घुमकर शोकत के लंड को गांड मे ले लिया ओर आगे से तैयार खडे आमिर ने भी मम्मी की चुत मे लंड मे लंड उतार दिया। मम्मी एकबार फिर उछल उछल चुदने लगी तो वो भी पूरी ताकत से चोदने लगे 15 बीस मिनट बाद मम्मी दूसरी बार झडी तो वो खडी होकर बेड के पास जाकर खडी हो गयी। फिर बेड पर झुक गयी तभी आमिर ने आकर गांड मे लंड पेल दिया तो शोकत बेड पर पैर लटकाकर मम्मी के आगे बैठ गया। 

मम्मी ने शोकत के लंड को मुह मे ले लिया ओर चुसने लगी तो आमिर गांड को पटापट बजाने लगा आमिर ने बिना रूके 20 मिनट तक मम्मी की गांड फाड चुदाई की ओर झडने को हुआ। 

तो मम्मी ने कहा – आमिर तुम सामने आ जाओ ओर शोकत भाईजान आप काम पर लग जाओ! 

तो शोकत ने पिछे जाकर चुत मे लंड पेल दिया ओर उधर मम्मी ने दो मिनट मे आमिर के लंड से सारा माल खाली कर दिया ओर मुरझा रहे लंड को अच्छे से चाटकर साफ कर दिया। आमिर अब बेड पर लेटकर सुस्ताने लगा तो शोकत अभी भी पूरी ताकत से मम्मी को पेल रहा था। आखिरकार शोकत के लंड ने भी आधे घंटे बाद जवाब दे दिया ओर शोकत ने सारा माल मम्मी की चुत मे ही गिरा दिया ओर फिर दो मिनट तक लंड फंसाकर खडा रहा। 

दो मिनट बाद शोकत का लंड भी अपने आप सुस्त होकर बाहर निकल गया ओर तीनो बेड पर सो गये। सुबह 5 बजे मम्मी उठी तो दोनो को जगाया, ओर कहा – मुझे जाना है। तो आमिर ने घंटा ओर सो जाओ फिर देखेंगे तो फिर 6 बजे शोकत ने दोनो को जगाया। 

तो मम्मी ने कहा – मे चाय बना लाती है। 

तो शोकत ने कहा – जरूर! 

मम्मी चाय बनाकर लाई तो चाय पीकर शोकत ने कहा – मै फ्रेश होकर आता हू। 

तो मम्मी बोली – ठीक है मुझे भी नहाना है। 

तो शोकत ने कहा – चलो फिर खाली होने से पहले आपको ही नहला देते है। 

ये सुनकर – मम्मी हंस दी! 

ओर तीनो बाथरूम मे पहुंच गये मम्मी के बैठते ही दोनो ने मम्मी पर मुतना शुरू कर दिया। तो मम्मी को पेशाब से नहला दिया। मम्मी फिर फ्रेश होकर नहाकर आ गयी। मम्मी ने तोलिया लपेट रखा था। मम्मी के गीले खुले बालो को देखकर दोनो को लंड फिर से खडा होने लगा। 

तो मम्मी के कहा – अरे आप लोग क्या खाते है?!! मेरे पति का 15 दिन मे एकबार ही मुश्किल से खडा हो पाता है!! 

तो वो बोले जान इसके लिए हम बहुत खर्च करते है सैक्स के लिए, बहुत कुछ आता है जो हम रोजाना खाते है, इसलिए। खैर, अब बाते छोडो ओर आ जाओ। 

मम्मी के भीगे बदन को वो दोनो जने आगे पिछे से चाटने मम्मी की आखे बंद हो गयी ओर सिसकारी लेने लगी ओर सुबह सुबह जाने से पहले एकबार ओर आधे घंटे तक मम्मी ने जमकर चुदाई करवाई। ओर फिर चोटी बनाकर हल्की लिपस्टिक लगाकर, ब्रा पेटी पहनकर, साडी पहल ली, ओर आमिर ओर शोकत के पास आकर बैठ गई। 

मम्मी ने कहा – आमिर से कहा जनाब अब तो खुश हो! 

तो शोकत ओर आमिर दोनो ने एकसाथ ही कहा – आपने ये क्या कहा हम तो आपके लिए दुनिया छोड दे। 

तो मम्मी बोली – आप यही रहो मे भी आती रहूगी। 

ओर मम्मी बेग उठाकर दोनो से गले लगकर आ गयी। अब मम्मी 4 दिन रात चुदकर घर आ ही गयी। घर आते ही मम्मी ने मुझे कसकर गले लगा लिया। मम्मी के बदन की खुशबु उस दिन पहली बार मेने महसूस की थी, शशी भी आकर मम्मी के गले लग गयी ओर फिर मम्मी ने चोपड से खरीदी कृष्ण जी दो चेन हमे दे देकर हमे खुश कीया। 

उस समय ये मालुम नही था की मेरी रंडी मा क्या क्या गुल खिला रही है। मम्मी ने शशी को चाय पिलाने को कहा ओर पापा को जाकर झूठी कहानीया सुनाने लगी। मम्मी एकबार पहले मथुरा जाकर आ चुकी थी इसलिए वो सारी कहानी हमे सुनाने लगी। 

मगर मम्मी की नजरे आज बदल चुकी थी खैर मे स्कूल चला गया ओर शशी कालेज आज मम्मी दिन भर सोती रही। शाम को मम्मी उठकर नहाने गयी ओर खाना बनाकर छत पर चली गयी। घुमने मम्मी ने आज गाऊन पहना था जिसमे ब्रा नही पहनी। रात को खाना डालते वक्त मम्मी ने जमकर अपनी चुचियो का दिदार करवाया जिसे देखकर मुझे पसीना आना लगा ओर पेन्ट मे उठाव होने लगा था।

कहानी अभी जारी है, पढ़ते रहिये मेरी माँ की अन्तर्वासना की आत्म कथा Non Veg Sex Story को, और मिलते है अगले भाग में।

Writer – Rohit Singh, [email protected]

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
25.7k
+1
20.9k
+1
5.7k
+1
16.8k
+1
325
+1
571

Similar Posts

11 Comments

  1. कहानी लंबी है तो लिखने मे प्रकाशित होने मे समय लगता है भाईजान

  2. Ye antarvasna maa story or bhi mast hoti ja rhi hai or bahut maza ata ha padne me esa lg rha me salo se koi web series dekh rha hu thank you author.

  3. Aamir or in bando ke maze hi a gye suchme esi aurat inko kya kya de rhi hai wo bhi free me! Ab to lagta hai bete ke bhi maze ane wale hai.

  4. अब तो इस आमिर से जलन होने लगी है बहुत मजे लिए है इसने

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *