/ / माँ की अन्तर्वासना – एक सेक्सी आत्मकथा🔥💜(Part-4)
Aunty Sex Story Bhabhi Sex Story Couple Sex Story Desi Sex Story Family Sex Story First Time Sex Story Girlfriend Sex Story Group Sex Story Hindi Sex Story Maa Beta Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

माँ की अन्तर्वासना – एक सेक्सी आत्मकथा🔥💜(Part-4)

अब तक आपने पढा शादी से लोटते ही मम्मी की खुशी गुम हो गयी ओर सगाई के बाद महीने मै मम्मी की शादी हो गयी 19 साल की उम्र मै मम्मी की शादी हो गयी। नानाजी ने मम्मी की शादी मै दहेज मै रेडियो टीवी साइकल गाय बकरी बर्तन फर्नीचर के साथ 30 भरी सोना ओर 1 किलो चांदी भी दी थी। 

ये इस Maa Sex Story आत्मकथा का भाग 4 है, यदि अपने पिझले भाग नहीं पढ़े तो उन्हें पढ़ले कहानी बहुत ही जबरदस्त गजब की चल रही है और सभी लोग इसे बहुत पसंद कर रहे है। कहानी को पूरा पढ़े और शेयर भी करे

मेरे पापा का परिवार बहुत गरीब था हमारा परिवार काफी बडा परिवार है 6 भाई ओर 4 बहनो मै पापा तीसरे नंबर के थे दादाजी के 6 भाई ओर तीन बहने थी ओर उन सभी के इसी तरह बच्चे है 8 से 10 तक पापा पढे लिखे ओर 6 फुट के जवान थे। 

सुहागरात के समय मम्मी ने चुदाई के समय रोने का नाटक कर के पापा को कुछ पता नही चलने दिया पापा का लंड भी 6 इंच का था मम्मी उससे संतुष्ट तो हो जाती थी। मगर आज भी उसे खान की याद आती थी चार महीने के बाद पहला सावन आया था तो मम्मी अपने पिहर जाने की तैयारी कर रही थी। 

ओर उसी दौरान मम्मी का पाव भारी हो गया मम्मी बडी खुश थी वो माँ बनने वाली थी ओर फिर मम्मी पिहर चली गयी सावन के लगने से एक दिन पहले ओर खान चाचा बडी बेसब्री से मम्मी का इंतजार कर रहे थे, मम्मी के जाते ही सब मिलकर मम्मी से बडे खुश हुए ओर मम्मी का पेट भी अब बाहर निकल आया था। 

रात होते ही हमेशा की तरह खान मम्मी का इंतजार करने लगा मगर मम्मी देर रात तक नही गयी तो खान पेशाब करने के बहाने बाहर निकला मम्मी को देखने गर्मीयो के दिन थे सभी बाहर सो रहै थे। तो मम्मी चाहकर भी नही आ पाई ओर खान चुपचाप जाकर लेट गया अगले दिन सुबह नानीजी खेत चले ओर बाकी मम्मी के भाई बहन स्कूल चले गये। 

उनके जाने के बाद आज पहली बार खान साहब ने दिन मै ही दो बार मम्मी की चुदाई करी मम्मी ने सोचा था वो अब ऐसा नही करेगी मगर लंड की हवस ऐसा करने से उन्हे रोक नही पाई, ओर वो एकबार फिर से खान से अपनी चुत मरवा बैठी। 

सावन के पूरे महीने मै मम्मी ने जमकर चुदाई करवाई ओर सावन खत्म होते ही मम्मी ससुराल लोट आई, नवंबर मै मम्मी ने मेरी बडे भाई को जन्म दिया ओर वो भाई महीने भर बाद चल बसा, उसके बाद मेरी बडी बहन का जन्म हुआ इस तरह ससुराल मै तीन साल निकल गये ओर मेरे पापा ने अपने शहर मै एक साबुन फैक्ट्री डाल दी। 

जिसके लिए मेरे नानाजी ने तीस हजार रूपये दिये थे ओर कुछ पैसे लोन ओर गहने बेचकर जमा कीये मगर दो साल बाद उस फैक्ट्री मै घाटा लग गया ओर उस कारण पापा ने अब सेक्स करना छोड दिया था। मगर मम्मी की चुत को रोज लंड चाहिए था इतना बडा परिवार होने के कारण वहा मम्मी कुछ नही कर सकती थी। सिवाए मस्तराम स्टोरी पढ़ने के और सवयं को संतुस्ती देने के, जो मम्मी करना नहीं चाहती थी। तो उन्होने नानाजी से बीस हजार रूपये ओर लिये ओर पापा को लेकर दूसरे शहर मै चली गयी। 

वहा पापा ने कपडे की दुकान कर ली बाजार मै ओर बाजार से बाहर घर ले लिया किराये पर मम्मी ने यहा आकर चैन की सास ली ओर अपनी चुत की खुजली मिटाने के लिए अपने आसपास के घरो मै देखा, हमारे पडोस मै एक रूपराम जाट नाम के पडोसी थे। बस उनकी मनिहारी की दुकान थी, रूपराम अभी कुंवारा था ओर हष्ट-पुष्ट शरीर का मालिक था। 

रूपराम का परिवार 10 किलोमीटर दूर खेत मै ही रहता था मगर साधन नही होने के कारण रूपराम महीने मै घर जाता था एकबार मम्मी ने रूपराम से दुकान से कुछ समान मंगवाया तो रूपराम समान लेकर आ गया शाम को मगर रूपराम शाम को घर पर नही आया समान देने अगले दिन जब पापा चले गये। तो रूपराम घर आया समान देने मम्मी ने रूपराम से मेलजोल बढाने के लिए चाय पीने को कहा। 

तो रूपराम भी तैयार हो गया ओर बातचीत लग गये दोनो चाय पीकर रूपराम जाने लगा तो, 

मम्मी ने कहा – पैसे ले जाओ 

रूपराम जी तो उसने कहा – क्या भाभी जी क्या करेगे इतने पैसो का 

तो मम्मी ने – मुझे समान ओर भी लेना है.. कितना समान दे दोगे फ्री में?? 

तब रूपराम ने कहा – समान के साथ जान भी ले लो भाभी जी 

“इस तरह वो हंसने लगे” 

तो मम्मी ने कहा – रूको मै लिस्ट ला देती हू 

फिर मम्मी ने समान की लिस्ट पकडा दी रूपराम शाम को समान ले आया, 

मगर आज की तरह वो अगले दिन ही घर आया पापा के जाने के बाद  मम्मी ने रूपराम के हाथ मै थैला देखा, 

तो कहा – इतना क्या समान ले आए, 

तो कहा – आप ही देख लो 

मम्मी ने थैला देखा तो उसमे 6-6 पीस ब्रा पेटी के थे 

मम्मी ने कहा – मुझे सिर्फ दो जोडी चाहिए 

तो रूपराम ने कहा – आपने रंग नही लिखा तो तीन रंग के आया हू, पहन के देख लो, जो पसंद आए वो रख लेना, मै बाहर बैठा हू! 

मम्मी अंदर जाकर ब्रा पहनने लग गयी ओर पहनते हुए रूपराम को आवाज लगाकर कहा – रूपराम ये साइज कोनसा है… आ ही नही रहा है!!! 

रूपराम ने कहा – अंदर आकर देखू क्या?!! 

मम्मी ने कहा – आ जाओ मम्मी से तबतक ब्रा बंद हुई नही थी 

तो रूपराम से कहा – देखो बंद ही नही हो रही है, तुम बंद करो जरा इसे… 

रूपराम ने ब्रा खींचकर बंद कर दी ओर कहा – ये तो 40 साइज है आपने 38 मांगी थी तो कैसै आएगी 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – तुमको कैसै पता 40 है 

तो रूपराम ने कहा – मेरा काम ही यही है भाभीजी इतनी टाइट पहनोगी तो छाती दर्द करने लग जाएगी 

तो मम्मी ने कहा – कल काले रंग की 2 40 नबर की ब्रा ला देना ओर दो पेटी रख ली 

रूपराम ने पूछा – भाभी पेटी तो पूरी आयी है ना 

मम्मी ने कहा – वो पूरी आ गयी है 

तो रूपराम ने कहा – मुझे लग रहा है वो भी छोटी है 

मम्मी ने – लास्टिक ढीला होने के बाद अपने आप निकलने लग जाती है इसलिए छोटी मंगवाई है 

तो रूपराम ने कहा – मै बढिया लाकर दे दूंगा आप चिता मत करो 

इस तरह अगले दिन, 

रूपराम दो काले रंग की 40 नबर की ब्रा ओर दो काले रंग की 95 नबर की पेटी लेकर आ गया। मम्मी नहा धोकर रूपराम का ही इंतजार कर रही थी रूपराम को चाय बनाकर दी ओर ब्रा ओर पेटी कमरे मे रखकर बाहर आ गयी तब, 

रूपराम ने – भाभी पहनकर देखलो कही छोटी बडी हो तो मै यही हू 

“मम्मी को भी मोका मिल गया” 

मम्मी ने कहा – तुम बैठो मै अभी पहनकर बताती हू मम्मी घर पर नाईटी पहनकर रहती थी उन्होने नाईटी उतारकर ब्रा पेटी पहनी ओर नाईटी पहनकर रूपराम को आवाज लगाई। रूपराम भी इंतजार कर रहा था मगर अंदर जाते ही निराश हो गया। 

“मम्मी समझ गयी,” 

मम्मी ने कहा – रूपराम ये सही है बिलकुल बहुत आरामदायक है ओर अंदर ही अंदर हंस रही थी 

रूपराम ने कहा – अब क्या पता आपने पहनी है के नही 

तो मम्मी बोली – मुझे शर्म आती है 

तो रूपराम ने कहा – कल भी तो देखी थी भाभी जी!! 

तो मम्मी बोली – ठीक है, 

मम्मी ने नाईटी खोल दी ओर ब्रा ओर पेटी मै मम्मी को देखकर रूपराम के लंड का उभार पजामा मै दिखने लगा मम्मी को मम्मी की Antarvasna हवस अब जाग गयी थी। 

मम्मी ने रूपराम को कहा – अब ठीक है या कल की तरह बंद कर के देखोगे तभी मानोगे 

“रूपराम भी समझ गया ये चुदना चाहती है” 

तो रूपराम ने कहा – भाभी जी पता तो तभी चलेगा 

ओर ये कहकर वो मम्मी की तरफ बढा मम्मी पीठ घुमाकर खडी हो गयी 

ओर कहा – जल्दी से बंद कर के देखो गेट खुला पडा है कोई आ जाएगा 

तब रूपराम ने कहा – भाभी आप रूको मै एक मिनट मै गेट बंद कर के आता हू 

रूपराम जल्दी से गेट बंद कर के कमरे मै आ जाता है मम्मी अभी भी पीठ घुमाकर आधी नंगी खडी थी, रूपराम ने ब्रा खोलकर बाहर निकाल दी, 

मम्मी ने कहा – ये क्या कर रहै?? 

तो कहा – भाभी जी रूको तो सही 

ओर मम्मी का मुह घुमाकर अपनी तरफ कर लिया ओर कमर मै हाथ डालकर मम्मी को अपनी छाती से चिपा लिया ओर मम्मी के नंगे बदन पर हाथ घुमाने लगा। मम्मी गर्म सांसे छोडने लगी – आहै भरने लगी, 

रूपराम ने मम्मी के दोनो बोबो को कसकर दबा दिया ओर मम्मी की चोर की आह निकल गयी रूपराम ने मम्मी के होठो पर अपने होठ रखे ओर चुमना शुरू कर दिया। मम्मी ने भी रूपराम के होठो को अपने होठो से जोर से चुसना शुरू कर दिया खडे खडे दोनो दस मिनट मिनट एक दूसरे को चुसते रहै। 

फिर रूपराम ने मम्मी को बेड पर पटककर उसकी पेटी निकाल दी ओर अपना कुर्ता पजामा खोल दिया ओर मम्मी के ऊपर लेटकर मम्मी के होठो को चुसने लगे मम्मी के बोबस दबाने लगा मम्मी ने भी रूपराम के कच्छे मै हाथ डाल दिया उसके लंड को महसूस करने के लिए रूपराम का लंड भी 6 इच लंबा ओर 3 इच मोटा था। 

मोटा लंड देखकर मम्मी की चुत से पानी निकलने लगा ओर मम्मी ने रूपराम को कसकर पकड लिया रूपराम कुवारा जरूर था मगर मगर एक नबर चोदू था। 

उसने देर ना करते हुए अपना कच्छा उतारकर लंड पर थूक लगाकर मम्मी की चुत पर सेट करके जोर का झटका मारा रूपराम का आधा लंड चुत के अंदर चला गया ओर दूसरे झटके मै पूरा लंड चुत मै समा गया। रूपराम ने फिर  अपने कुवारे लंड से मम्मी के भोसडे की चुदाई शुरू कर दी, मम्मी और पडोसी की चुदाई चालू हो गई।

मम्मी भी कुंवारे लंड से चुदकर आज खुश हो रही थी। दोनो जने जोरदार चुदाई करते रहै काफी देर मम्मी ने दस मिनट मै पानी छोडा, तो रूपराम ने 15 मिनट की चुदाई की बाद मम्मी की चुत को गर्मा गर्म वीर्य से भर दिया था। 

🧡 इसे भी जरूर पढ़े – XXX Story Hot Collections🔥

इस तरह मम्मी ने दो महीने मै अपना पहला शिकार ढूढ लिया अब मम्मी निश्चित हो गयी इधर पापा का काम भी ठीक चलने लगा ओर उन्होने एक जीप ले ली थी कपडे सप्लाई के लिए ओर कुछ महीने बाद रूपराम की शादी हो गयी। तो उसने आना छोड दिया इस बीच मम्मी पापा की चुदाई के चलते मम्मी गर्भवती हो गयी ओर मेरा जन्म नवंबर मै हुआ!!

मम्मी की शादी को 6 साल हो गये थे अब तक मेरे जन्म के बाद मम्मी ने ऑपरेशन करवा लिया था जिसके बाद मम्मी बिलकुल फ्री थी ओर पापा ने अब सीकर मै अपना मकान भी ले लिया था। बडी बहन 3  साल की हो गयी थी पापा का काम अच्छा चलने लगा तो पापा घर से बाहर रहने लगे। 

कपडे की दुकान पर काम करने वाले लडके ओर जीप ड्राइवर की नजर अब मम्मी पर थी मम्मी की चुत को भी लंड की जरूरत थी अगली Sexy Story मै आपको पता लगेगा किसकी लॉटरी लगी अब। तबतक कमेंट करे और अपने विचार दे।

Story to be continued…

Story Sender Name – Rohit Kumar ([email protected])

🧡 इसे भी जरूर पढ़े – मम्मी की सहेली की चुदाई

🧡 इसे भी जरूर पढ़े – मम्मी को चोदा और मां बना दिया!!

🧡 इसे भी जरूर पढ़े – मेरी अम्मी जान रखैल थी!!

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
1
+1
2
+1
0
+1
2
+1
0
+1
0

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *