/ / माँ का निकाह और हलाला – 3
Bhabhi Sex Story Desi Sex Story Group Sex Story Hindi Sex Story Maa Beta Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

माँ का निकाह और हलाला – 3

सबीना ने कहा – बहन हमारे पति घर पर हमे सोने ही तो देते है इसलिए तो भाईजान को आपकी सेवा का मोका मिला। तभी मम्मी ने कहा – मेरे तो दोनो पतियो ने ही नही सोने दिया सबीना! 

ये सुनकर सबीना बोली – ये बात है तो मामूजान को बोल देती हू तंग ना करे मेरी मामी को 

तभी शोकत ने कहा – पूछ लो तंग किया मेने तो सारी रात बस प्यार कीया था, प्यार मे कोई कमी रह गयी तो पूछ लो 

ये सुनकर मम्मी बोली – दो शोहर, दो देवरो, के होते भला प्यार मे कमी केसै रहेगी लुट लो मामी मोज ये दिन बार बार नही आएगे!

पिछला भाग – माँ का निकाह और हलाला -2। 

तो मम्मी ने कहा – मालूम है सबीना तभी तो रात को सोए नही सबीना बोली घर जाकर आराम से सोना वो तो देखेगा भी नही बडा मूर्ख आदमी है, जो ऐसे हसीन माल को देखता नही

तभी मम्मी बोली – सबीना आऊ उपर चले कुछ काम है 

शोकत ने कहा – चलो तुम उपर जाओ हम कोई खाने पीने का प्रबंध करते है 

तो मम्मी सबीना उपर आ गयी कमरा अभी भी गुलाब के फुलो की खुशबु से महक रहा था मम्मी की चुदाई की कहानी जोरदार बेड पर फैले उनका कामरस बयान कर रहा था चद्दर पर जगह जगह दाग के निशान देखकर 

सबीना ने कहा – बहन तुम वाकई मे बहुत बडी रंडी हो चुदाई के मामले मै. 

सबीना ने मम्मी की दुल्हन ड्रेस को नीचे से उठाया ओर समेटने लगी 

तो मम्मी ने कहा – सबीना वो कर लेगी 

तो सबीना ने कहा – रहने तो मामी झुकने मे तकलीफ होगी 

तो मम्मी ने कहा – ऐसी तकलीफ तो हमेशा ही रहे मेरी बहन 

तो सबीना ने कहा – बेटे को सेट कर लो फिर तकलीफ ही तकलीफ रहेगी ओर हसने लगी 

मम्मी बोली – सबीना दो तीन दिन अगर तेरे साथ रहूगी तो बेटे का बलात्कार करना होगा मुझे तो ओर हसने लगी 

सबीना बोली – बहन बलात्कार नही प्यार करना कहो एक बार अपना हुस्न का जलवा दिखाना अपने बेटे को फिर देखना वो हवशी ना बन जाए, तो बस अपनी चुचियो ओर गांड के दर्शन अच्छे से करवा दो तो फिर वो खुद ही पेल देगा। 

मम्मी ने अलमारी ने पर्स निकालकर हजार रूपये सबीना को दिये 

तो सबीना बोली – ये किसलिए बहन 

मम्मी ने कहा – बहन तुम्हारे काम के 

तो सबीना बोली – बहन भी कहती हो ओर पेसै भी दे रही हो 

ये सुनकर मम्मी बोली – क्यो समान फ्री मिलता है क्या 

तो सबीना बोली – मामू ने पेसै दे दिये है 

तो मम्मी ने कहा – ये भी रख लो मेरी तरफ से 

सबीना ने कहा – छोटी बहन से बडी बहन केसै पेसै लेगी अगर इतना ही है तो मुश्ताक को खुश कर दो मेरा कहा मानकर 

तो मम्मी बोली – क्या बात है मुश्ताक की बहुत चिंता है 

तो सबीना ने कहा – उसकी चुदाई से मे बेहोश हो गयी थी मगर वो नही माना तो मेने उसे कोई जोरदार माल पटाकर देने का वादा कीया था तब उसने छोडा था अब कही मिल जाए तो वो कहता है तुम ही दे दो माल तो कोई मिलेगा नही इसलिए कह रही हू 

एकबार तुम चुदाई करवाकर मेरा पिछा छुडा दो बदले मे तुम्हारे बेटे को मै पहली चुदाई का सुख दे दूगी 

तो मम्मी बोली – बेटे को छोडो मे मुश्ताक को खुश यू ही कर दूगी 

तो सबीना बोली – लगता है बेटे की सील तुम ही खोलोगी 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – नही तो 

सबीना बोली – कोई बात नही सील खुलने के बाद भेज देना मेरा भोसडे को भी कोई जवान लंड मिल जाएगा 

तो मम्मी बोली – ठीक है बहन पहले मे अपने बेटे को देखू तो सही कुछ करने लायक है की नही 

ये सुनकर सबीना – बोली बहन वादा करो मुझे भी मजे लेने दोगी 

तो मम्मी ने कहा – मगर कहा लेगा मजा 

तो सबीना बोली – ये आपकी चिंता नही मेरि है तो मम्मी नेवकहा ठीक है पक्का वादा अब साफ सफाई कर ले फिर दोपहर मे दोनो बहने चारो लंडो को मजा देती है हम दोनो 

ये सुनकर सबीना बोली – ठीक है बहन जो तुम कहो मगर अपना वादा याद रखना ओर हो सके तो कुंवारे बेटे को मेरे पास ही भेजना पहली बार के लिए 

तो मम्मी बोली – देखूगी वो तो 

ओर फिर मम्मी ओर सबीना ने मिलकर साफ सफाई की, सफाई करके मम्मी ओर सबीना नीचे आ गयी। शोकत ओर असलम खाना लेने गये हुए थे कुछ देर बाद वो खाना लेकर आ गये ओर सब दरी बिछाकर एकसाथ बैठकर खाना खाने लगे। 

खाना खाते ही मम्मी ने कहा – मुझे तो नीद आ रही है ओर मै उपर जाकर सो रही है कोई तंग करने मत आ जाना 

ये सुनकर शोकत ने कहा – तंग नही प्यार तो करने आ जाए 

तो मम्मी ने कहा – उसके लिए तो मै ओर सबीना दोनो तैयार है ही कब से 

तो शोकत ने कहा – चलो फिर उपर हम आते है सभी 

मम्मी ओर सबीना बेड पर जाकर लेट गयी। तो कुछ देर बाद ही कमरे मै असलम नावेद आमिर ओर शोकत आ गये ओर कमरे मे आते ही शोकत ने कहा बेगम पहले कुछ प्यार कर ले फिर आराम करेगे ना। 

तो मम्मी ने कहा​ – तो तैयार है आ जाओ ओर करो प्यार तो शोकत ने मम्मी को बेड से नीचे उतारकर ले आया ओर मम्मी के होठो को चुमने लगा। तो असलम भी मम्मी के पिछे आकर चिपक गया ओर गर्दन को चुमते हुए गांड को दबाने लगा, उधर आमिर ने सबीना को बेड पर बैठाकर उसे कीस करने लगा तो नावेद पिछे आकर सबीना की चुचियो को दबाने लगा। 

देखते ही देखते सब सबीना ओर मम्मी को बिलकुल नंगी हो गयी ओर चारो जने सबीना ओर मम्मी के बदन के अंग अंग को चाचकर उनदोनो की कामवासना को भडकाने लगे मम्मी अब नीचे बैठकर शोकत के लंड को चुसने लगी। तो असलम अपने लंड को खडा खडा हाथ से हिलाने लगा उधर सबीना भी आमिर का लंड चुसने लगी ओर नावेद बेड पर लेटकर सबीना की गांड को चाटने लगा। 

तभी शोकत ने कहा रंडीयो जरा नाच-गाना तो कर के दिखा दो हमे तो सबीना ने कहा जरूर मामूजान ओर नीचे आकर अपनी गांड हिलाकर नाचने लगी। मम्मी को नाचना नही आता था तो वो शोकत के लंड को चुसने मे लगी रही 

तभी सबीना ने कहा – बहन तुम भी नाचो 

तो मम्मी बोली – मुझे नाचना नही आता 

तो सबीना ने कहा – आओ मे बताती हू 

तो मम्मी खडी हो गयी सबीना खडी खडी अपनी गांड ओर चुचियो को मस्ती से हिला रही थी टेप पर कोई अरब का संगीत चल रहा था। मम्मी भी सबीना की तरह धीरे धीरे अपनी गांड ओर चुचियो को हिलाकर नाचने लगी। तब सबीना नीचे लेट गयी ओर पिछवाडा उठाकर अपनी गांड हिलाने लगी तो मम्मी भी सबीना के पास लेटकर अपना पिछवाडा हिलाकर गांड को हिलाने लगी। 

फिर सबीना ओर मम्मी अपनी गांड को हिलाकर एक दूसरी की गांड से गांड को टकराने लगी तभी सबीना सीधी होकर लेट गयी ओर मम्मी को उपर बुला लिया ओर एकदूसरे से लिपटकर पलटने लगी आधे घंटे तक दोनो ने मिलकर जबरदस्त कामुक डास किया। तो सभी ने दोनो पर अच्छे खासे नोट उडा दिये जिसे सबीना ओर मम्मी अपने मुह से उठाकर अपने हाथो से इकट्ठा करने लगी सभी ने जोरदार ताली बजाकर उनके नाच की तारीफ की नाच के खत्म होते ही मम्मी कुतिया बन गयी फर्श पर 

ओर शोकत को कहा – पहले अब चुदाई कर लो जान फिर कुछ देर आराम करना है 

तो शोकत ने अपने कपडे खोलकर मम्मी की गांड पर थूककर अपना मुसल लंड गांड मे पेल दिया शोकत ने दो झटको मे अपना पूरा लंड गांड मे पेल दिया जिससे मम्मी की चीख नकल गयी ओर उन्होने गांड हिलाकर शोकत को चुदाई करने को कहा। तो शोकत ने जोश मे आकर मम्मी की गांड का गोदाम बनाने मे जुट गया तभी मम्मी के आगे आकर असलम घुटनो के बल बैठकर मम्मी के मुह मे अपना लंड फंसाकर मम्मी के मुह को चोदने लगा। 

मम्मी के मुह से – गु गु गु गु आ आ आ आह!!!

की आवाजे निकलने लगी तो पिछवाड़े से पटापट पटापट की कामुक आवाजे आ रही थी उधर नावेद ने नीचे लेटकर सबीना को अपने उपर ले लिया। तो सबीना ने अपने हाथ से लंड को चुत पर रखकर उसपर बैठ गयी चुत मे लंड समाते ही वो नावेद पर लेट गयी सबीना के लेटते ही आमिर ने सबीना की गांड मे अपना मुसल लंड पेल दिया। ओर सबीना की घपाघप चुदाई चालु कर दी, 

सबीना भी मस्ती से दो लंड खाकर – आह आह आ आ आ आह!

की आवाजे करने लगी इधर पांच की गांड चुदाई से मम्मी की चुत का फव्वारा बेकाबू होकर फुट पडा ओर कामरस उनकी जाघो से लगकर बहने लगा तभी शोकत ने गांड से लंड बाहर निकाला ओर नीचे लेट गया। तो मम्मी झट से शोकत के लंड को चुत पर लगाकर उसपर बैठ गयी। 

चुत मे लंड अंदर तक जाते ही मम्मी शोकत पर लेट गयी ओर असलम खडा होकर मम्मी की गांड पर अपनी निशानी देने लगा। जिससे मम्मी की जोर की चीख निकल गयी 

चीख सुनकर सबीना भी मम्मी को देखकर बोली – क्या हुआ बहन?!! 

तो मम्मी ने कहा – देवर नादान है शरारती हो गये है बस ओर कुछ नही!

तभी असलम ने अपना गीला लंड मम्मी की गांड मे एक झटके मे पेल दिया जिससे मम्मी कशमसाशे लगी ओर अपनी गांड को हिलाकर असलम के लंड को सेट करने लगी। गांड मे लंड सेट होते ही मम्मी शोकत को कीस करने लगी। तो असलम ओर शोकत मिलकर मम्मी की चुत ओर गांड का बाजा बजाने लगे 15 मिनट के पहले राऊड के बाद मम्मी का बदन अकडने लगा ओर भरभरा कर वो शोकत के लंड पर झड़ने लगी। 

उधर सबीना की चुत ने भी दो बार नमकीन रस निकाल दिया था अब असलम ने मम्मी की गांड से लंड निकालकर लिया ओर आमिर को सबीना से उठा दिया। असलम नीचे लेट गया ओर सबीना को अपने उपर ले लिया सबीना ने भी असलम के मोटे लंड को अपनी चुत मे दो बार मे समा लिया ओर असलम के उपर लेट गयी। 

तो शोकत ने सबीना की गांड मे लंड पेल दिया ओर सबीना की चुत ओर गांड को अब दो मुसल लंड पेलने लगे इधर आमिर नीचे लेट गया। तो मम्मी ने आमिर के लंड को पकडकर अपनी गीली चुत मे समा लिया ओर आमिर के उपर लेटकर उसे जोर से कीस करने लगी। आमिर कीस करते हुए मम्मी की चुचियो को जोर से दबाने लगा जिससे मम्मी के बदन मे सिहरन सी दोडने लगी। 

तभी नावेद ने पिछे आकर मम्मी की गांड मे लंड पेल दिया ओर अब दोनो रंडीयो की जोरदार चुदाई से कमरे मे पटापट फचाफच की कामुक आवाजे आने लगी सभी के बदन पसीने से नहा गये थे। तभी करीब 15 मिनट के दूसरे राऊड के बाद आमिर ओर नावेद ने मम्मी की गांड ओर चुत को गर्म गर्म वीर्य से भर दिया। ओर नावेद मम्मी की गांड से लंड निकालकर बेड पर लेट गया। 

तो मम्मी भी वही पलटकर जोर से सास लेने लगी तभी सबीना की गांड ओर चुत को भी शोकत ओर असलम ने अपने वीर्य से भर दिया ओर वो दोनो खडे होकर सोफे पर लेट गये। 

तभी मम्मी ने सबीना को कहा – बहन आजा 69 मे माल को क्यो खराब कर रही है 

ये सुनकर सबीना ने – आई मेरी रंडी ओर मम्मी के मुह पर अपनी चुत लगाकर मम्मी पर लेट गयी 

मम्मी सबीना की गांड ओर चुत से निकल रहे रस को चाटकर साफ करने लगी, तो सबीना भी मम्मी की चुत को अच्छे से चाटकर साफ कर रही थी तभी मम्मी ने सबीना की गांड मे उंगली डालकर बचा हुआ वीर्य निकालकर चाट लिया। 

फिर सबीना को अपने पास लेटा लिया मम्मी ने शोकत को कहा भाईजान आप सब नीचे जाओ अब मे आराम करूगी, सबीना भी यही हो जाएगी शाम को चली जाएगी। 

ये सुनकर चारो जने कपडे पहनकर नीचे आ गये तो सबीना ने सुट पहन लिया तो मम्मी गाऊन पहनने लगी 

तो सबीना ने कहा – बुर्का पहन मामीजान ये सुनकर मम्मी ने बुर्का पहन लिया ओर दोनो बेड पर लेट गयी 

तभी मम्मी बोली – ये चुदाई भी क्या चीज बनाई है भगवान ने 

तो सबीना ने कहा – बहन सच कहा तुमने ओरत के लिए सबसे बडी खुशी चुदाई ही है बस रोटी कम चलेगी मगर चुदाई कम नही चलेगी कभी 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – हा बहन सही कहा तुमने अब पता नही कब मिलना होगा हमारा भी अब तो जिस्म भी कुछ सालो मे ढल जाएगा। तो कोई देखेगा नही तुम तो अभी जवान हो तुमको तो बहुत लंड खाने है 

तो मम्मी बोली – तुमको नही खाने है क्या 

तो सबीना ने कहा – हमे को पेलेगा अब कुछ सालो बाद बुढे लंड ही मिलेगे जवान तो देखेंगे नही 

ये सुनकर मम्मी ने​ कहा – मेरा बेटा अपनी मौसी की चुत ओर गांड की सेवा कर देगा 

तो सबीना बोली – सच्ची बहन तो 

मम्मी ने कहा – जरूर पहले देखू तो सही वो बच्चा ही है या जवान हो गया है 

ये सुनकर सबीना बोली – बहन मै बता दूगी बस तुम भेज दो 

तो मम्मी बोली – बहन पहले सब्र करो थोडा 

तो सबीना बोली – बहन साफ साफ कहो ना पहला वीर्य तुम ही पीना चाहती हो मेरे प्यारे भांजे का ओर हसने लगी 

मम्मी ने कहा – बहन तुमने सच मे तीन दिनो मे इतनी बार कह दिया है की मै तो अब सोचने लगी हू केसै चुदूगी ओर केसै उसका चुसूगी बस अब जल्दी वो कुंवारे से तैयार मर्द बनने वाला है। अगर उसने मुझे देखकर कुछ नही कीया ओर गोर नही की तो क्या करूगी?! 

तो सबीना बोली – बहन चुचियो को ऐसे दिखाना पूरी की पूरी ओर वो भी तरीके से उसे पता ना लगे तुम उसे देखना नही अगर दोनो की नजरे मिल भी जाए। तो हसकर उसे देखने देगा ताकी उसका हौसला बढ़े देखने का तुम तो उसकी पेन्ट पर नजर रखना ओर कुछ नही ओर झाडू पोचा करते वक्त अपनी गांड ओर चुचियो को ज्यादा से ज्यादा दिखाना। उसके बाद मे मुझे बताना मे बताऊगी क्या करना है तुम्हे पहले ये शुरूआत तो करो एक दिन नही महीना लग जाएगा। 

उसकी हवस इतनी भडकानी है की वो हवशी हो जाए तुम्हे चोदने के लिए बस मम्मी कीआंखे जलने लगी। 

तो सबीना को कहा – बहन सोना होगा रात भी बाकी है आज की परसो दी तीन रूककर तुमसे बात करूगी मै फोन पर 

ये सुनकर सबीना बोली – ठीक है बहन ओर दोनो सो गयी शाम को 6 बजे शोकत ने दरवाजा खोला ओर सबीना को कहा चलो मै तुम्हे घर छोड देता हू 

तो मम्मी ने कहा – भाईजान चाय पानी तो पिलाओ सबीना को तो शोकत नीचे जाकर चाय बनाकर चाय नाश्ता लेकर आता है मम्मी ओर सबीना भी मुह धोकर बाल बनाकर चाय पीने लगी। तभी मम्मी ने खडे होकर नाचते वक्त आए पेसै सबीना को देने लगी। 

तो सबीना बोली – बहन ये आपकी मेहनत की कमाई की है तो ये सुनकर 

मम्मी ने कहा – ठीक है सबीना मत लो ओर सबीना को गले लगा लिया 

उसके बाद सबीना शोकत के साथ चली गयी ओर मम्मी नीचे आ गयी वहा आमिर असलम ओर नावेद के पास बैठकर बात करने लगी। मम्मी आमिर की गोद मे बैठकर कहने लगी मेरे शौहर अब तो खुश होगे ना उनकी सारी इच्छाए पूरी कर दी तो आमिर ने कहा बेगम शर्मिदा मत करो। तुमने तो इतना कीया है जितना कोई सगी भी नही करती है 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – शुक्रिया ओर आमिर के गले लग गयी 

मम्मी ने कहा – मै खाना बना दू 

तो आमिर ने कहा – नही आज हम सब बाहर खाना खाने जाएगे तो मम्मी बोली मै केसै जाऊगी 

तो आमिर ने कहा – बुर्के मे ओर वैसे भी हम तो चांदपोल के होटल मे जाएगे वहा मटन चिकन की दावत देनी है इनको तो कल इनको भी जाना है 

ये सुनकर मम्मी बोली – मुझे मास देखकर उल्टी आने लगती है तो आमिर ने कहा वहा तुम्हे अलग बैठा देगे ओर तुम अच्छी सब्जी रोटी खा लेना 

ये सुनकर मम्मी ने कहा – ठीक है 

ओर फिर शाम को चारो जने खाना खाने चले गये वहा पर शोकत भी आ गया मम्मी कोई पहचान ना ले इसलिए वो ढेर सारा काजल लगाकर गयी ओर होटल मे काफी भीड होने के कारण वो होटल के बाहर खडे होकर जगह का इंतजार करने लगे। तो आते जाते कई लडके मम्मी की गांड पर फेरकर बराबर से निकलकर गये मम्मी भी अपनी गांड पर हाथ फिरवाकर बहुत खुश हो गयी। 

तभी उनका नबर आ गया ओर फिर खाना खाकर बाहर निकले तो शोकत सबके लिए पान लेकर आ गया ओर असलम नावेद मम्मी के साथ आटो मे आए। तो शोकत ओर आमिर स्कूटर पर उनसे पहले घर पहुंचकर घर को खोल मकर उनका इंतजार करने लगे आटो के आते ही सब उपर कमरे मै आ गये 

ओर मम्मी ने कहा – चलो कुछ देर छत पर घुमते है तो सब घुमने लगे आधे घंटे बाद 

शोकत ने कहा – मे दूध गर्म कर लाता हू फिर हमारा प्रोग्राम शुरू करते तो मम्मी बोली ठीक है सब कपडे बदल लो पहले 

तो शोकत ने कहा – बदलने की क्या जरूरत है अब तो खोलने ही है सबको 

तो मम्मी ने कहा – तो खोल लो सब कपडे मे भी पेशाब करके आती हू तो शोकत ने कहा पेशाब तो मुझे भी करना है 

तो आमिर ने कहा – मेरी भी इच्छा है पेशाब करने की 

तो मम्मी बोली – समझ गयी मे क्या इच्छा है आपकी बहुत बिगड गये हो आप 

तो असलम नावेद ने कहा – हमे भी बिगड़ना है भाभीजान 

तो मम्मी बोली – रूको फिर मम्मी कमरे मे जाकर बुर्का ओर सुट खोलकर तोलिया लेकर आ गयी ओर बाथरूम मे जाकर ब्रा ओर पेटी भी खोल दी ओर नंगी होकर छत पर आ गयी। 

ये देखकर सबके चेहरे चमक उठे!! 

तभी शोकत ने अपना कुर्ता पजामा खोल दिया ओर क्च्छे से लंड निकालकर मम्मी के मुह मे लंड डालकर मुतने लगा। मम्मी घुटनो के बल बैठकर मुत को पीने लगी तो आमिर ने भी मम्मी के मुह पर मुतना शुरू कर दिया। ये देखकर असलम ओर नावेद ने अपने लंड को बाहर निकाला ओर मम्मी की गर्दन पर मुतने लगे चारो जनो ने मिलकर मम्मी को अपने पेशाब से नहला दिया। 

मम्मी ने अब शोकत का लंड मुह मे लेकर बचा हुआ पेशाब पीया तो असलम ओर नावेद ने भी कुछ बूंदे पेशाब की मम्मी को पिला दी मम्मी अब उठकर नहाने चली गयी ओर बीस मिनट रगडकर नहाकर तोलिया लपेटकर बाहर आ गयी ओर आइने के सामने बैठकर संजने लगी। मम्मी ने काजल लिपस्टिक लगाई ओर लाल रंग की ब्रा पेंटी पहनकर लाल रंग की साडी पहनी ओर कीसी नयी नवेली दुल्हन की तरह खुद को देखकर शर्माने लगी। 

तभी कमरे का दरवाजा खुला ओर शोकत अंदर आ गया ओर आइने के सामने मम्मी के पिछे आकर उनकी कमर मे हाथ डालकर उनसे चिपक गया ओर गर्दन को चुमने लगा। तो मम्मी की आंखे बंद होने लगी तो शोकत ने मम्मी को अपनी तरफ घुमा लिया ओर कुर्सी पर बैठा दिया ओर बेड पर रखे लिफाफे को खोलकर उसमे से लाल रंग के लाख के चुडे निकाले ओर मम्मी को पहनाने लगा। 

लाल रंग की साडी लाल लिपस्टिक लाल सिंदूर खुले बाल नाभी के परी नीचे तक कर के बाधी साडी सोने का मंगलसूत्र ओर सोने की चार उगुठिया पहनी हुई मम्मी कीसी काम की देवी की तरह लग रही थी। तभी असलम नावेद ओर आमिर भी आ गये ओर असलम ने मम्मी को घुरकर देखा ओर कहने लगा भाभीजान एक कमी है अभी 

तो मम्मी बोलो – क्या है देवर जी 

तो असलम ने अपने जेब मे हाथ डालकर सोने की बाली निकाली ओर कहा नाक मे कुछ नही पहना है तो ये पहन लो। 

तो मम्मी बोली – देवर जी तुम सब मिलकर मरवाओगे मुझे 

तो नावेद ने कहा – आज आज तो हम ही मारेगे कल का पता नही ओर सब हंसने लगे 

मम्मी ने कहा – तो फिर बाली खुद ही पहना दो 

तो असलम ने मम्मी को बाली पहना दी बाली पहनने से हुए दर्द से मम्मी की आख मे आंसू आ गये जिसे उंगली से साफकर के 

असलम ने कहा – भाभीजान ये क्या आज की रात तो आपके पास ही कल जरूरत होगी इनकी 

तो मम्मी हस दी 

ओर सभी मिलकर मम्मी के हुस्न की तारीफ करने लगे ओर कहने लगे – हमारी जिंदगी के ये दस दिन यादगार बनकर हमेशा याद रहेगे 

तो मम्मी बोली – मुझे भी ये दस दिन उम्रभर याद रहेगे 

तभी शोकत ने कहा – तो जान फिर आज की रात को यादगार बनाने की शुरुआत करे 

तो मम्मी ने कहा – जरूर तभी शोकत ने मम्मी की साडी के पल्लु को पकडा ओर खीचने लगा मम्मी की साडी खुलती गयी ओर वो लहराकर शोकत की बाहो मे आ गयी। मम्मी ने अपने बालो को पिछे कीया ओर शोकत को किस करने लगी वो चारो लुगी पहनकर ही आए थे। बस मम्मी अब पेटीकोट ब्लाउज मे खडी थी शोकत को कीस करते ही शोकत का मूसल लंड हरकत मे आ गया ओर लुगी से बाहर निकलकर मम्मी के पेटीकोट के उपर से ही उनको जाघो मे घुसने लगा। 

तभी असलम ने मम्मी के पेटीकोट का नाडा खोल दिया ओर मम्मी का पेटीकोट नीचे गिर गया। तो शोकत मम्मी के ब्लाउज का हुक खोलने लगा ब्लाउज खुलते ही मम्मी लाल रंग की ब्रा पेंटी मे हीरोइन की तरह चमकने लगी। मम्मी ने झुककर साडी पेटीकोट ब्लाउज उठाकर मेज पर रख दिया ओर खडे खडे वही पेंटी उतारकर शोकत के सामने घुटनो के बल बैठकर शोकत के लंड को हाथ मे लेकर हिलाने लगी। 

मम्मी शोकत के लंड के सुपारे को जीभ से चाटने लगी ओर देखते ही देखते मम्मी ने शोकत के 6 इंच लंबे ओर 3 इंच मोटे लंड को पूरा अंदर ले दिया ओर जोर से चुसने लगी तभी असलम ओर नावेद मम्मी के बगल मे आकर खडे हो गये। तो मम्मी दोनो हाथो से उनके लंड को सहलाने लगी आमिर अब मम्मी के पिछे आकर बैठ गया ओर चुत को अपनी जीभ से चाटने लगा पांच मिनट के बाद मम्मी ने शोकत के लंड को आजाद कीया। 

तो असलम के लंड को मुंह मे भरकर चुसने लगी असलम का लंड इन चारों सबसे बडा था मगर मम्मी को कोई फक्र नही पडा 7 इंच के लंड को चुसने का मम्मी को अनुभव हो चुका था मम्मी कीसी रंडी की तरह असलम का लंड चुसने लगी। पांच मिनट के बाद मम्मी का बदन झडने को तैयार हो गया तो मम्मी ने आमिर के सिर को अपनी जाघो से दबा लिया ओर उसके मुह मे चुत को ठुस दिया। 

एक मिनट के बाद मम्मी ने अपने नमकीन रस से आमिर के मुह को भर दिया तो आमिर ने सारा रस चाटकर साफ कीया ओर अब वो मम्मी की गांड के छेद को चाटने लगा। तभी मम्मी ने असलम के लंड को बाहर निकाला ओर नावेद का लंड चुसने लगी पांच मिनट की चुसाई के बाद आमिर का नंबर भी आ गया। तो मम्मी आमिर का लंड मुह मे लेकर चुसने लगी पांच मिनट के बाद, 

मम्मी ने कहा – अब मेरी खुजली तो मिटा दो 

ये सुनकर असलम ने मम्मी की जाघो मे हाथ डालकर उठा लिया ओर मम्मी ने अपने हाथ से असलम का लंड पकडकर अपनी चुत पर लगा लिया। तो असलम ने गीली चुत मे अपना गीला लंड एक झटके मे पेल दिया​ तो आमिर ने पिछे आकर गांड को फैलाकर गांड के छेद पर लंड रखकर दी झटको मे लंड गांड के अंदर तक उतार दिया। ओर दोनो मर्दो के बीच मम्मी बच्ची सी लग रही थी। 

मगर चुदाई मे मम्मी सब पर भारी थी वो दोनो अब पूरे जोश मे आकर मम्मी को पेल रहे थे तो मम्मी भी कामुक आवाजो से उनको उत्तेजित कर रही थी। तभी दस मिनट के बाद मम्मी झडने को हो गयी तो चिल्लाह कर उन्हे जोर से चोदो ओर जोर से चोदो कहने लगी। तो वो दोनो भी पूरी ताकत से मम्मी को पेलने लगे तभी मम्मी असलम के लंड पर झड गयी ओर उनकी चुत की आवाज बदल गयी। 

“मम्मी की चुत से फचाफच की आवाज आ रही थी तो गांड से पटापट की आवाज निकल रही थी।” 

दस मिनट तक वो दोनो मम्मी को पेलते रहे, 

ओर मम्मी – आह आह हाय रे मार डाला चोदो मुझे जोर से हाय हाय 

करके चुदने लगी असलम ओर आमिर ने बीस मिनट तक मम्मी को चोदकर छोडा। तो शोकत ने मम्मी को बेड पर चलने को कहा शोकत बेड पर लेट गया तो मम्मी भी शोकत के लंड को चुत मे लेकर उसपर लेट गयी। तभी नावेद ने पिछे आकर गांड मे लंड पेल दिया अब शोकत अपनी गांड उठाकर चुत को पेलने लगा। 

तो नावेद भी झटके मारकर गांड को बजाने लगा दस मिनट की चुदाई के बाद मम्मी फिर से झड गयी मगर शोकत ओर नावेद मम्मी को उसी पोजीशन मे पेलने मे लगे रहे। दोनो ने मिलकर बीस मिनट तक मम्मी को पेला एक घंटे की चुदाई मे मम्मी अब तक चार बार झड चुकी थी मगर वो बदल बदल कर मम्मी की बजा रहे थे तभी नावेद झडने को हुआ। तो उसने अपना लंड गांड से बाहर निकाल लिया ओर सोफे पर बैठ गया तो शोकत ने भी मम्मी की चुत से लंड बाहर निकाल लिया। 

अब असलम बेड पर लेट गया ओर मम्मी को बैठकर गांड मे लंड लेने को कहा, तो मम्मी ने गांड पर लंड सेट कीया ओर पूरा अंदर लेकर असलम पर लेट गयी इसतरह मम्मी की चुत उपर की तरफ आ गयी ओर अब चुत मे आमिर ने अपना लंड फसा दिया। मम्मी फिर से दो लंड लेकर मजे से चुदने लगी ओर हाय हाय करने लगी असलम ओर आमिर बारी बारी से मम्मी की चुचियो को बेरहमी से दबा रहे थे जिससे मम्मी की आहे चीख मे बदल जाती ओर वो जोश मे आकर गाली देने लगती। 

तो सामने से भी गाली सुनकर मुहाल गर्म हो जाता चुचियो को मसलने पर 

मम्मी के मुह से लगातार गाली निकलने लगी – भडवो क्या कर रहे, कुतो मे रंडी नही हू, 

तो असलम ने कहा – हा बहन की लोडी तू… तो छिनाल है… रंडी भी फैल है… तेरे आगे… माँ की लोडी… आज तेरी मा चोद देगे 

तो मम्मी ने कहा – जा ना चुतिये तेरे जैसे मा चोदने वाले हतर आए ओर चले गये… झाट के बाल समान भी नही समझती मै तेरे जैसे चुतियो को… लगा जोर दिखा दे… अपनी ताकत!! 

तो दोनो ने अपनी पूरी ताकत से मम्मी के बदन को हिलाकर रख दिया ओर कमरे से पटापट की आवाजे गूजने लगी ओर मम्मी की हल्की हल्की चीखे कमरे मे गुज रही थी। असलम ओर आमिर ने मम्मी की चुत ओर गांड को आधे घंटे तक जोरदार तरीके से पेला इस चुदाई मे मम्मी एकबार झड चुकी थी। 

तो अब दुबारा वो झडने को तैयार थी तभी आमिर का बदन भी झडने को तैयार हो गया ओर आमिर ने अपने लंड से मम्मी की चुत मे पिचकारी चला दी ओर आमिर के गर्म वीर्य की धार पडते ही मम्मी ने भी अपना नमकीन रस छोड दिया। तो कुछ देर बाद असलम ने भी अपनी गांड उठाकर मम्मी की गांड मे अपना माल छोड दिया जिससे मम्मी की चुत ओर गांड को बडा सुकुन मिला। 

असलम के हटते ही नावेद बेड पर पैर लटकाकर लेट गया ओर मम्मी​ नावेद के लंड को चुत मे लेकर अपने पेर नीचे लटका लिये। जिससे मम्मी की गांड ऊपर निकल आई तो बेड के पास खडे होकर शोकत ने अपना लंड मम्मी की गांड मे पेल दिया ओर फिर उन दोनो ने मम्मी की रेल बनानी शुरू कर दी। तो मम्मी भी जोर से चुदने लगी ओर उनसे जोर लगाकर चोदने को कहने लगी। 

शोकत ओर नावेद पूरी स्पीड से लंड पेल रहे है जिससे पटापट की आवाजे कमरे मे गुज रही थी ओर मम्मी भी आह आह करके मजे से चुद रही थी। शोकत ओर नावेद ने भी लगभग आधे घंटे तक जमकर मम्मी को रगडा तब जाकर उन दोनो का माल निकलने को हुआ तो दोनो ने अपना माल मम्मी की गांड ओर चुत मे भर दिया। तो मम्मी भी आधे घंटे मे दो बार ओर झड गयी थी। 

इस तरह दो घंटे की जोरदार चुदाई के बाद पहला राऊड खत्म हुआ तो मम्मी थककर बेड पर लेट गयी चारो जनो से दो दो टेबलेट खाकर चढाई करी थी। तो ये तो होना ही था शोकत नावेद ओर मम्मी तीनो जने बेड पर लेटकर सुस्ताने लगे अभी रात के बारह बज चुके थे। 

अभी तो पूरी रात बाकी थी ओर चार मर्दो के बीच मम्मी अकेली खैर कुछ देर सुस्ताने के बाद, 

असलम ने कहा – भाभीजान थक गयी क्या?!! 

तो मम्मी बोली – देवर जी चार चार मूसल एक साथ कुटाई करेगे तो थकान तो होगी ही 

“ये सुनकर सब हंसने लगे ओर” 

नावेद बोला – तो फिर आज की रात यही रूकना होगा क्या 

तो मम्मी ने कहा – रूकने को तो नही कहा देवर जी शुरू करो चाहे मै तो तैयार हू तो 

नावेद ने कहा – भाभीजान हमारा पप्पु बिगाड गया है इसे नीद से आप ही जगाओ इसको भी आदत लग गयी है आजकल 

तो मम्मी हसकर बेड पर बैठ गयी ओर नावेद के उपर झुककर उसके लंड को मुह मे भर लिया ओर चुसने लगी। देखते ही देखते नावेद के लंड की नसे चमकने लगी ओर टोपा लाल सुर्ख चमकने लगा। तभी शोकत का मूसल लंड भी तनतना उठा ओर पीछे आकर उसने मम्मी की गांड मे लंड पेल दिया। 

मम्मी भी लंड चुसते हुए मस्ती से गांड हिलाकर गांड मरवाने लगी कुछ देर बाद, 

नावेद बोला – भाभीजान आ जाओ अब पप्पु की सैर कर लो 

तो मम्मी आगे खिसककर नावेद के लंड को पकडकर चुत मे ले लिया ओर गांड उठाकर शोकत को गांड पर चढाई करने को कहने लगी। शोकत गांड पर थप्पड मारकर गांड को जोर से बजाने लगा 

ओर मम्मी – उफ हाय हाय ओ ओ 

करने लगी बीस मिनट के बाद मम्मी ने अपनी चुत को कस लिया ओर नावेद के होठो को कसकर चुसते हुए जोर से झड गयी। तो शोकत ने गांड से लंड बाहर निकाल लिया ओर आमिर को आने को कहा तो नावेद ने भी असलम को उपर आने को कहा तो असलम बेड पर लेट गया ओर मम्मी को अपनी गांड मे लंड लेने को कहा। मम्मी ने अपनी गांड मे पूरा लंड फंसाकर असलम के पेट पर अपनी कमर चिपाकाकर लेट गये। 

तो आमिर ने मम्मी की टांगो को उठाकर उनकी चुत मे लंड पेल दिया असलम ने अपनी टांगो को मोड लिया। जिस के उपर मम्मी ने अपनी जाघो को चिपाकर अपने पेरो को उचा उठा लिया था गांड ओर चुत मे लग रहे ताबडतोड झटको से मम्मी की चुचिया जोरो से हिलने लगी ओर हाय हाय आ आ आह कर के मम्मी की चुदाई परवान चढने लगी। 

मम्मी अपने हाथो से अपनी चुचियो को दबा रही थी साथ मे असलम ओर आमिर ने भी मम्मी के झडने तक बीस मिनट तक। मम्मी को पेला ओर फिर मम्मी के झडने के बाद दोनो जनो ने मम्मी को फिर से नावेद ओर शोकत को सोप दिया। तो इसबार शोकत मम्मी को सोफे पर ले गया ओर सोफे पर बैठकर मम्मी को अपनी गोद मे बैठा लिया मम्मी ने भी शोकत का पूरा लंड चुत मे ले लिया। 

फिर नावेद ने पिछे आकर गांड मे लंड फसा दिया ओर अपने दोनो हाथ सोफै पर रखकर मम्मी की कमर पर चिपककर झुक गया। 

ओर फिर शोकत ओर नावेद ने घपाघप चुत ओर गांड की चुदाई शुरू कर दी मम्मी भी बैठी बैठी अपनी गांड उठाकर शोकत ओर नावेद का लंड खाने लगी इस बार शोकत मम्मी की चुचियो को बेरहमी से दबा रहा था। जिससे मम्मी की गोरी गोरी चुची लाल टमाटर सी हो गयी ओर मम्मी दर्द से उत्तेजित होकर गालीया देने लगी। 

तो शोकत ओर नावेद भी मम्मी को छिनाल वेश्या रंडी कुतिया कहकर चोदने लगे! 

मम्मी भी दोनो को – भडका हरामी मारदचोद बहनचोद कुते की ओलाद 

कहकर अपनी चुदाई करवाने लगी। गालीयो से हो रही गर्म Antarvasna चुदाई का मम्मी जमकर मजा लेने लगी। ओर इस बार भी मम्मी की चुत ने बीस मिनट मे जवाब दे दिया ओर मम्मी ने शोकत के लंड को अपनी चुत मे कह लिया। ओर फिर उसपर झडने लगी मम्मी के झडते ही दोनो ने अपने लंड बाहर निकालकर मम्मी को आमिर ओर असलम के हवाले कर दिया। 

इसबार असलम ने मम्मी के एक पैर को बेड पर रखकर उनकी टांगो को फैला दिया मम्मी की चुत ओर गांड अब बिलकुल खुलकर चमक रही थी लगातर चुदने से मम्मी की गांड का छेद अभी भी खुला था। असलम ने आगे आकर मम्मी की चुत पर लंड रखकर धीरे धीरे पूरा लंड चुत मे उतार दिया ओर मम्मी असलम की कमर मे हाथ डालकर अब उससे चिपक गयी तो आमिर पिछे चिपक मम्मी की गांड मे लंड फसाने लगा। दोनो जनो के लंड पूरा अंदर जाते ही, 

मम्मी ने गाली देकर कहा – चोदो हराम के जनो खडी करने के लिए नही मिलती राते ऐसे 

तो असलम ने कहा – सही कहा मेरी कुतिया आज तो कुते की तरह ही फंसाकर रखेगे सारी रात 

ओर असलम ने गांड हिलाकर चुत मे लंड पेलने लगा उधर आमिर ने अपने झटको को तेज कर दिया ओर गांड के अंदर पूरा लंड जाते ही पटापट की आवाजे आने लगी। तो मम्मी गाली देकर दोनो को भडकाने लगी तो वो भी जोश मे आकर चुदाई करने लगे। करीब आधे घंटे बाद असलम ओर आमिर का माल निकलने को हुआ। 

तो मम्मी ने कहा – माल अंदर मे डालना मुझे पीना है 

ये सुनकर आमिर ने अपना लंड गांड से बाहर निकाल लिया 

तो मम्मी ने असलम के लंड को अपनी चुत से बाहर निकाल दिया ओर घुटनो के बल बैठकर आमिर के लंड को चुसने लगी ओर एक मिनट के बाद आमिर ने अपना गर्म वीर्य मम्मी के मुह मे भर दिया। जिसे गटककर मम्मी ने असलम के लंड को मुह मे भर लिया ओर एक मिनट बाद असलम का माल भी मम्मी के मुह मे आ गिरा ओर मम्मी असलम के माल को भी चट कर गयी। 

ओर दोनो के लंड को चाटकर साफ कर दिया अब मम्मी ने नावेद को फर्श पर लेटने को कहा ओर उसके लंड को चुत मे लेकर नावेद के उपर लेट गयी अभी शोकत सोफे पर ही बैठा था। 

तो मम्मी बोली – भाईजान कोई बुलावा देना होगा क्या आपको 

ये सुनकर शोकत ने कहा – क्या कह रही हो बेगम ये लो आया ओर एक ही झटके भी गांड मे लंड फसा दिया ओर 

फिर दोनो ने मम्मी की मिलकर बीस मिनट तक जमकर बजाई बीस मिनट के बाद मम्मी झडने को हुई 

तो शोकत को कहा – भाईजान माल पीना है अंदर मे डालना 

तो शोकत ने तुरंत गांड से लंड बाहर निकाल लिया मम्मी पर नावेद के उपर बैठ गयी ओर शोकत मम्मी के सामने नावेद की कमर पर दोनो टांगो को फैलाकर मम्मी के मुह को चोदने लगा। मम्मी भी शोकत का लंड जोर से चुसने लगी जिससे शोकत ने लंड ने दो मिनट मे मम्मी के मुह को अपने माल से भर दिया। नावेद अभी भी चुत मे पूरी ताकत से झटके मारने मे लगा हुआ था पांच मिनट के बाद नावेद ने मम्मी की चुत मे माल छोडा तो मम्मी की चुत ने भी अपना नमकीन रस छोड दिया। 

मम्मी माल निकलते ही नावेद पर गिर गयी ओर नावेद मम्मी की कमर को सहलाने लगा इस तरह दूसरा राऊड दो बजे तक चला अब पांचो जने थक गये थे। 

तो आमिर ने कहा – कुछ खा लेते है ओर फिर आराम करके एक राऊड ओर करेगे सुबह सात बजे इनकी गाडी है तो इनको जाना भी है। 

ये सुनकर असलम ने कहा – चलो दूध गर्म कर लाओ ओर खजूर छुहारे ले आना साथ 

तो आमिर ओर शोकत दूध गर्म करने चले गये मम्मी अब नावेद के उपर से उठकर उसके बगल मे लेट गयी 

नावेद ने कहा – भाभीजान एक बात कहू क्या बुरा तो नही मानेगी आप 

तो मम्मी बोली – दस दिन से चुद रही हू तो बात का क्या बुरा मानूगी 

तो नावेद ने कहा – आप अपने पति को तलाक दे दो ओर आमिर से निकाह कर लो कसम से आपको बहुत चाहता है वो ओर हमेशा खुश रखेगा। आप कहो तो आपके नाम अपनी जमीन मकान भी लिखाने को तैयार है। 

तो मम्मी ने कहा – नावेद पति को तो फिर भी छोड दू मगर बच्चो को नही छोड सकती हू साल दो साल मे तो लडकी की शादी भी करनी है, इसलिए मै ये नही कर सकती हू। 

तो नावेद ने कहा – भाभीजान आप ये बात हमारे बीच ही रखना आमिर को कुछ मत कहना वर्ना वो कहेगा हमारी आपस की बात क्यो कही 

तो मम्मी बोली – ठीक है नावेद नही कहूगी 

बस ये सुनकर नावेद ने मम्मी के गालो को चुम लिया ओर मम्मी के बूब्स दबाने लगा। तभी पांच मिनट बाद आमिर ओर शोकत दूध लेकर आ गये। 

तो मम्मी ने कहा – आज तो बिना गोली लिए ही जन्नत दिखा दी सबने मिलकर 

तो आमिर बोला – बेगम एकबार ओर खा लेते है अगर आपको इतना ही अच्छा लगा 

तो आमिर नीचे जाकर गोली ले आया ओर चारो ने दो दो गोली ओर खाकर दूध पी लिया 

तो असलम ने कहा – दो बज गये पता ही नही चला 

तो मम्मी ने अपनी चुत पर हाथ रखकर कहा – इसे पता चला है ना आपका तो पता नही 

ये सुनकर सब हसने लगे 

तभी मम्मी ने कहा – मे पेशाब करने चली जाति है ओर अपनी चुत ओर गांड को साफ करके कमरे लोट आती है ओर दूध पीने लग जाती है ओर फिर मम्मी एकबार फिर से बिना कहे ही बेड पर लेटे शोकत के उपर झुककर उसके लंड को पकडकर सहलाने लगी। तो देखते ही देखते शोकत का मूसल लंड नाग की तरह लहराने लगे तभी नावेद पिछे लाकर मम्मी की गांड पर लंड घिसने लगा ओर फिर दो झटको मे पूरा लंड मम्मी की गांड मे उतार दिया ओर पटापट की आवाज से मम्मी की गांड को बजाने लगा। 

तो दस मिनट तक शोकत का लंड चुसने के बाद शोकत ने मम्मी को उपर खीच लिया मम्मी उपर चढकर लंड को चुत मे लेकर शोकत पर लेट गयी। तो नावेद ने उपर आकर गांड मे लंड डाल दिया ओर फिर मम्मी की चुत ओर गांड का बाजा बजाने लगे शोकत ओर नावेद ने आधे घंटे तक जमकर मम्मी को पेला ओर मम्मी की चुत ने भी चुदाई से खुश होकर दो बार नमकीन रस निकाल दिया। 

अब आमिर ओर असलम की बारी आई तो असलम ने मम्मी को बेड के पास खडा किया ओर एक टांग बेड पर रखकर टांग को फैला दिया। असलम आगे आकर चुत पर लंड घिसने लगा तो पिछे आमिर नीचे बैठकर गांड को चाटने लगा असलम ने दो मिनट चुत पर लंड घिसने के बाद दो झटको मे लंड को चुत मे पूरा उतार दिया। ओर फिर फचाफच की कामुक आवाजो से कमरा गुजने लगा आमिर पांच मिनट तक गांड को चाटता रहा। 

ओर फिर आमिर ने अपना लंड मम्मी की गांड मे पेल दिया ओर अब मम्मी की चुय ओर गांड का बाजा बजाने लगा असलम ओर आमिर बारी बारी मम्मी की चुचियो को बेदर्दी से दबाने लगे। जिससे मम्मी दर्द के चलते उनको गालीया देने लगी मम्मी की गाली सुनकर वो ओर जोरो से मम्मी की बजाने लगे ओर चुचियो को निचोडने लगे। 

इधर शोकत ओर नावेद भी लेटे लेटे मम्मी को गाली देने लगे – चोदो इस रंडी को… बहन की लोडी की चुत मे बहुत खुजली है… दबाकर चोदो इसकी खुजली मिटा दो.. 

तो मम्मी बोली – कुतो हराम के जनो लगा दो सारी ताकत मिटा दो मेरी चुत की खुजली 

गंदी-गंदी गालियो से मम्मी की दमदार चुदाई होने लगी ओर मम्मी की चुत समय समय पर अपना कामरस छोडने लगी। 

आमिर ओर असलम ने भी आधे घंटे तक मम्मी को पेला ओर फिर दोनो जनो से मम्मी को छोडा तो शोकत ओर नावेद ने मम्मी को दबोच लिया। जैसे कोई शेर हिरण को दबोच लेता है शोकत ने अब सोफे पर बैठकर मम्मी को गोद मे बैठा लिया ओर मम्मी ने लंड पकडकर चुत मे लिया। 

तो नावेद ने पिछे आकर गांड मे लंड घुसेड दिया ओर एकबार फिर घपाघप चुदाई चालु हो गयी फचाफच और पटापट की आवाजे कमरे मे गुजने लगी। तो मम्मी भी आह आह जोर से जोर कहकर चुदने लगी चुत ओर गांड की घमासान लडाई होने लगी मूसल लंड से मगर कोई भी हार मानने को तैयार नही था इधर मम्मी अभी भी सामने से झटके मार रही थी। 

तो शोकत ओर नावेद भी पूरी ताकत से पेलने मे लगे थे ओर आधे घंटे की घमासान चुदाई के बाद आखिरकार मम्मी की चुत ओर गांड को राहत मिली शोकत ओर नावेद ने अपना माल बारी बारी से चुत ओर गांड मे गिराकर मम्मी को आजाद किया। 

तो मम्मी अपनी गांड ओर चुत से निकल रहे रस को उंगली से चाट लिया उधर आमिर ओर असलम इंतजार कर रहे थे मम्मी अब आमिर की बाहो मे जाकर उसे चुमने लगी। तो आमिर ने मम्मी को अपने उपर सुला लिया ओर किस करने लगा आमिर को लंड मम्मी की चुत मे घुसने को बेताब हो रहा था। तो मम्मी ने लंड को पकडकर चुत के अंदर ले लिया ओर फिर से आमिर को चुमने लगी आमिर की गर्म सासो से मम्मी भी गर्म हो गयी। 

तो आमिर ने मम्मी के कानो को मुह मे भर लिया ओर चुसने लगा जिससे मम्मी की चुदास भडक उठी फिर से तभी असलम ने पिछे आकर मम्मी की गांड मे घुटा गाड दिया ओर अब दोनो तरफ से मम्मी की चुदाई करने लगे। मम्मी को किस करने रहने ओर चुचियो को दबाने से आमिर इस बार बीस मिनट मे ही झडने को तैयार हो गया। तो उसने मम्मी को कहा बेगम वो आ रहा है तो मम्मी ने कहा मुझे माल पीना है। 

तो मम्मी ने असलम को रूकने को कहा ओर घुटनो को मोडकर कुतिया बन गयी जिससे आमिर का लंड चुत से निकल गया ओर असलम का लंड मम्मी की गांड मे ही फसा रहा। मम्मी कोहनी के बल हो गयी थी तो आमिर थोडा उपर सरक गया ओर मम्मी ने चुत के रस से गीले लंड को मुह मे भर लिया ओर उसे चुसने लगी। दो मिनट के बाद आमिर ने अपने हाथो से मम्मी के सर को लंड पर दबा दिया ओर लंडे को गले के अंदर तक फसा दिया। जिससे मम्मी का सास अटक गया आमिर के लंड ने गर्म गर्म वीर्य की पिचकारी से मम्मी के मुह को भर दिया ओर मम्मी के सिर को छोड दिया। 

तो मम्मी ने सारा माल गटक लिया ओर प्यार से आमिर के लंड को चाटकर साफ करने लगी दस मिनट तक असलम मम्मी की गांड को पेलता रहा। जिससे मम्मी की चुत एकबार फिर पानी छोडने को तैयार हो गयी तो मम्मी ने अपने बदन को कस लिया ओर गांड को दबाकर लंठ को कसने लगी। गांड को कसने से असलम भी झडने को हो गया तो उसने भी गांड से लंड निकालकर मम्मी के मुह मे दे दिया। 

ओर मम्मी के मुह को पकडकर चोदने लगा दो मिनट तक झटके मारने के बाद असलम ने भी मम्मी के सर को लंड पर जोर से दबा दिया ओर अपने माल से मम्मी के मुह को भर दिया। ओर एक मिनट तक असलम के लंड को दबाकर वीर्य निकालती रही ओर चाटकर साफ करती रही। 

इस तरह तीसरे राऊड के बाद साढे तीन बज गये ओर सब सुस्ताने लगे! 

तो मम्मी ने कहा – ये रात तो हमेशा याद रहेगी 

तो असलम ने कहा – रात बाकी है भाभीजान 

तो मम्मी बोली – आपको निराश नही करूगी एक राऊड ओर कर लो चाहे 

तो आमिर ने कहा – तुम ठीक तो हो 

मम्मी ने ठीक होने मे हफ्ता लगेगा सोजन तो कल सुबह आएगी मगर रात का मजा तो ले ले आज तो 

ये सुनकर सब ने कहा – मान गये आपकी चुदास को 

तो मम्मी बोली – मेरी चुदास मान गये हो तो अब अपनी ताकत का लोहा भी मनवा दो ताकी ये चुदाई की रात कभी ना भूलू 

तो शोकत ने कहा – बेगम माना बुढे जरूर हो गये है मगर चुदाई अभी घोड़े की तरह ही करेगे 

तो मम्मी बोली – तभी तो मे आपके आगे घोडी बनकर चुद रही हू तभी आमिर ने मम्मी को खडा किया ओर नीचे बैठकर उनकी चुत को चाटने लगा। 

तभी शोकत पिछे आकर मम्मी की गांड को चाटने लगा चुत ओर गांड की चुसाई से मम्मी कामुक होने लगी ओर आमिर का सर अपनी चुत पर दबाने लगी। मम्मी की गुलाबी चुत को आमिर मस्ती से चाट रहा था तो शोकत भी मम्मी की मोटी गांड को फैलाकर उनका भूरा छेद जीभ से गीला करने लगा पांच मिनट बाद शोकत ने मम्मी की कमर को दबाकर झुका दिया ओर खडे खडे मम्मी की गांड मे लंड पेल दिया। 

तो मम्मी ने आमिर की कमर को पकडकर उसके लंड को अपने मुह मे भर लिया शोकत के झटको से मम्मी की गांड के साथ साथ उनके मुह की चुदाई मुफ्त मे होने लगी। शोकत के झटको से मम्मी की चुचिया हवा मे उछलने लगी ओर मुह मे लंड फसा होने के कारण वो गो गो करके चुदने लगी। 

बीस मिनट की गांड चुदाई के बाद आमिर के लंड को चुस चुसकर मम्मी ने लाल कर दिया आमिर के लंड की नसे फटने को हो गयी। तो आमिर ने मम्मी को सिधा कीया ओर आगे से चुत मे लंड पेल दिया तो रस टपकती गीली चुत मे लंड एक झटके मे ही समा गया अब शोकत के उतरते ही असलम ने मोर्चा संभाल लिया ओर मम्मी की गांड मे अपना मुसल लंड पेल दिया। 

मम्मी की चुत ओर गांड को सास भी नही लेने दे रहे थे वो मम्मी भी बिना रूके चुदाई का मजा लेती रही बीस मिनट के बाद जब मम्मी की चुत झडने को हुई तो इसबार मम्मी की टांगे कापने लगी। ओर वो आमिर के लंड पर झडते हुए आमिर के गले लगकर खुद को संभालने लगी मम्मी के झडने के बाद शोकत नीचे लेट गया ओर मम्मी शोकत का लंड चुत मे लेकर उसपर बैठ गयी। 

ओर गांड हिलाकर लंड को मसलने लगी तभी नावेद ने आकर मम्मी को शोकत के उपर लेटा दिया ओर फिर नावेद ने अपना लंड गांड मे पेल दिया। जिससे मम्मी की गांड ओर चुत की जमकर चुदाई शुरू हो गयी मम्मी की ऐसी बेरहम चुदाई कभी नही हुई थी। 

आजतक मगर मम्मी की चुदास को सच मे ऐसी ही चुदाई की जरूरत थी जिसका मजा मम्मी ले रही थी ओर अब मम्मी की आहे चीखो मे बदलने लगी थी। मगर मम्मी की चीखो से वो ओर उत्तेजित होकर मम्मी की जोर से गांड ओर चुत को फाडने लगे शोकत ओर नावेद ने बीस मिनट बाद मम्मी को रिहा कीया तो मम्मी सुस्ताने लगी। 

ये देखकर असलम ने कहा भाभीजान लगता है आज आपकी गांड फट गयी तो मम्मी बोली देवर जी वो तो बहुत पहले फटी थी। आज तो गांड का गोदाम बना है ओर हसने लगी। 

तो असलम ने कहा – ये तो गलत कह रही है आप हमारे लंड को भी बहुत ताकत लगानी पड रही है तभी बीस मिनट मे हम जगह बदलते है गोदाम होता तो हमारे लंड को पता ही नही चलता। 

ये सुनकर आमिर ने कहा – बेगम को पता नही है इनकी शख्सियत के बारे मे बेगम हा भरे तो दुबई के शेख इनको अपनी बेगम बनाकर रख ले ओर ताजिदंगी महारानी बनकर रहे 

ये तो मम्मी ने कहा – आप की महारानी ही हू मै तो शेख मेरे आप ही है 

तो आमिर ने कहा – नही बेगम आप सच मे शेखो की बेगम बनने लायक है 

तो मम्मी बोली – बाद मे बात करेगे अभी ओर असलम से कहा देवर जी आ जाओ फिर जाना भी है 

ये सुनकर असलम ने कहा – हा भाभीजान अभी लो 

असलम मम्मी के बगल मे लेट गया ओर उनकी मोटी मोटी चुचियो को कसकर दबाने लगा मम्मी ने समय ना खराब करते हुए असलम के लंड को मुह मे ले लिया ओर चुसने लगी। तो आमिर ने पिछे आकर गांड मे लंड पेल दिया जिससे मम्मी की आह निकल गयी मगर अब आहे मुह मे लंड होने के कारण गु गु की निकल रही थी। 

ओर आमिर का के लंड गांड मे अंदर जाकर पटापट की आवजे करने लगा ओर आमिर के अंडे मम्मी की चुत पर आकर टकराने लगे लंड के झटको से मम्मी की चुचियो जोरो से हिल रही थी। 

तो मम्मी भी उत्तेजित होकर असलम का लंड जोर से चुसने लगी करीब दस मिनट बाद मम्मी ने असलम के लंड को मुह से निकाला ओर आगे आकर असलम के लंड को चुत मे लेकर उसपर बैठ गयी। मम्मी ने अपनी मोटी गांड को हिलाकर पूरा लंड अंदर तक ले लिया ओर असलम पर पसर कर उसके होठो को चुसने लगी। अब आमिर थोडा आगे आकर मम्मी की गांड को चाटने लगा ओर फिर उसने एक झटके मे मम्मी की गांड मे लंड पेल दिया। 

असलम मम्मी की चुचियो को दबाने लगा तो आमिर गांड मारते हुए मम्मी की गांड पर थप्पड मारने लगा मम्मी इस जोरदार चुदाई से जन्नत मे पहुंच गयी थी। मम्मी अब थक चुकी थी मगर फिर वो पूरे जोश से चुदाई करवाकर मजे दे रही थी सबको मम्मी की चुथ का झरना आज झरते झरते गिनती ही भूल गया था। 

असलम ओर आमिर ने इसबार आधे घंटे तक मम्मी को पेला जिससे वो दोनो झडने को हो गये 

तो आमिर ने कहा – बेगम माल गिरा दू 

तो मम्मी ने कहा – हा मुह मे गिरा दो ना 

तो आमिर ने अपना लंड बाहर निकाल लिया ओर मम्मी असलम के उपर सीधे होकर बैठ गयी तो आमिर असलम के पेट के उपर से दोनो टांग फैलाकर मम्मी के सामने आ गया। मम्मी ने आमिर के लंड को मुह मे भर लिया ओर आमिर ने मम्मी के खुले बालो को पकडकर मम्मी के मुह को चोदना चालू कर दिया। 

दो मिनट के बाद आमिर ने अपना माल मम्मी के मुह मे गिरा दिया ओर मम्मी ने सारा माल चाटकर आमिर के लंड को साफ कर दिया। आमिर अब सोफै पर जाकर लेट गया तो मम्मी असलम के उपर से खडी होकर असलम के मुह पर अपनी चुत लगाकर असलम के लंड को मुह मे ले लिया ओर पांच मिनट के बाद मम्मी ने अपनी जाघो को पूरी ताकत से असलम के मुह को दबा दिया। 

इसे भी पढ़ें Indian Sex Stories का सबसे अच्छा संग्रह जो आपको पागल कर देंगी और खूब कामुक मज़ा देंगी।

ओर असलम के मुह मे झडने लगी असलम भी मजे लेकर मम्मी के रस को चाटने लगा दो मिनट बाद असलम ने भी अपनी जाघो की केची बनाकर मम्मी के सर को कसकर अपने लंड पर दबा जिससे मम्मी का सास घुटने लगा। मगर असलम ने अपनी पकड कम नही की असलम ने सारा माल मम्मी के मुह मे भरकर अपनी जाघो की पकड कम की तो मम्मी मुह खोलकर सास लेने लगी ओर मम्मी के मुह मे भरा माल भी असलम की छोटी छोटी झांटो पर गिरने लगा। 

मम्मी ने सास लेकर नीचे गिरा माल चाटकर साफ किया ओर फिर असलम के लंड को अच्छे से चाटकर साफ कर दिया ओर एकबार फिर मम्मी फर्श पर निढाल होकर लेट गयी। तो असलम खडा होकर बेड पर लेट गया अब रात को शुरू हुई चुदाई का आखिरी दोर आखिरकार आ ही गया। 

मम्मी चुदाई से बुरी तरह थक चुकी थी ओर उनकी हिम्मत खत्म हो चुकी थी मगर फिर भी हार नही मानने को तैयार थी। 

मम्मी ने शोकत को कहा – भाईजान आप भी आ जाओ ओर चुत मे अपना माल भरकर कुछ राहत दे दो 

तो शोकत ने कहा – अभी लो बेगम 

शोकत ने नावेद को नीचे लेटने को कहा ओर मम्मी को नावेद का लंड गांड मे लेकर नावेद के उपर लेटने को कहा तो मम्मी ने नावेद का लंड गांड मे फसा लिया ओर नावेद के पेट पर अपनी कमर की साइड कर के लेट गयी। नावेद मम्मी की गर्दन को चुमने लगा ओर दोनो हाथो से मोटी मोटी चुचियो को कसकर दबाने लगा। तभी शोकत घुटनो के बल बैठकर मम्मी की चुत पर लंड घिसने लगा। 

तभी नावेद ने झटके देने बंद कीये तो शोकत ने अपना काला लंड मम्मी की चुत मे दो झटको मे पूरा फसा दिया ओर एकबार फिर पटापट ओर फचाफच की कामुक आवाजो से कमरा गुजने लगा। मम्मी भी जोर जोर चीख रही थी अब मगर मम्मी की चीखो से उनको कोई फर्क नही पडा ओर वो दोनो ताबडतोड चुदाई करने लगे। 

मम्मी की हालात खराब होने लगी तो जोर जोर से चीखने लगी, मम्मी की चीखो पर, 

वो दोनो हंसकर मम्मी को पेलते रहे ओर गालीया देने लगे – क्यो रंडी आज पता लगा ना चुदाई कीसे कहते है… बहुत उछल रही थी… बहन की लोडी… अब बोल ओर चुदेगी हम से 

तो मम्मी ने कहा – कुतो भोकते ही रहोगे या चुदाई भी करोगे फाड दो आज इस चुत ओर गांड को तब मानूगि चुदाई को ये सुनकर नावेद…

कहानी अभी जारी है, पढ़ते रहिये मेरी माँ की अन्तर्वासना की आत्म कथा को, और मिलते है अगले भाग में।

Writer – Rohit Singh, [email protected]

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
35.7k
+1
30.9k
+1
2.7k
+1
9.9k
+1
3
+1
358

Similar Posts

11 Comments

  1. इस वेबसाइट पर बहुत ही अच्छी अच्छी कहानीया ओर सैक्स सिरीज है खासकर के ये मा की आत्मकथा तो बहुत ही मस्त है

  2. इस वेबसाइट पर बहुत ही अच्छी अच्छी कहानीया ओर सैक्स सिरीज है खासकर के ये मा की आत्मकथा तो बहुत ही मस्त है

  3. लैंड रोम रोम खरा हुआ और पानी की एक बूँद भी नहीं बची थैंक यू xantarvasna.com।

Comments are closed.