/ / दोस्त की बहन की रंडी बनने की कहानी – 2
Bhai Behan Sex Story Couple Sex Story Desi Sex Story Family Sex Story First Time Sex Story Hindi Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

दोस्त की बहन की रंडी बनने की कहानी – 2

मैंने पिछली कहानी में बताया प्रिंस अपनी बहन को चोद चुका है, और आगे उसकी सेक्सी बहन रंडी बनने की पूरी तयारी में है, जाने कैसे उसका भाई उसे रंडी बना देता है। अब आगे की Brother Sister Sex Story पढ़ते है पूरी सिद्दत से।

पिछला भाग – दोस्त की बहन की रंडी बनने की कहानी

जब मैं सुबह उठकर देखता हूं तो मेरी बहन वहां से जा चुकी होती है मैं भी अपने कमरे से बाहर आ जाता हूं और बाहर किचन की तरफ जाता हूं। मैं देखता हूं मेरी बहन वहां पर नाश्ता वगैरह बना रही होती है मेरी मम्मी को कोई काम होता है इसीलिए वह कहीं बाहर गई होती है।

बहन की गांड पर चपेड़ मारता हूं और पूछता हूं 

मैं -कैसी है रंडी रात को कैसा लगा तुझे?

सिमा – बहुत अच्छा लगा भाई

मैं-भाई नहीं मालिक बोल याद है ना कल रात से तू मेरी गुलाम बन चुकी है  तू वैसा ही करेगी जैसा मैं कहूंगा यही शर्त थी हमारी याद है।

चल जल्दी से अपने मालिक के लंड को चूस देख तुझे सलामी दे रहा है चल जल्दी कर फिर मुझे अपने दोस्तों के पास भी जाना है

मेरी बहन लंड को पकड़ा और अपने मुंह में लेकर चूसने लगी और मुझे पूरा मजा दे रही थी,वह मेरे लंड को अपने पूरे अंदर ले रही है जब मैं उसके बालों को पकड़कर अपनी  तरफ खिचता तो पूरा साथ दे रही थी मैंने अपने लंड पर थूक लगाया और उसको चुसने के लिए कहा।

उसने वैसा ही किया फिर मुझे थोड़ा सा ज्यादा जुनून चढ़ा और मैंने अपनी बहन के मुंह पर तो 3 चपेडे मारे खींच खींच उसने मेरी तरफ दिखा इससे पहले कि वह कुछ बोलती है, 

मैंने उसको खड़ा किया और दो तीन थप्पड़ और मारे और बोला – बहनचोद चुस मेरे लंड को… ऐसे क्या देख रही है… बहुत नखरे करती थी ना… अब जैसे दिल करेगा मैं तुझे इस्तेमाल करूंगा।

मेरी बहन चुपचाप नीचे बैठकर मेरे लंड को फिर से चूसने लगी जब मेरा लंड बात छुटने वाला हुआ तो मैंने उसे कहा मैं सारा का सारा माल तेरे मुंह में निकाल लूंगा। उसने चुपचाप मुझे लंड के सारे के सारे माल को पीलिया और मेरे लंड को चाट चाट कर साफ कर दिया।

शाबाश मेरी रंडी कुत्तिया और आज से तू घर में कभी भी ब्रा और पेंटी नहीं पहनेगी ताकि जब भी मेरा दिल करेगा तो मुझे सेक्स करने में आसानी होगी समझे गई मेरी कुतिया।

फिर मैं अपने दोस्तों के साथ मिलने गया अब मैं आप लोगों को अपने दोस्तों के बारे में बताता हूं मेरे दो सबसे अच्छे दोस्त हैं रोहित और शिवा।

हम तीनों हमेशा साथ रहते हैं हम कोई भी काम करना हो हम सब काम साथ  में करते हैं मुझे सेक्सी कहानियों के बारे में रोहित ने ही बताया था मुझे मालूम था। वो भी मेरी बहन को चोदना चाहते है जब भी वह मेरे घर पर आते थे तो हमेशा मेरी बहन की तरफ ही देखते रेहते थे जब भी मेरी बहना उन लोगों को चाय बगैरा पकडाने लगती तो वह मेरी बहन के बूब्स को देखते रहते।

मैं कभी कुछ नहीं कहता था मैं उनका क्या करूं मैं तो खुद अपनी बहन को चोदना चाहता था।

मैं रोहित के घर पर जाता हूं उससे इधर उधर की बातें करने लग जाता हूं, बातों ही बातों में रोहित मुझे कहता है

रोहित-भाई मेरे पैसे तो दे दे यार कितना टाइम हो गया मुझे 10000 कब देगा यार मुझे भी पैसों की जरूरत होती है

मैं-दे दूंगा भाई यार तुझे मालूम है जब से मेरे पिताजी की डेथ हुई है हमारे घर में पैसों की कमी चल रही है और मैं कौन सा तेरे पैसे लेकर भाग रहा हूं।

रोहित- समझ यार भाई प्लीज बात को मैं कौन सा तुझे जान भुझ कर तंग कर रहा हूं मुझे भी पैसों की जरूरत है 

मैं -ओके यार दे दूंगा भाई

वहां से मैं अपने घर पर आ जाता हूं मेरा मूड खराब होता है क्योंकि जब भी मैं उसे मिलता हुं  वो हमेशा पैसे के लिए रोता रहता है अचानक मेरे दिमाग में प्लेन आता है।

मुझे मालूम है कि रोहित मेरी बहन को चोदना चाहता है और मैं सोचता हूं इसी बहाने मैं रोहित से अपने पैसे माफ करवा सकता हूं

मैं अपनी बहन को कहता हूं जल्दी से सलवार कमीज को उतार कर एक वहुत सेक्सी शाट और टाप  पहन ले पर ध्यान रखना तू निचे में ब्रा और पेंटी मत पहनना।

मेरी बहन चुपचाप ऐसा ही करती हो एक वाइट कलर का टॉप नीचे उसने ब्लैक कलर का शार्ट पहना होता है, ब्लैक शार्ट वाइट कलर के टॉप में बहुत ही सेक्सी लग रही होती है, कोई भी उसको देखकर बस पकड़कर चोदना चाहेगा।

मैं रोहित को अपने घर पर भी आने के लिए कहता हूं मैं कहता हूं कि घर पर मम्मी नहीं है चल गई पर आकर गेम खेलते हैं।

रोहित को तो मेरे घर पर आने का बहाना ही चाहिए होता है वह 5 मिनट में मेरे घर पर आ जाता है जब वह मुझे आवाज लगाता है मैं अपनी बहन सीमा को बोलता हूं जाकर गेट खोल।

जव सिमा गेट खोलती है तो रोहित सीमा को देखकर भी हैरान रह जाता है उसके ऐसे जलवे पहली बार देख रहा होता है।

रोहित को अपने कमरे में बुलाता हूं दोनों गेम खेलने लग जाती है रोहित का ध्यान ज्ञान से ज्यादा मेरी बहन की तरफ होता है वह बार-बार अपने लंड को एडजस्ट कर रहा हूं।

मैं-रोहित गेम खेलना यार क्या कर रहा  है क्या बार बार वहां पर देख रहा है आज तेरा गेम में बिल्कुल भी ध्यान नहीं है।

रोहित-कुछ नहीं यार बस ऐसे ही अच्छा एक बात बता सीमा क्या बना हुई है वह तो कभी भी ऐसा नहीं करती घर पर

मैं-कुछ नहीं यार मम्मी कुछ दिनों के लिए बाहर गई हुई है  तो दीदी ने कहा कि मैं आज अपनी मनमर्जी के कपड़े पहन लु मम्मी जब जहां पर होते हैं वह ऐसे कपड़े नहीं पहनने देती

मैं सीमा दीदी को चाय वगैरह लाने के लिए कहता हूं जब सीमा में भी चाय बगैरा देने की चाय बिस्कुट देने के लिए नीचे झुकती है तो वह रोहित उनके बुबस को अच्छे से दिखता है उसकी रोहित की आंखें फटी की फटी रह जाती है।

यह देखकर सिमा स्माइल करती है और वहां से चली जाती है जब सीमा दीदी जा रही होती है तो फिर अपनी गांड को मटका मटका का चल रही है इसे देखकर रोहित का लंड् पूरा टाइट हो जाता है उसससे रहा नहीं जाता बाथरुम में चला जाता है और वहां पर जाकर मेरी बहन के नाम मुठ मारने लग जाता है

जब रोहित वापस आता है तो मैं उससे पूछता हूं 

मैं-क्या हुआ रहा नहीं गया क्या

रोहित-क्या मतलब

मैं-ज्यादा बोल मत मैंने तुझे देखा है मेरी बहन की तरफ आँखे फाड फाड  कर देखते हुए

रोहित-आज पहली बार सीमा से देखा है तो थोड़ा सा अजीब लग रहा है

मैं-अच्छा अजीब लग रहा है या अच्छा लग रहा है सच सच बता

रोहित-सच बताऊं तो यार बहुत अच्छा लग रहा है

मैं -और करीब से देखना चाहेगा क्या छूकर देखेगा

रोहित-वो मान जाएगी, तेरे दिमाग में चल क्या रहा है तो साफ-साफ मुझे बताओ

मैं वो सब तुम मुझ पर छोड़ दें तू यह बता तू करना चाहता है क्या अगर करना चाहते हैं तो मेरी एक शर्त है मेरी शर्त माननी होगी

रोहित मुझे तेरी सभी शर्तें मंजूर है बताओ मुझे क्या करना होगा??

मैं- मैंने जो तुझे पैसे देने हैं वह तुझे मुझे को माफ करने होंगे

रोहित -मुझे मंजूर है पर फिर केवल मैं उसको देखकर नहीं छोडूंगा फिर मैं उनको तेरे सामने चोदुनगा तुझे मंजूर है तो बता।

मै -ओके मंजूर,शाम को एक दारू की बोतल और कुछ खाना लेकर मेरे घर पर आ जाना आज रात तू यही रुकेगा

रोहीत ओके  बोल कर चला जाता है और शाम को अपने अपने साथ शिवा को और  दारू की बोतल और पिज्जा लेकर आता है और साथ में दो बीयर की बोतल भी लेकर आता है

तब तक मैं अपनी बहन को सारी बात समझा देता हूं मैं उसको कहता हूं कि अगर तू रोहित के साथ अपनी अन्तर्वासना से सेक्स करने के लिए तैयार हो जाए तो हम दोनों मिलकर लूट लूट सकते हैं वो तेरे लिए पागल है उसके पास बहुत पैसा है!

मेरी बहन यह सुनकर बहुत ही खुश हो जाती है क्योंकि पिताजी की डेथ के कारण उसको भी पैसों की कमी ही रहती थी वह अपने सभी सुख पूरे कर पाएगी।

सीमा-स्माइल करते हुए कहती है तो अब क्या तुम अपनी बहन को सच मे रंडी बनाकर छोड़ोगे मुझे तो लगता है कि तब तुम  धीरे-धीरे मुझे एक कोठे की रंडी बना दोगे और धीरे-धीरे इस शहर के सभी आदमिओं से मुझे चुदवा  कर खूब सारा पैसा कमाओगे।

मैं-अगर मेने ऐसा किया भी तो वह पैसा केवल मैं अकेला नहीं रखूंगा तुझे भी तो पूरी ऐश करवाउगा।

अपनी कहानी में मैं आपको बताऊंगा कैसे धीरे धीरे मेरी बहन एक पेशेवर रंडी वन गई और मैंने और और उसने उसकी चुत से बहुत पैसा कमाया।

आप मुझे अपनी मेरी XXX Kahani का रिस्पांस [email protected] पर भेज सकते हो!!! Writer – Rohit Kumar.

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
7.7k
+1
6.6k
+1
4.6k
+1
3.4k
+1
24
+1
857

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *