/ / माँ और बेटी की चुदाई
Couple Sex Story Desi Sex Story Family Sex Story First Time Sex Story Girlfriend Sex Story Group Sex Story Hindi Sex Story Maa Beta Sex Story Porn Story Romantic Sex Story XXX Story

माँ और बेटी की चुदाई

ये कहानी मेरी और मेरी मां की चुदाई की है कैसे हम दोनों एक लड़के के लिए पागल हो गई। हेलो दोस्तों मेरा नाम सुमन है मैं मुंबई से बिलॉन्ग करती हूं मेरी उम्र 20 साल है और मैं दिखने में बहुत ही सुंदर हूं, मेरा रंग एकदम गोरा है मेरा साईज 32-30-32 है जिसे देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाता है। 

चलिए अब पढ़ते है माँ बेटी की चुदाई कहानी को। मेरी मां का नाम कुसुम है उनकी उम्र 45 साल है और वह भी दिखने में बहुत सुंदर है उनका साइज 34-30-34 है उन्होंने अपने आप को बहुत ही मेंटेन किया हुआ है, जिससे वह मेरी बड़ी बहन लगती है।

एक दिन जब मैं कॉलेज से घर लोटती हूं तो हमारे घर का गेट खुला हुआ होता है जब मैं अंदर जाती हूं, अपनी मां को अबाजे भी करती हूं पर अंदर से कोई नहीं आता। धीरे-धीरे मैं घर के अंदर जाती रहती हूं बिल्कुल अंदर वाले कमरे में।

मेरी मां आकाश का लंड चूस रही होती है जिसे देख कर मुझे बहुत ही हैरानी  होती है मैं वहीं रुक कर उन दोनों की चुदाई देखने लग जाती हूं।

अकाश बेड पर लेटा हुआ होता है और मेरी मां उसके ऊपर चढ़कर उसका लंड चूस रही होती अकाश गांड उठा उठा कर अपना लंड चुसवा रहा होता है वह दोनों बिल्कुल नंगे होते हैं मेरी मां को उसके लंड को एकदम लॉलीपॉप की तरह चुस रही होती है वह सेक्स में इतनी पागल हो चुकी होती है कि उसे यह भी नहीं मालूम कि उसकी बेटी घर आ चुकी है।

अकाश अपनी गांड उठा उठा कर मेरी मां के मुंह को चोद रहा होता है वह अपने लंड को मेरी मां के बिल्कुल मुंह के अंदर डाल देता है लंड और टटो को चुसवा रहा होता है।

फिर वह मेरी मां को बेड पर लिटाता है और उसके ऊपर चढ़कर उसकी चूत चोदना शुरू कर देता है। वह अपने लंड को मेरी मां की चूत में डाल कर आगे पीछे करना शुरू कर देता है। उसके लंड में बहुत दम होता है उसका लैंड का साइज 8 इंच होता है,जिसे देख कर मुझे बहुत मजा आता है। 

वह मेरी मां की दोनों टांगों को उठाकर अपने कांधे पर रखता है अपना लंड पूरा का पूरा उसकी चूत में डाल देता है और अपने आपको थोड़ा सा आगे भी कर देता है जिससे मेरी मां की गांड ज्यादा ऊपर उठ जाती है और उसका लंड सारा का सारा उसकी चूत में समा जाता है।

वो ऊपर लेट कर उसकी चूत को चोदना शुरू कर देता है या सेक्स को देखकर मैं भी अपनी चूत में हाथ डालकर उसको मसलना शुरु कर देती हूं मुझे बहुत ही मजा आ रहा होता है।

वह मेरी मां एक तरफ करके उसके पीछे लेट जाता है और उसकी एक टांग को ऊपर उठा देता है और अपना पूरा लंड उसकी चूत में डाल देता है और आगे पीछे होना शुरू कर देता है,और एक हाथ से उसके बूब्स चल रहा होता है। उसको किस कर रहा होता है वह दोनों सेक्स में बहुत ज्यादा मजा ले रहे होते हैं फिर वह चूत से बड़ा लंड निकाल कर मेरी मां की गांड में डाल देता है।

माँ – आ आ आ अम्म अम्म उह्ह येह। 

आकाश – हां हां आह

मेरी मां को एकदम से थोड़ा सा धका लगता है और पूरा का पूरा लंड उसकी गांड में समा जाता है वह लगातार आगे पीछे होकर उसकी गांड मार रहा होता है और वहां में उसको देखकर अपनी चूत में उंगली कर रही स

होती हूं।

माँ – येअहह आ आ आ आह… फ़क मी बेबी… अम्म अम्म यह…

जब अकाश का माल झड़ने वाला होता है – ओह्ह ओह्ह आह में निकल रहा ही आहहह…

तो मां उसके लंड को चूस चूस कर उसका सारा का सारा माल निकाल देती है और खुद पी जाती है उसके माल की कुछ बूंदे मेरी मां की मुमो पर गिरती है और बाकी सारा माल वह पी जाती है।

मैं जल्दी से जाकर दूसरे कमरे में छुप जाती हूं जब अकाश अपने घर पर चला जाता है तो मैं उसका पीछा करते हुए उसके घर पर चली जाती हूं।

आकाश हमारे कॉलोनी के एक घर में रहता है उसके घर पर कोई और नही रहता वह कहीं बाहर से आए और यहां मुंबई में जॉब करता है। वो दिखने में बहुत ही सुंदर है उसकी हाइट 5 फुट 8 इंच है और वह रोज डेली जिम करता है।

आकाश के घर के अंदर के लिए अकाश को कहती हूं।

मैं – आकाश मैंने तुम्हें और मेरी मम्मी को सेक्स करते हुए देख लिया है अगर तुम चाहते हो कि मैं अपने पापा को यह सब ना वता दु, तो तुमे मुझे भी मेरी मेरी मां की तरह चोद होगा जब से मैंने तुम्हारा लंड दिखा है, मेरे तन बदन में आग लग चुकी है।

आकाश – मुझे मंजूर है पर यह सब तुम्हें अपनी मम्मी को नहीं बताना होगा अगर उनको पता चल गया तो मैं फिर कभी उनको मिल नहीं पाऊंगा।

इतना सुनते ही मैं आकाश को लिप किस करना शुरू कर देती हूं, आकाश मेरा पूरा साथ दे रहा होता है। वह एक हाथ से मेरे बूब्स मसल रहा होता है  मुझे किस कर रहा होता है और दूसरे हाथ से मेरी गांड सहलाना शुरु कर देता है।

किस करते करते हम एक दूसरे के कपड़े उतारना शुरू कर देते हैं सबसे पहले आकाश मेरे टॉप को उतारता है और मैं उसकी टी-शर्ट को उतार देती हूं। फिर वह मेरी ब्लू कलर की ब्रा के ऊपर से मेरे बूब्स को चुसता है। मेरे बूब्स पर काटना शुरू कर देता है। 

वह धीरे से अपने हाथों को पीछे ले जाकर मेरी ब्रा की हुक को खोल देता है और बाद में वह पागलों की तरह मेरे बूब्स को काटना शुरू कर देता है,वह मेरे पूरे बूब्स को अपने पूरे मुंह के अंदर लेकर चुसता है ऐसा सुख मुझे कभी नहीं मिला था वह एक हाथ से मेरे बूब्स में मसल रहा होता है और एक बूब्स को मुंह के पूरे अंदर ले जाकर चूसना शुरू कर देता है।

मैं नीचे बैठकर आकाश के पेंट को खोल देती हूं और अंडरवियर के ऊपर से उसके लंड को चाटना शुरु कर देती हूं। मुझे किस करते करते हैं अपने बेडरूम में ले जाता है और बेड के ऊपर लेट जाता है फिर मैं उसके ऊपर चढ़कर उसके लंड को अपने मुंह में भर लेती हूं, और लॉलीपॉप की तरह उसको चूसना शुरु कर देते हुं। 

आकाश – हां हां आह आ आ… तुम बहुत अच्छा चुस्ती हो…

मेँ – आ आ बाबू मज़ा आ रहा हेना?? आह आह

आकाश – हां हां आह आ आ…

मैं उसके लंड को आज खा जाना चाहती थी, मैं लंड से नीचे होते हुए उसके टटे को भी चाटना शुरू कर देती हूं। उसके लंड और टटों पर एक भी बाल नहीं था जिसके कारण मुझे उनको चाटने में और भी ज्यादा मजा आ रहा था। मेने कभी लंड नहीं चूसा था, Antarvasna Sex Stories और पोर्न में ही ऐसे करते देखती थी। सचमे बहुत मज़ा रहा था कामुकता का आनंद मिल रहा था। मैं धीरे-धीरे नीचे जाकर उसकी गांड के छेद को भी चाटती हूं जिससे उसको और भी ज्यादा आ जाता है, फिर ऐसे ही धीरे-धीरे में उसके लंड को चाट चाट कर और चूस चूस कर उसका सारा का सारा माल पी जाती हूं।

जब उसका सारा माल का निकल जाता है तो वह मुझे लिटाता  है और धीरे-धीरे मेरी लोअर को उतारना शुरू कर देता है। बहुत धीरे से मेरी पेंटी को भी उतारता है और मेरी पेंटी को अपनी नाक से लगाकर उसको सुघना शुरू कर देता है और फिर वह धीरे से नीचे झुककर मेरी चूत पर अपना मुंह रख देता है। 

वह उसको चाटना शुरू कर देता है, बो दातों से मेरी चुत को खाने की कोशिश करता है, जिससे उसके दांत फाड़ कर के मेरी चूत पर लगते हैं। जिससे मुझे और ज्यादा मजा आता है फिर वह अपनी जीभ को मेरी चूत के बिल्कुल अंदर तक ले जाता है।

मेँ – आ आ बाबू मज़ा आ रहा हे… ओह येअह उह उह्ह्ह… 

दोनों हाथों से मेरी चूत को खोलता है और अपनी जीभ मेरी चूत के अंदर ले जाता है, 

मेँ – आाााहहह… ऊहहहह… आााा… आााााहहहहहहआाााा….  

पूरा कमरा गूंज रहा होता है मैं उसकी चूत चाटने की स्टाइल को देख कर बहुत ज्यादा इंप्रेस हो जाती हुं।

वह मेरे ऊपर लेट कर मुझ को किस करना शुरू कर देता है और एक हाथ से मेरी चूत को सहलाना शुरू कर देता है वह धीरे-धीरे एक उंगल मेरी चूत के अंदर डालता है। फिर वह धीरे से एक और उंगल मेरी चूत में डालते हैं ऐसे ही मुझे बहुत मजा आ रहा होता है। 

वह मेरे ऊपर थोड़ा लेट जाता है और मैं उसके लंड को पकड़ कर अपनी चूत पर रख देती हूं और वो थोड़ा सा धका लगाता है। जिससे उसका आधा लंड मेरी चूत में चला जाता है पर मैं उसके लंड को पूरा लेना चाहती थी, इसलिए मैं अपनी गांड को थोड़ा उपर उठाती हूं जिससे उसका पूरा का पूरा लंड मेरी चूत में समा जाता है।

ऐसे ही मैं और वह गांड को आगे पीछे कर कर की चुदाई कर रहे होते हैं वह अपने आपको थोड़ा सा आगे करता रहता है और मैं अपनी गांड को ऊपर उठाती रहती हूं। वह बेड से एक तकिया पकड़ता है और मेरी गांड के नीचे लगा देता है जिससे मेरी गांड ऊपर उठ जाती है फिर वह मेरी चूत की ताबड़तोड़ चुदाई शुरू कर देता है।

फिर मैं अपनी दोनों टांगों को अपने दोनों हाथों से पकड़ लेती हूं और हवा में लहरा लेती हूं फिर वह मेरे ऊपर चढ़कर मेरी चूत को चोदना शुरू करता है। उसका लंड मेरी चूत के बिल्कुल अंदर तक जा रहा होता है और मुझे बहुत मजा आ रहा होता है।

मेँ – आ आ आ अम्म अम्म उह्ह

मेरी चूत – फुच फच पुच पच पच पच

फिर वह मुझे घोड़ी की पोजीशन में आने के लिए कहता है और मैं घोड़ी बन जाती हूं वह मेरे एक हाथ से मेरे बालों को पकड़ता है और उनको अपनी तरफ खींचता है। और एक हाथ से मेरी गांड पर थप्पड़ मारना शुरू कर देता है जिससे मुझे बहुत ज्यादा मजा आता है।

मेँ – आ आ बाबू हां हां हां हां हां बाबू फ़क मी हार्ड फ़क फ़क फ़क अम्म आह

वह अपने लंड को मेरी गांड के छेद पर रखता है और सीधा पूरा का पूरा लंड मेरी गांड में डालने की कोशिश करता है। मेरी गांड टाइट होने के कारण उसका पूरा लंड मेरी गांड में नहीं जा पाता, उसका केवल आधा लंड मेरी गांड में जाता है। जिससे मेरी चीख निकल जाती है, 

मेँ – आह अहह ओह्ह प्लीज मेरी गांड मत फारो वो वर्जिन गांड है!!!

लेकिन, वह तेल उठा कर लाता है और मेरी गांड पर बहुत सारा तेल लगाता है, और अपने लंड पर भी तेल लगाता है। फिर से वह मेरी गांड में अपना लंड डालता है और पूरा का पूरा अंदर डालने की कोशिश करता है। इस बार उसका लंड आधे से ज्यादा मेरी गांड में चला जाता है। फिर वह आगे पीछे थोड़ा सा होकर पूरा का पूरा गांड में डाल देता है। ऐसे ही मुझे घोड़े की पोजीशन में कम से कम 10 मिनट चोदता है, उसका लंड मेरी प्यारी गांड में अंदर बाहर हो रहा था और मेरे गांड का छेंद बड़ा कर रहा था। 

फिर वह मेरी चूत को चोदना शुरू कर देता है मैंने जिंदगी में पहली बार चुदाई ऐसी करवाई थी। जव माल झड़ने वाला होता है तो मैं उसको लंड को चूसने शुरू कर देती हूं जब उसका माल निकलने लगता है तो वह मेरे मुंह को अपनी तरफ खींचता है जिससे उसका सारा माल मेरी गर्दन से होते हुए मेरे अंदर चला जाता है।

पढ़े – माँ और बेटी की चुदाई – 2

कहानी सुमन ([email protected]) द्वारा भेजी गई और रोहित कुमार द्वारा लिखित। कहानी कैसी लगी कमेंट करके प्लीज जरूर बताना यह आप ([email protected]) रिप्लाई कर सकते हो।

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
9.8k
+1
7.9k
+1
880
+1
4.8k
+1
17
+1
107

Similar Posts

6 Comments

  1. मेरी चूत – फुच फच पुच पच पच पच सचमे छूट को बोलते हुए पहली बार सुना है। 😆😆😆

    1. कमाल की कहानी माँ और बेटी की चुदाई कहानी दूसरा पार्ट भी लाओ।

  2. Wah! माँ बेटी की अन्तर्वासना नहीं पढ़ी सचमे कहानी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *