/ / पापा ने कली से फूल बना दिया!
Baap Beti Sex Story Desi Sex Story Family Sex Story First Time Sex Story Hindi Sex Story Porn Story XXX Story

पापा ने कली से फूल बना दिया!

जब जब मम्मी काम से बाहर जाती थी तब तब पाप मेरी लेते थे। मुझे पापा ने कली से फूल बना दिया था चोद चोद कर। और बाद में कहीं ना कहीं मुझे पापा के लोड़े से मजा आने लगा।

मुझे अपने पापा के मजबूत लंड की आदत हो गई थी और उनसे मरवाने में मुझे बहुत मजा आता था। मेरा नाम हिमांशी है और यह मेरी Baap Beti Sex Story है।

मुझे मेरे पापा बहुत ही ज्यादा पसंद है और मैं उनकी तरफ काफी आकर्षित भी थी। एक अजीब सा आकर्षण था मेरे अंदर मेरे हैंडसम पापा को लेकर।

पापा भी मुझे बहुत ज्यादा प्यार करते थे और मेरी हर बात मानते थे। परंतु एक रात यह प्यार कब कामवासना की चाहत में बदल गया, पता ही नहीं चला।

मेरे पापा भी जॉब करते थे और मेरी मम्मी भी जॉब करती थी। तो मम्मी को प्रमोशन मिल गया और वह 1 महीने के लिए अमेरिका चली गई। पापा मम्मी से बहुत ज्यादा प्यार करते थे और मैं उनके बिना रह नहीं पा रहे थे।

लेकिन मुझे क्या पता था यह प्यार है लेकिन कामवासना की चाहत भी है। मम्मी के जाने के बाद से पापा बहुत ही ज्यादा बेचैन रहने लगे क्योंकि उनको मम्मी का प्यार नहीं मिल रहा था।

एक रात को अचानक मेरे कमरे में आ गए और मेरे पास आकर बैठ गए। वह बहुत ही ज्यादा परेशान थे और मुझे देखते ही जा रहे थे।

मैंने पूछा – क्या हुआ पापा बहुत परेशान लग रहे हो?!!

पापा – क्या बताऊं बेटा तुम्हारी मम्मी के जाने के बाद से अकेला हो गया हूं, पता नहीं वह कब लौटेगी?!!

मैंने बोला – सिर्फ 1 महीने की तो बात है वह जल्दी आ जाएंगे।

पापा – लेकिन मैं उसके बिना रह नहीं सकता हूं, और तुम्हें पता है हमारी भी जरूरतें होती हैं!!

मैंने पूछा – क्या की जरूरत है पापा?!

पापा ने बोला – अब तुम बड़ी हो गई हो, तुम कॉलेज जाने लगी हो, तो हस्बैंड वाइफ के बीच में प्यार के साथ-साथ सेक्सुअल लाइफ भी होती है।

इसके आगे पापा ने कहा तुम बिल्कुल अपनी मां जैसी लगती हो उसकी तरह ही तुम बहुत ही ज्यादा सुंदर हो।

और पापा धीरे-धीरे मेरे करीब आने लगे वह मेरे बालों को मेरे कान के पीछे करने लगे। अचानक से सारा माहौल बदल गया और मेरी दिल की धड़कने बहुत ज्यादा बढ़ गई।

मैं पापा की आंखों में देख रही थी पापा मेरी आंखों में देख रहे थे और उन्होंने मेरे होठों पर एक छोटा सा चुम्मा दे दिया।

इस चुम्मे के बाद वे रुके नहीं और उन्होंने मुझे होठों पर किस करना चालू कर दिया!!!

मैंने अपने दोनों आंखें बंद कर रखी थी और मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था और पापा बस यही बोले जा रहे थे – तुम बिल्कुल अपनी मां जैसी हो, मुझे बहुत पसंद हो।।

पहले तो मुझे यह बहुत सा अजीब लगा लेकिन पापा ने जब यह बोला तो मुझे एक अजीब सी खुशी हुई।

मैंने बोला – क्या सच में मैं मम्मी की तरह सुंदर हूं पापा??!

पापा – हां बेटा तुम बहुत सुंदर हो और बड़ी होकर तुम उससे भी ज्यादा सुंदर होगी तुम मुझे बहुत अच्छी लगती हो!!!

यह सुनकर मैं पापा के गले लग गई और पापा मुझे मेरी गर्दन पर चूमने लगे। उनकी अंदर की आग बढ़ती जा रही थी। और वह मुझे सुनते ही जा रहे थे, वह मेरे गोरे गोरे बदन को खूब चुम रहे थे और चाट रहे थे।।

फिर उन्होंने धीरे-धीरे मेरे सारे कपड़े उतार दिए और मुझे पूरा नंगा कर दिया

मेरे नंगे बदन को देखते हुए पापा बोले ओ बेटा तुम कितनी ज्यादा सुंदर हो तुम्हारा बदन कितना कमल जैसा हसीन है।

और पापा मुझे कली से फूल बनाने की तैयारी में लग गए। मैं कुछ भी नहीं बोल रही थी और बस चुपचाप अपनी आंखें बंद कर लेटी हुई थी।

पापा मेरे पूरे बदन पर अपने हाथ मार रहे थे और मेरी चूत में उंगलियां रगड़ रहे थे। मुझे एक अजीब सा एहसास हो रहा था और थोड़ा थोड़ा मजा भी आ रहा था।

फिर उन्होंने अपना मोटा लंबा लंड निकाला और मेरी चूत में घुसाना चालू कर दिया। देखते-देखते उन्होंने अपना पूरा लंड मेरी चूत में अपने अखरोटो तक घुसा दिया।

मैं – आ… आ… आ… अहह… पापा…. दर्द हो रहा है!!!

पापा – यह तो मीठा दर्द है अभी तुम्हें मजा भी आएगा बस थोड़ा सा रुक जाओ बेटा!!

और जब मुझे पापा ने चोदना चालू कर दिया तब मैं कामवासना की लहर में बह गई। मुझे ऐसा एहसास कभी नहीं हुआ था मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा था पापा की चुदाई से।

मैं अपनी उंगलियों से जब मास्टरबेशन करती थी तो इतना मजा नहीं आता था। जब मैं Hindi Sex Story पढ़ती थी, तो भी इतना मजा नहीं आ सकता।

लेकिन उस रात जब पापा मुझे चोद रहे थे तुम मुझे अति आनंद मिल रहा था और चरम सुख की प्राप्ति हो रही थी बार-बार।

पापा मुझे बहुत ही प्यार से सोने जा रहे थे और हम दोनों को कामुक Antarvasna का मजा मिल रहा था। पापा और मेरा रोमांस चलता ही जा रहा था और हम दोनों पसीना पसीना हो गए थे वासना की आग में।

हम दोनों को चरण सुख की प्राप्ति होने वाली थी और पापा का वीर्य निकलने वाला था। जैसे ही पापा का झड़ने वाला था उन्होंने अपना लौड़ा बाहर निकालकर सारी मलाई मेरे पेट पर झाड़ दी।

पापा कि वह मोटी मोटी गाड़ी गाड़ी सफेद मलाई मेरे पेट पर गरम गरम महसूस हो रही थी। सच में मुझे बहुत ही ज्यादा मजा आया और पापा से चुदाई करवा कर दो चरम सुख की प्राप्ति कई बार हुई।

इसके बाद से मैंने पापा को मम्मी की कमी कभी नहीं महसूस होने दी। जब जब मम्मी बाहर जाती थी या पापा का मन उदास होता था तो मैं पापा को संतुष्टि देती थी शारीरिक भी और मानसिक भी।

मुझे मेरे पापा बहुत ही ज्यादा पसंद है, I Love U पापा!!!

आपको कहानी कैसी लगी?
+1
82
+1
21
+1
9
+1
19
+1
16
+1
42

Similar Posts